Parliament Updates: पेगासस जासूसी प्रकरण पर विपक्ष का हंगामा, बार बार स्थगित हो रही राज्यसभा की कार्यवाही

19 जुलाई से शुरू होने वाले संसद के मानसून सत्र में कुछ घंटे की कार्यवाही ही चल सकी है वह भी केवल राज्यसभा में। पिछले हफ्ते पेगासस जासूसी कांड और कृषि कानून विरोधी आंदोलन सहित अन्य मुद्दों को लेकर विपक्षी हंगामे के कारण संसद चल नही सकी।

Monika MinalMon, 26 Jul 2021 08:32 AM (IST)
लोकसभा में चर्चा के बाद पारित हुआ फेक्टर विनियमन (संशोधन) विधेयक

नई दिल्ली, जेएनएन। संंसद के दोनों सदनों लोकसभा और राज्यसभा में कार्यवाही की शुरुआत से पहले सोमवार को कारगिल विजय दिवस के अवसर पर कारगिल युद्ध में शहीद वीर जवानों को श्रद्धांंजलि दी गई।  राज्यसभा और लोकसभा में आज फिर से विपक्ष ने पेगासस मुद्दे पर हंगामा किया और दोनों सदनों की कार्यवाही बार-बार बाधित हुई। 4 बजे एक बार फिर से राज्यसभा की कार्यवाही शुरू हुई लेकिन विपक्ष के हंगामे के कारण एक घंटे के लिए स्थगित कर दी गई। वहीं दो विधेयकों को चर्चा के बाद लोकसभा में पारित किया गया और सदन को मंगलवार तक के लिए स्थगित कर दिया गया।  

लोकसभा अध्यक्ष ने जताई थी नाराजगी

विपक्ष के हंगामे पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने नाराजगी जताई। प्रश्नकाल के दौरान विपक्ष के हंगामे पर उन्होंने कहा, 'सरकार जवाब देना चाहती है। आप नारेबाजी करके जवाब मांग रहे हैं, यह उचित नहीं है।'  बता दें कि संसद के मानसून सत्र की शुरुआत ही हंगामे के साथ हुई और उसके बाद से कार्यवाही बाधित ही रही है। पिछले हफ्ते पेगासस जासूसी कांड और कृषि कानून विरोधी आंदोलन सहित अन्य मुद्दों को लेकर विपक्षी हंगामे के कारण संसद चल नही सकी। केवल राज्यसभा में सिर्फ एक दिन कुछ घंटों के लिए बहस हुई। बता दें कि संसद का मानसून सत्र 19 जुलाई से शुरू हुआ है और 13 अगस्त को समाप्त होगा।

लोकसभा में पारित हुए दो विधेयक

विपक्ष के हंगामे के बीच लोकसभा में आज दो विधेयक राष्ट्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी उद्यमिता और प्रबंध संस्थान विधेयक (National Institute of Food Technology Enterpreneurship and Management Bill) नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फूड टेक्नोलॉजी एंटरप्रेन्योरशिप एंड मैनेजमेंट बिल 2021 और फैक्टर विनियमन संशोधन विधेयक 2020 पारित हुआ। फैक्टर विनियमन संशोधन विधेयक 2020 के तहत सूक्ष्म, लघु और मध्यम उपक्रमों को ऋण सुविधा प्राप्त करने के लिए अतिरिक्त रास्ते सुलभ कराने का प्रस्ताव किया गया है। फैक्टर विनियमन संशोधन विधेयक 2020 को निचले सदन में 14 सितंबर को पेश किया गया था । इसके माध्यम से फैक्टर विनियमन अधिनियम 2011 में संशोधन किया जा रहा है।

जानें पल-पल के अपडेट्स- 

- 3 बजे के बाद लोकसभा में कार्यवाही की शुरुआत हुई और चर्चा के बाद फेक्टर विनियमन (संशोधन) विधेयक पारित हो गया। 

- नई शिक्षा नीति को लेकर प्रश्नकाल में शिक्षा मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने कहा, 'इस नीति में शोध और अनुसंधान पर पांच साल में 50,000 करोड़ रुपयेे खर्च करने की योजना पर सरकार काम कर रही है।'

- लोकसभा में सभी सांसदों ने कारगिल युद्ध में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद टोक्यो ओलंपिक्स में वेटलिफ्टिंग में रजत पदक जीतने पर मीराबाई चानू बधाई दी गई।

- कारगिल युद्ध में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देने के बाद राज्यसभा में विपक्ष ने पेगासस मुद्दे पर हंगामा शुरू कर दिया जिसके कारण सदन एक घंटे के लिए स्थगित कर दी गई।

 - कृषि कानूनों को लेकर विरोध जताते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ट्रैक्टर चलाकर संसद पहुंचे। उन्होंने कहा, 'केंद्र सरकार को नए कृषि क़ानूनों को वापस लेना पड़ेगा। ये क़ानून 2-3 बड़े उद्योगपतियों के लिए हैं। ये किसानों के फायदे के लिए नहीं हैं। ये काले क़ानून हैं। मैं किसानों के संदेश को संसद तक लेकर आया हूं।'

- DMK सांसद तिरुची शिवा (Tiruchi Siva) ने पेगासस जासूसी मामले पर चर्चा की मांग के साथ कार्यवाही निरस्त करने के प्रस्ताव का नोटिस दिया है।

- राज्यसभा में विपक्षी दलों के नेताओं ने सदन में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खडगे के संसद स्थित कार्यालय में बैठक की बैठक में सदन में उठाए गए मुद्दों की  रणनीति पर चर्चा की गई।

- कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी और  मनिकम टैगोर (Manickam Tagore) ने कथित सरकार द्वारा पेगासस स्पाइवेयर के इस्तेमाल केे मुद्दे पर चर्चा के लिए लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया है।

लोकसभा में आज ये विधेयक विचार तथा पारित किए जाने वाले विधेयक:-

- फेक्टर विनियमन (संशोधन) विधेयक, 2020

- राष्ट्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी उद्यमिता और प्रबंध संस्थान विधेयक, 2021

संसद की कार्यवाही में शेष 14 दिनों में कई मुद्दों पर चर्चा का लक्ष्य है। इस सप्ताह फैक्टरिंग रेगुलेशन बिल और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फूड टेक्नोलॉजी, एंटरप्रेन्योरशिप एंड मैनेजमेंट बिलों पर लोकसभा की मंजूरी की जरूरत है जो पिछले सप्ताह पेगासस जासूसी प्रकरण, ईंधन की कीमतों में वृद्धि और कृषि कानूनों पर हंगामे के कारण पारित नहीं हो सका।

 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.