top menutop menutop menu

PM मोदी ने भाजपा कार्यकर्ताओं को दिए सात मंत्र, कहा- हमने सत्ता को अपने लाभ का माध्यम नहीं बनाया

नई दिल्‍ली, जेएनएन/एजेंसियां। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को 'सेवा ही संगठन' कार्यक्रम के तहत भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा किए गए कार्यों की जानकारी ली और उन्‍हें संगठन में काम करने के सात मंत्र बताए। पीएम मोदी ने भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना संकट में हमारा सेवा का यह महायज्ञ रुकना नहीं जाहिए। महामारी के खिलाफ हमारी लड़ाई रुकनी नहीं चाहिए। कोरोना संकट में हमें खुद भी सावधानी रखनी है और दूसरों को भी जागरूक करते रहना है। प्रधानमंत्री ने कहा कि हम लोगों ने राजनीति में सत्ता को सेवा का माध्यम माना है। हमने कभी भी सत्ता को अपने लाभ का माध्यम नहीं बनाया। दूसरों की सेवा ही हमारा संतोष है... 

Seven 'S' के मंत्र के साथ आगे बढ़ें 

पीएम मोदी ने कहा कि भाजपा के प्रत्येक कार्यकर्ता को अपने साथ- Seven 'S' की शक्ति लेकर आगे बढ़ना चाहिए।  1- सेवाभाव, 2- संतुलन, 3- संयम, 4- समन्वय, 5- सकारात्मकता, 6- सद्भावना, 7- संवाद..। उन्‍होंने कहा कि इन दिनों इस कोरोना की लड़ाई में भरपूर रूप से इसका प्रभाव दिखाई दिया है। हमारे समाज में दूसरों के लिए कुछ करने की, सेवा भाव की बहुत बड़ी ताकत है। हमें समाज की इस ताकत को पूजने का कोई अवसर छोड़ना नहीं चाहिए। आपको संतोष होना चाहिए कि समाज ने हम सबको इस काम के लिए चुना है। सेवा करने के लिए ईश्वर ने हमें राह दिखाई है।  

हमारा संगठन केवल चुनाव जीतने की मशीन नहीं 

पीएम मोदी ने कहा कि जिस पार्टी के इतने सांसद हों, हजारों विधायक हों, फिर भी वह पार्टी और उसका कार्यकर्ता सेवा को प्राथमिकता दे, सेवा को ही अपना जीवन मंत्र माने, भाजपा के कार्यकर्ता के नाते मुझे बहुत गर्व होता है कि हम सब ऐसे संगठन के सदस्य हैं। हमारे लिए हमारा संगठन चुनाव जीतने की सिर्फ मशीन नहीं है, हमारे लिए हमारा संगठन का मतलब है 'सेवा'... हमारे लिए हमारे संगठन का मतलब है- 'सबका साथ'... हमारे लिए हमारे संगठन का मतलब है- 'सबका सुख, सबकी समृद्धि'... हमारा संगठन समाज हित के लिए काम करने वाला है। 

दूसरों की सेवा का सुख ही हमारा संतोष 

पीएम मोदी ने कहा कि एक आफत आई तो आपने उसको अवसर में बदल दिया। अवसर ये कि आप ज्यादा से ज्यादा लोगों की सेवा कर सकें, ज्यादा से ज्यादा लोगों की तकलीफ कम कर सकें, उन्हें इस मुसीबत से उबार सकें। जिसकी हम सेवा करते हैं, उसका सुख ही हमारा संतोष है। इसी भावना से गरीबों के प्रति, इसी समभाव और ममभाव से हमारे कार्यकर्ताओं ने इतने कठिन समय में सेवा ही संगठन का इतना बड़ा अभियान चलाया है। दुनिया की नजरों में आप कोरोना काल में काम कर रहे थे लेकिन मैं अपनी बात करूं तो आप खुद को कसौटी पर कस रहे थे। आप अपने आदर्शों के बीच खुद को तपा रहे थे। 

