top menutop menutop menu

अमित शाह बोले, पाकिस्तानी हिंदू शरणार्थियों को मिलेगी नागरिकता, दीर्घकालिक वीजा मिलेगा

नई दिल्ली, आइएएनएस। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Union Home Minister Amit Shah) ने शनिवार को राष्ट्रीय राजधानी में रहने वाले पाकिस्तानी हिंदू शरणार्थियों को दीर्घकालिक वीजा प्रदान करने का आश्वासन दिया और साथ ही कहा कि उन्हें भारत में बसने के लिए सक्षम बनाया जाएगा। गृह मंत्री ने कहा कि कानून के प्रावधानों के अनुसार नागरिकता देने में तेजी लाई जाएगी और सभी हिंदू शरणार्थियों को देश के नागरिक के रूप में स्वीकार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि परिवार के मुखिया को एक प्रमाणपत्र मिलेगा और यह बाकी परिवार के लिए भी मान्य होगा।

उल्लेखनीय है कि धार्मिक उत्पीड़न का सामना करने के बाद सैकड़ों पाकिस्तानी हिंदू शरण लेने के लिए भारत चले आए। वे पर्यटक, तीर्थयात्री या आगंतुक वीजा पर आए और अब यहीं बसना चाहते हैं। ये लोग पाकिस्तान नहीं लौटे, क्योंकि उन्हें वहां असुरक्षा महसूस हुई और भारत में नागरिकता मिलने की उम्मीद थी।

लगभग 750 हिंदू यमुना बैंक और उत्तरी दिल्ली के मजनू का टीला क्षेत्र में अस्थायी टेंटों में रह रहे हैं, जिनमें बिना प्लास्टर की दीवारें और धातु की छतें हैं। कई अन्य लोग नई दिल्ली के बाहरी इलाके में स्थित रोहिणी के सेक्टर 9 और 11, आदर्श नगर और सिग्नेचर ब्रिज के पास रिहायशी कॉलोनियों में रहते हैं।

शाह (Union Home Minister Amit Shah) का आश्वासन तब आया, जब दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा के नेतृत्व में पाकिस्तानी हिंदुओं के एक प्रतिनिधिमंडल ने उनसे मुलाकात की और इन परिवारों को नागरिकता देने की गुहार लगाई। सिरसा ने उत्पीड़न का सामना कर रहे ऐसे लोगों को भारतीय नागरिकता प्रदान करने के लिए नागरिकता संशोधन कानून जैसे उपाय करने के लिए गृह मंत्री को धन्यवाद दिया। सिरसा ने कहा कि उन्होंने गृह मंत्री के साथ पाकिस्तान में इन लोगों को जिस तरह की असुरक्षा का सामना करना पड़ा उसके बारे में विस्तार से चर्चा की। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.