जम्मू-कश्मीर और लद्दाख दौरे पर जाएंगी संसदीय समिति, शस्त्र बलों के कामकाज की स्थितियों से होगी रू-ब-रू

गृह मामलों से संबंधित संसद की स्थायी समिति लेह श्रीनगर व जम्मू का 17 से 21 अगस्त तक दौरा करेगी। इसका एजेंडा जम्मू-कश्मीर व लद्दाख में प्रशासन विकास व जनकल्याण की समीक्षा होगा। समिति शस्त्र बलों के कामकाज की स्थितियों से भी रू-ब-रू होगी।

Manish PandeyWed, 04 Aug 2021 07:41 AM (IST)
संसदीय समिति 17 अगस्त से करेगी जम्मू-कश्मीर और लद्दाख की समीक्षा

नई दिल्ली, प्रेट्र। कांग्रेस नेता आनंद शर्मा की अध्यक्षता वाली संसद की स्थायी समिति केंद्रशासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख का पांच दिवसीय दौरा करेगी। 17 अगस्त से शुरू होने वाले इस दौरे में समिति क्षेत्र के प्रशासन व विकास के साथ-साथ केंद्रीय सशस्त्र बलों के कामकाज की स्थितियों की समीक्षा करेगी।

सशस्त्र बलों के कामकाज की स्थितियों से भी होगी रू-ब-रू

सूत्रों ने मंगलवार को बताया कि राज्यसभा सचिवालय की तरफ से समिति सदस्यों के साथ साझा किए गए पत्र में कहा गया है कि गृह मामलों से संबंधित संसद की स्थायी समिति लेह, श्रीनगर व जम्मू का 17 से 21 अगस्त तक दौरा करेगी। इसका एजेंडा जम्मू-कश्मीर व लद्दाख में प्रशासन, विकास व जनकल्याण की समीक्षा होगा। पत्र के अनुसार, 'समिति तीनों केंद्रीय सशस्त्र बलों भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आइटीबीपी), केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) व सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के कामकाज की स्थितियों की समीक्षा भी करेगी।' समिति में भाजपा सदस्यों की बहुलता है।

जम्मू-कश्मीर के नेताओं के साथ पीएम की मुलाकात के बाद दौरा                                               

समिति का यह दौरा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जम्मू-कश्मीर के नेताओं के साथ मुलाकात (24 जून) के दो महीने बाद हो रहा है। यह पांच अगस्त, 2019 को जम्मू-कश्मीर के पुनर्गठन के बाद केंद्र व जम्मू-कश्मीर के नेताओं की पहली मुलाकात थी। इसमें कुल 14 नेता शामिल हुए थे, जिनमें कांग्रेस के गुलाम नबी आजाद, तारा चंद व जीए मीर, नेशनल कांफ्रेंस के फारूक अब्दुल्ला व उमर अब्दुल्ला, पीडीपी की महबूबा मुफ्ती, जेके अपनी पार्टी के अल्ताफ बुखारी आदि शामिल थे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.