सत्ता को अपने लाभ का माध्यम नहीं बनाया

प्रधानमंत्री ने कहा कि जनसंघ और भाजपा के जन्म का मूलतः उद्देश्य ही यही था कि हमारा देश सुखी कैसे बने, समृद्ध कैसे बने। इसी मूल प्रेरणा के साथ, भारतीयता की प्रेरणा के साथ, सेवा की भावना के साथ हम राजनीति में आए। हम लोगों ने राजनीति में सत्ता को सेवा का माध्यम माना। हमने कभी भी सत्ता को अपने लाभ का माध्यम नहीं बनाया। निःस्वार्थ सेवा ही हमारा संकल्प रहा है और यही हमारे संस्कार रहे हैं। 

सबसे बड़ा सेवा यज्ञ 

पीएम मोदी ने आगे कहा कि भाजपा के सेवा कार्यक्रमों की इतनी बड़ी व्यापकता, इतनी बड़ी विविधता, इतने बड़े स्केल पर, इतने लंबे समय तक सेवा, मुझे लगता है कि यह मानव इतिहास का सबसे बड़ा सेवा यज्ञ है। भाजपा कार्यकर्ताओं ने कोरोना के संकट काल में सेवा कार्य करने में कोई कमी नहीं रखी। आप सभी ने अपनी चिंता छोड़कर खुद को जरूरतमंदों की सेवा में समर्पित कर दिया। यह सेवा कार्य का बहुत बड़ा उदाहरण है। कई शहरों में इस सेवा कार्य के दौरान कई कार्यकर्ताओं की मृत्‍यु हो गई उन सभी को अपनी विनम्र श्रद्धांजलि देता हूं। उनके परिवारों के प्रति मेरी संवेदना है। 

पीएम मोदी बोले- आगे भी जारी रखें यही सेवाभाव 

प्रधानमंत्री ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने इस मुश्किल वक्‍त में लोगों की मदद करने में कोई कमी नहीं रखी। मुझे पार्टी कार्यकर्ताओं पर पूरा भरोसा है कि वे आने वाले दिनों में भी ऐसे ही जी जान से लगे रहकर लोगों की मदद का काम करते रहेंगे। लॉकडाउन के दौरान बिहार में भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा किए गए राहत कार्यों को देखने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि यूपी और बिहार जैसे राज्यों में चुनौतियां बहुत हैं। आप लोगों ने बीड़ा उठाया है कि हमारे जो श्रमिक भाई बहन वापस आए हैं उनकी मदद करने में कोई कमी नहीं रखेंगे।

राष्ट्र सेवा पहला धर्म 

संबोधन से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने पार्टी कार्यकर्ताओं की तारीफ करते हुए कहा कि राष्ट्र की सेवा करना ही कार्यकर्ताओं का सबसे पहला धर्म है। इस मुश्किल वक्‍त में पार्टी कार्यकर्ता सराहनीय पहल करते हुए जरूरतमंदों की मदद कर रहे हैं। भाजपा कार्यकर्ताओं के लिए देश की सेवा सर्वोपरि है। कार्यक्रम को सबसे पहले भाजपा अध्‍यक्ष जेपी नड्डा ने संबोधित किया। उन्‍होंने पार्टी के कार्यों का उल्‍लेख करते हुए कहा कि लॉकडाउन के दौरान 4000 वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की गईं। इन कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से ढाई लाख कार्यकर्ताओं तक पहुंचने का काम किया गया। 

