LIVE Parliament Monsoon Session: पेगासस मुद्दे पर संसद में विपक्ष का हंगामा जारी, लोकसभा की कार्यवाही 3.30 बजे तक स्थगित

LIVE Parliament Monsoon Session आज संसद के मानसून सत्र के तीसरे हफ्ते का तीसरा दिन है। अभी तक का मानसून सत्र 11 दिनों से विपक्ष के हंगामे के चलते बाधित रहा है। पेगासस मुद्दे को लेकर आज भी संसद में हंगामा जारी है।

Shashank PandeyWed, 04 Aug 2021 09:21 AM (IST)
संसद के दोनों सदनों में पेगासस मुद्दे पर हंगामा।(फोटो: एएनआइ)

नई दिल्ली, एजेंसियां। आज संसद के मानसून सत्र के तीसरे हफ्ते का तीसरा दिन है। पेगासस मुद्दे पर आज भी संसद में हंगामा जारी। सबसे पहले आज राज्यसभा में विपक्षी सांसदों ने पेगासस मुद्दे पर नारेबाजी की। संसद में हंगामे के बाद एक बार फिर से लोकसभा की कार्यवाही दोपहर 3.30 बजे तक स्थगित कर दी गई है। इससे पहले राज्यसभा की कार्यवाही दोपहर 2 बजे तक स्थगित कर दी गई।इसके बाद लोकसभा की कार्यवाही को भी दो बार बाधित होन के बाद 2 बजे तक स्थगित कर दी गई। इस बीच, 6 टीएमसी सांसदों को आज राज्यसभा की कार्यवाही से बाहर कर दिया गया है। संसद में सांसद कई बार हंगामा कर चुके हैं।

अभी तक का मानसून सत्र विपक्ष के हंगामे के चलते बाधित रहा है। विपक्ष लगातार पेगासस जासूसी कांड, कृषि कानूनों को लेकर हमलावर है। संसद में पेगासस जासूसी कांड पर मंगलवार को भी संसद में हंगामा जारी रहा। सरकार और विपक्ष दोनों अपने-अपने रुख पर अड़े रहे। संसद में 11 दिनों से सरकार और विपक्ष के बीच गतिरोध जारी है।

LIVE Parliament Monsoon Session Updates:

- लोकसभा में कानून और न्याय मंत्रालय ने बताया कि भारत के चुनाव आयोग ने विभिन्न स्थानों पर एक ही व्यक्ति के कई नामांकन के खतरे को रोकने के लिए मतदाता सूची को आधार पारिस्थितिकी तंत्र से जोड़ने का प्रस्ताव दिया है। मामला सरकार के विचाराधीन है।

- राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने कहा कि व्यापक सहमति से ही मुद्दों को सदन में चर्चा के लिए उठाया जा सकता है। उन्होंने उन दलों के नेताओं से मुलाकात की जिनके सदस्य कार्यवाही में बाधा डाल रहे हैं: सूत्र

उन्होंने आज 12वें दिन के लिए व्यवधानों पर चिंता व्यक्त की और नेताओं से किसानों के मुद्दों, मूल्य वृद्धि, बेरोजगारी पर चर्चा के लिए सदन के विभिन्न वर्गों के बीच व्यापक समझौते के संदर्भ में सदन में सामान्य स्थिति की वापसी को सक्षम करने के लिए आवश्यक कदम उठाने का आग्रह किया: सूत्र

उन्होंने आगे कहा कि सदन के नियमों और परंपराओं के अनुसार, ऐसे मुद्दों पर, जिन पर सरकार और विपक्ष के बीच एक समझौता होता है, चर्चा के लिए लिया जाता है और तदनुसार, उन्होंने दोनों पक्षों से एक से अधिक बार एजेंडे पर काम करने का आग्रह किया है: सूत्र

- राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश ने (कार्यवाहियों की) रिकॉर्डिंग के खिलाफ सांसदों को चेताया, कहा ऐसा करने वाले नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं

विपक्षी सांसदों ने कृषि कानूनों और पेगासस मुद्दे पर विरोध जारी रखा

सदन की कार्यवाही 15 मिनट के लिए स्थगित

-  लोकसभा की कार्यवाही 3.30 बजे तक स्थगित।

- लोकसभा में एनसीआर एवं संलग्न क्षेत्रों में वायु गुणवत्ता प्रबंधन के लिए आयोग बिल 2021 पर विपक्ष के संशोधन नामंजूर किया गया है। इससे पहले राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र और आस-पास के क्षेत्रों में वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग विधेयक, 2021 को लोकसभा में विचार के लिए लाया गया था।

