एमपी के मंत्री भूपेंद्र ने कहा- अरुण यादव की भाजपा को आवश्यकता नहीं, सिंधिया से उनकी तुलना नहीं

कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और खंडवा लोकसभा क्षेत्र के उपचुनाव में पार्टी की ओर से टिकट के दावेदार अरुण यादव को लेकर सियासत थमने का नाम नहीं ले रही है। उनके ट्वीट सिंधिया नहीं हूं को लेकर अब नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह ने पलटवार किया है।

Bhupendra SinghMon, 02 Aug 2021 09:21 PM (IST)
नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह ने पलटवार किया

भोपाल, स्टेट ब्यूरो। कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और खंडवा लोकसभा क्षेत्र के उपचुनाव में पार्टी की ओर से टिकट के दावेदार अरुण यादव को लेकर सियासत थमने का नाम नहीं ले रही है। उनके ट्वीट 'सिंधिया नहीं हूं' को लेकर अब नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह ने पलटवार किया है।

मंत्री भूपेंद्र ने कहा- अरुण यादव की भाजपा को आवश्यकता नहीं

उन्होंने कहा कि अरुण यादव की भाजपा को आवश्यकता नहीं है। प्रदेश में सभी स्थानों पर हमारे पास नेतृत्व है। यह उनकी अपनी अंतर्कलह है। ज्योतिरादित्य सिंधिया और अरुण यादव की कोई तुलना नहीं है।

कांग्रेस में खंडवा लोकसभा उपचुनाव की तैयारी

कांग्रेस में उपचुनाव की तैयारी को लेकर पिछले दिनों प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ के आवास पर बैठक हुई थी। खंडवा लोकसभा क्षेत्र को लेकर हुई एक बैठक में निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा पहुंचे थे और उन्होंने सर्वे कराने के साथ अपनी पत्नी के लिए टिकट की मांग की थी।

निर्दलीय विधायक को तवज्जो देने से नाराज अरुण यादव ने कहा- मैं सिंधिया नहीं हूं

माना जा रहा है कि निर्दलीय विधायक को इस तरह तवज्जो देने से नाराज यादव प्रदेश प्रभारी मुकुल वासनिक की मौजूदगी वाली उपचुनाव की तैयारी संबंधी में नहीं गए थे। उनसे भाजपा नेताओं द्वारा संपर्क साधने की बात भी सामने आई थी। हालांकि, उन्होंने बाद में सफाई देते हुए ट्वीट किया था कि मैं सिंधिया नहीं हूं।

अरुण को लोकसभा उपचुनाव के टिकट के लिए लाइन में लगने को मजबूर: भाजपा

इस पर मीडिया से चर्चा में भूपेंद्र सिंह ने कहा कि उनमें कांग्रेस का खून है तो वे बैठक में क्यों नहीं गए। वहीं, गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस में अरुण यादव और उनके पिताजी के साथ जिस तरह का व्यवहार हुआ, उससे अन्य पिछ़़डा के प्रति कांग्रेस की सोच उजागर होती है। वर्षो तक प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष रहे अरुण यादव को अब लोकसभा उपचुनाव के टिकट के लिए लाइन में लगने को मजबूर किया जा रहा है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.