सत्ता में हों... ना हों लेकिन जारी रहे सेवा का यह जज्‍बा 

राजस्‍थान में पार्टी कार्यकर्ताओं के किए गए कार्यों से अवगत होने के बाद पीएम मोदी ने अपने संबोधन में उनके प्रयासों की तारीफ की। प्रधानमंत्री ने कहा कि राजस्‍थान के कार्यकर्ताओं ने लोगों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर जरूरतमंदों को काफी मदद पहुंचाई है। राजस्थान भाजपा ने दिखाया है कि कैसे हम लोगों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हो सकते हैं, भले ही हम सत्ता में हों या सत्ता से बाहर... यह वाकई बहुत प्रेरणादायी है।

प्रवासी श्रमिकों की मदद की : नड्डा 

भाजपा अध्‍यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि प्रवासी श्रमिक अपना स्थान छोड़कर ना जाएं हम लोगों ने इसकी चिंता की और उन सभी के लिए भोजन की व्यवस्था की। कोरोना लॉकडाउन के दौरान जो प्रवासी श्रमिक अपने स्थान से निकल पड़े उनके लिए हर तरीके की सुविधा देने का काम भी भाजपा कार्यकर्ताओं ने किया। कोरोना संकट काल में अब तक 3.9 लाख कार्यकर्ताओं ने बुजुर्गों और बीमार लोगों की सेवा की है। पार्टी कार्यकर्ताओं ने यह सुनिश्चित किया है कि बीमार और बुजुर्ग लोगों को स्वस्थ रहने के लिए नियमित रूप से दवाएं उन तक पहुंचे। 

22 करोड़ फूड पैकेट पहुंचाए 

भाजपा अध्‍यक्ष जेपी नड्डा ने भाजपा कार्यकर्ताओं के सेवा कार्यों का उल्‍लेख करते हुए कहा कि लॉकडाउन के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं ने 22 करोड़ फूड पैकेट लोगों तक पहुंचाए। यही नहीं कार्यकर्ताओं ने पांच करोड़ राशन किट भी जरूरतमंद लोगों तक पहुंचाने का काम किया। यह राशन किट मोदी किट के नाम से चर्चित हुआ। इस पहल के तहत लोगों को 15 दिन का राशन, 20 दिन का राशन और 30 दिन का राशन पहुंचाया गया। भाजपा अध्‍यक्ष ने बताया कि पार्टी के महिला मंडल की कार्यकर्ताओं की मदद से लोगों तक पांच करोड़ फेस कवर भी पहुंचाने का काम किया गया। 

पीएम मोदी के नेतृत्‍व में देश सुरक्षित 

सबसे पहले भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने अपने संबोधन में कहा कि आपका (प्रधानमंत्री मोदी) पार्टी के प्रति समर्थन और लगाव सर्वविदित है। भारत सरकार की बड़ी जिम्मेदारी प्रधानसेवक के रूप में निभाते हुए पार्टी की हर छोटी बात को भी ध्यान रखना, सहयोग करना, समय-समय पर हम सभी का मार्गदर्शन करना... हम सभी ने देखा है। जब से कोरोना संक्रमण की आहट हुई तब से लेकर आज तक आपने जो नेतृत्व प्रदान किया है वो दुनिया को दिशा देने वाला है। दुनिया आपके कदमों का बारीकी से अनुसरण कर रही है। भारत आपके नेतृत्व में सुरक्षित रूप से खड़ा है।  

ये दिग्‍गज भी रहे मौजूद 

इस कार्यक्रम में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी एवं पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेता भी शामिल हुए। यह कार्यक्रम वर्चुअल हुआ और पार्टी के डिजिटल प्लेटफार्म पर इसका लाइव प्रसारण किया गया। बता दें कि 30 मई को मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल की पहली वर्षगांठ थी। इसे मनाने के लिए पार्टी ने 61 से ज्यादा वर्चुअल रैलियां कीं जिसमें 11.49 करोड़ लोगों ने भाग लिया। यही नहीं सरकार के पहले साल की उपलब्धियों को प्रचारित करने के लिए पार्टी के घर-घर अभियान में कार्यकर्ताओं ने 5.41 करोड़ लोगों से संपर्क भी किया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.