- राज्यसभा की ओर से बताया गया है कि राज्यसभा में टीएमसी सांसद डोला सेन, नदीमुल हक, अर्पिता घोष, मौसम नूर, शांता छेत्री और अबीर रंजन बिस्वास को तख्तियां रखने और अव्यवस्थित व्यवहार के लिए आज की सदन की कार्यवाही से हटने के लिए कहा गया है।

सभी टीएमसी सांसद जिन्हें एक दिन के लिए राज्यसभा से वापस ले लिया गया था, वे वर्तमान में संसद के अंदर, राज्यसभा कक्ष के प्रवेश द्वार के पास विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। उनके लिए मार्शल तैनात हैं।

- शिरोमणि अकाली दल सांसद हरसिमरत कौर ने कहा है कि राहुल गांधी ट्रैक्टर की सवारी करने में सक्षम हैं लेकिन संसद में पेगासस का मुद्दा उठाते हैं। यह महत्वपूर्ण है लेकिन किसानों के जीवन से ज्यादा नहीं। उन्होंने कहा कि अगर सभी मुख्यधारा की पार्टियों ने समर्थन दिया होता तो सरकार कार्रवाई करती।

- गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने राज्यसभा में बताया कि दिल्ली पुलिस ने 2020 से 20 जुलाई 2021 तक किसानों के विरोध प्रदर्शन के सिलसिले में 183 लोगों को गिरफ्तार किया है और ये सभी जमानत पर हैं। विरोध करने वाले किसानों के खिलाफ दर्ज किसी भी मामले में देशद्रोह या यूएपीए जैसे कानूनों का प्रावधान नहीं है।

- गृह मंत्रालय ने राज्यसभा में बताया कि केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ) और असम राइफल्स (एआर) द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार, पिछले 6 वर्षों के दौरान 680 कर्मियों ने आत्महत्या की है। इस अवधि के दौरान दुर्घटनाओं और मुठभेड़ों में मरने वाले कर्मियों की संख्या क्रमश: 1,764 और 323 है।

- राज्यसभा में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बताया कि साल 2019 के लिए नागरिक पंजीकरण प्रणाली पर आधारित भारत के महत्वपूर्ण सांख्यिकी रिपोर्ट के अनुसार, जन्म पंजीकरण का स्तर 2018 में 87.8% से बढ़कर 2019 में 92.7% हो गया है जबकि इसी अवधि के दौरान मृत्यु के पंजीकरण का स्तर 84.6% से बढ़कर 92.0% हो गया है।

गृह मंत्रालय द्वारा राज्य सभा में दिए गए वर्ष 2018 और 2019 के लिए जन्म और मृत्यु के पंजीकरण का राज्यवार स्तर-

- राज्यसभा में गृह मंत्रालय ने बताया कि राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा रिपोर्ट किए गए आंकड़ों को संकलित करता है और इसे अपने वार्षिक प्रकाशन में प्रकाशित करता है। 2019 के लिए प्रकाशित नवीनतम रिपोर्ट के अनुसार, 2019 में यूएपीए के तहत गिरफ्तार किए गए व्यक्तियों और दोषी व्यक्तियों की कुल संख्या क्रमशः 1,948 और 34 है।

-  गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने राज्यसभा में एक लिखित उत्तर में बताय कि क्या भारत सरकार स्वर्गीय श्री बीजू पटनायक को भारत रत्न देने पर विचार करेगी। इस पर उन्होंने कहा कि भारत रत्न पुरस्कार के संबंध में निर्णय समय-समय पर लिए जाते हैं। इसके लिए किसी औपचारिक सिफारिश की आवश्यकता नहीं है।

- लोकसभा की कार्यवाही 2 बजे तक स्थगित।

- लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला ने प्रश्नकाल में नारेबाजी और हंगामे के कारण व्यवधान होने पर नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि आप संसद की मर्यादा और आसन के अपमान की कोशिश मत करिए। संदन की गरिमा बनाए रखें।

- लोकसभा की कार्यवाही 12 बजे तक स्थगित।

- विपक्षी सांसदों की नारेबाजी के बीच लोकसभा की कार्यवाही 11.30 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई।

- 'पेगासस प्रोजेक्ट' मीडिया रिपोर्ट को लेकर विपक्षी सांसदों की नारेबाजी के बीच राज्यसभा दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई है।

