लड़कियों पर बेतुका बयान देकर फंसे कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा, बाल संरक्षण आयोग ने जारी किया नोटिस

पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा। (फोटो: दैनिक जागरण)

पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा ने लड़कियों की शादी की उम्र बढ़ाकर 21 साल किए जाने के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बयान पर बेतुका बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि लड़कियों में 15 साल की उम्र में बच्चे पैदा करने की क्षमता हो जाती है।

Publish Date:Thu, 14 Jan 2021 10:31 AM (IST) Author: Shashank Pandey

नई दिल्ली/भोपाल, एएनआइ। कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा(Sajjan Singh Verma) लड़कियों की शादी की उम्र को लेकर दिए गए अपने बेतुके बयान के कारण अब घिर गए हैं। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग(National Commission For Protection of Child Rights) ने कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा(Sajjan Singh Verma) को उनके बेतुके बयान को लेकर नोटिस जारी किया है। उनसे अनुरोध किया किया गया है कि वे 2 दिन के भीतर स्पष्टीकरण दें और कारण बताएं और नाबालिग लड़कियों और कानून के खिलाफ इस तरह के भेदभावपूर्ण बयान देने के अपने इरादे को उचित ठहराए।

गौरतलब है कि कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा ने बुधवार को एक बार फिर एक विवादित बयान दिया था। सीएम शिवराज सिंह चौहान द्वारा लड़कियों की शादी की उम्र 21 साल किए जाने की बात पर सज्जन सिंह वर्मा ने कहा था कि जब लड़कियां 15 साल में प्रजनन लायक हो जाती हैं तो शादी की उम्र 21 साल करने की क्या जरूरत है। जब लड़कियों की शादी की उम्र पहले से 18 साल तय है तो इसमें बदलाव की क्या जरूरत है। इसके बाद सज्जन सिंह वर्मा का ये बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

कांग्रेस नेता सज्जन सिंह वर्मा ने बुधवार को भोपाल में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधा और डॉक्टरों का हवाला देते हुए कहा कि लड़कियों की बच्चे पैदा करने लायक उम्र 15 साल है। सज्जन वर्मा ने कहा कि शादी की उम्र 18 साल है तो कौन सा बड़ा वैज्ञानिक या डॉक्टर हो गया शिवराज की शादी की उम्र 21 करेगा। डॉक्टरों की रिपोर्ट ये है कि बच्चियां 15 साल की उम्र में प्रजनन के उपयुक्त मानी जाती हैं, तो 18 साल में परिपक्व हो गई बच्ची। वर्मा ने कहा कि वैज्ञानिकों की ओर से 21 साल की उम्र सही मानी जाता है। शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधते हुए वर्मा ने कहा कि  21 साल का लॉजिक आप (पत्रकार) बता दो शिवराज की तरफ से।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.