top menutop menutop menu

Madhya Pradesh : विधायक प्रदीप जायसवाल और लोधी को मिला कैबिनेट मंत्री का दर्जा

भोपाल, पीटीआइ। भाजपा में शामिल होने वाले कांग्रेस के पूर्व विधायकों पर मध्‍य प्रदेश की शिवराज सरकार मेहरबान है। रविवार दोपहर को कांग्रेस और विधानसभा से इस्तीफा देकर भाजपा में आए कुंवर प्रद्युम्न सिंह लोधी को शाम होते होते मध्‍य प्रदेश राज्य नागरिक आपूर्ति निगम का अध्यक्ष नियुक्त कर दिया गया। उधर, कांग्रेस से बागी होकर निर्दलीय विधायक बने और कमल नाथ सरकार में मंत्री रहे प्रदीप जायसवाल को मध्‍य प्रदेश खनिज निगम का अध्यक्ष बनाया गया है। दोनों को कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया है।

सूत्रों का कहना है कि पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती के प्रयास से भाजपा में शामिल हुए कुंवर प्रद्युम्न सिंह लोधी का सम्मान बढ़ाया गया है। लोधी को उमा भारती का पुराना समर्थक माना जाता है। उन्हें भाजपा में शामिल होने के चंद घंटे बाद ही नियुक्ति देकर शिवराज सिंह चौहान ने उमा भारती की चली आ रही नाराजगी को कम करने की कोशिश की है। लोधी के इस्तीफे से छतरपुर जिले की मलहरा विधानसभा सीट भी रिक्त हो गई है। वह आने वाले दिनों में उपचुनाव में इसी सीट से भाजपा के उम्मीदवार होंगे। कुंवर प्रद्युम्न सिंह लोधी की वजह से राज्य की 25 विधानसभा सीटों उपचुनाव के समीकरण भी बनेंगे क्योंकि लोधी वोटों की इनमें महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी।

भाजपा की वरिष्‍ठ नेता उमा भारती ने शिवराज मंत्रिमंडल के विस्तार के बाद कैबिनेट में जातीय संतुलन पर सवाल उठाया था। माना जा रहा है कि लोधी (Pradhyuman Singh Lodhi) को भाजपा में लाकर कांग्रेस को झटका देने के साथ ही शिवराज ने उमा की नाराजगी भी दूर करने की कोशिश की है। इसी तरह प्रदीप जायसवाल (Pradeep Jaiswal) को राज्य खनिज निगम का अध्यक्ष बनाते हुए कैबिनेट मंत्री का दर्जा देकर शिवराज ने वैश्य वोटों को साधने के साथ ही कमल नाथ को झटका दिया है। प्रदीप को पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ का करीबी माना जाता है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.