खड़गे का सरकार पर निशाना

संसद में कांग्रेस के विपक्षी नेता राज्यसभा सांसद मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा है कि हम पहले पेगासस पर चर्चा करना चाहते हैं और हम किसानों के मुद्दे, महंगाई, पेट्रोल-डीज़ल की कीमतों और दूसरे मुद्दों पर भी चर्चा करने के लिए तैयार हैं। सभी विपक्षी पार्टियां इसके लिए सहमत हुई हैं लेकिन दुर्भाग्य से सरकार चर्चा करने के लिए तैयार नहीं है।

संसद में कांग्रेस के विपक्षी नेता राज्यसभा सांसद मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा है कि राहुल गांधी गरीबों की समस्याओं के लिए प्रतिबद्ध हैं। वह सभी राजनीतिक दलों को एक साथ लाने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने उनसे अनुरोध किया कि वे हमारी स्वतंत्रता, संविधान और लोकतंत्र के हित में क्षेत्रीय राजनीति को भूल जाएं। हम पेगासस और अन्य मुद्दों पर चर्चा करना चाहते हैं। खड़गे ने कहा कि आपका (पीएम) क्या नैतिक अधिकार है कि विपक्ष संसद को परेशान कर रहा है। जब वे (कांग्रेस) सत्ता में थे, लगभग 2 सत्र धुल गए, उनके बड़े नेताओं ने कहा था कि व्यवधान लोकतंत्र की रक्षा करता है।

- कांग्रेस सांसद दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने राज्यसभा में नियम 267 के तहत केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों पर चर्चा के लिए निलंबन की सूचना दी।

- टीएमसी सांसद सुदीप बंद्योपाध्याय ने 'पेगासस प्रोजेक्ट' मीडिया रिपोर्ट पर चर्चा के लिए लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव नोटिस दिया।

- सदन की रणनीति बनाने के लिए आज सुबह 10 बजे संसद में कांग्रेस के विपक्षी नेता राज्यसभा सांसद मल्लिकार्जुन खड़गे के कार्यालय में समान विचारधारा वाले दलों के राज्यसभा के विपक्षी दलों के नेता बैठक करेंगे।

- कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने 'पेगासस प्रोजेक्ट' मीडिया रिपोर्ट पर चर्चा के लिए लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव नोटिस दिया। इसके साथ ही कांग्रेस सांसद मनिकम टैगोर ने भी 'पेगासस प्रोजेक्ट' मीडिया रिपोर्ट पर चर्चा के लिए लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव नोटिस दिया है।

नायडू ने संसद का गतिरोध खत्म करने की पहल की

संसद के गतिरोध को समाप्त कराने के लिए राज्यसभा के सभापति एम.वेंकैया नायडू ने सरकार और विपक्ष के नेताओं से संयुक्त रूप से समाधान की अपील की है। इस दिशा में पहल करते हुए सभापति नायडू ने मंगलवार को नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के साथ इस गंभीर विषय पर चर्चा की। उन्होंने सदन में जारी गतिरोध को दूर करने पर मंत्रणा की। सभापति नायडू ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृहमंत्री अमित शाह, संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी और राज्यसभा के नेता पीयूष गोयल के साथ शाम को समाधान करने के लिए बैठक की। इस बैठक में सरकार की ओर से पहल करने और विभिन्न मुद्दों पर चर्चा के लिए सहमति बनाने पर चर्चा की गई।

उन्होंने सरकार से भी इस गतिरोध को समाप्त करने की पहल करने का अनुरोध भी किया। संसद का मानसून सत्र 19 जुलाई से शुरू हुआ है। लेकिन बीते दो सप्ताह के दौरान सदन ठीक से नहीं चल पाया है। विपक्ष के हंगामे के बीच सरकार ने कुछ जरूरी कामकाज करा जरूर लिए हैं, लेकिन विभिन्न मुद्दों पर कोई चर्चा नहीं हो सकी है। विपक्षी दल पेगासास जासूसी मामले, कृषि कानूनों के साथ अन्य विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करने की मांग कर रहे हैं। विपक्ष की यह भी मांग है कि पेगासस मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में कराई जाए।विपक्ष के हंगामे के कारण मंगलवार को भी राज्यसभा की कार्यवाही बाधित हुई। सदन दो बार के स्थगित करने के बाद बैठक दोपहर दो बजकर 40 मिनट पर दिन भर के लिए स्थगित कर दी गई।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.