भाजपा में शामिल हुए मेट्रो मैन ई श्रीधरन, केंद्रीय मंत्री आरके सिंह की मौजूदगी में ली पार्टी की सदस्यता

'मेट्रो मैन' के नाम से चर्चित ई. श्रीधरन (E Sreedharan) भाजपा में शामिल हो गए हैं।

ई. श्रीधरन भाजपा में शामिल हो गए हैं। उन्होंने केंद्रीय मंत्री आरके सिंह की मौजूदगी में केरल के मलप्पुरम में भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। ई. श्रीधरन (E Sreedharan) के भाजपा में आने से सूबे में पार्टी की सियासी जमीन मजबूत होगी।

Krishna Bihari SinghThu, 25 Feb 2021 11:44 PM (IST)

मलप्पुरम, एजेंसियां। 'मेट्रो मैन' के नाम से चर्चित ई. श्रीधरन (E Sreedharan) भाजपा में शामिल हो गए हैं। उन्होंने केंद्रीय मंत्री आरके सिंह की मौजूदगी में केरल के मलप्पुरम में भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। ई. श्रीधरन (E Sreedharan) के भाजपा में आने से सूबे में पार्टी की सियासी जमीन मजबूत होगी। रिपोर्टों के मुताबिक ई. श्रीधरन इस साल अप्रैल-मई में होने वाले राज्य विधानसभा चुनाव में पार्टी के उम्मीदवार भी बनाए जा सकते हैं। बीते दिनों उन्‍होंने कहा था कि उनका लक्ष्य केरल में पार्टी को सत्ता में लाना है और यदि ऐसा होता है तो पार्टी के आदेश पर वह मुख्यमंत्री बनने के लिए भी तैयार हैं। 

श्रीधरन ने यह भी कहा था कि यदि भाजपा राज्‍य की सत्ता में आती है तो तीन से चार क्षेत्रों पर सबसे ज्यादा ध्यान केंद्रित किया जाएगा। इसमें बड़े पैमाने पर बुनियादी ढांचों का विकास, राज्य में उद्योग की वापसी और राज्य को कर्ज के जाल से मुक्‍त कराना शामिल है। बता दें कि इस साल अप्रैल-मई में केरल में विधानसभा चुनाव होने की संभावना है। इसे लेकर सूबे में सियासी सरगर्मी तेज हो गई है।

पद्मश्री एवं पद्म विभूषषण से सम्मानित ई. श्रीधरन ने नए कृषि कानूनों का समर्थन करते हुए कहा था कि आजकल यह फैशन बन गया है कि मोदी सरकार जो भी कर रही है उसका विरोध करो। भाजपा का मानना है कि ई. श्रीधरन के पार्टी में आने से उसको केरल विधानसभा चुनाव में राजनीतिक बढ़त मिलेगी। हालांकि कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूडीएफ और माकपा के नेतृत्व वाले एलडीएफ का कहना है कि श्रीधरन के सूबे की राजनीति में आने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा।

बीते दिनों कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने कहा था कि श्रीधरन के भाजपा में आने से केरल में होने जा रहे आगामी विधानसभा चुनाव पर कोई खास प्रभाव नहीं पड़ेगा। 88 वर्षीय श्रीधरन देश के मशहूर सिविल इंजीनियर हैं। वह साल 1995 से 2012 तक दिल्ली मेट्रो के निदेशक रहे। केंद्र सरकार ने उनको साल 2001 में पद्मश्री और साल 2008 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया था। ईमानदार छवि के श्रीधरन काफी लोकप्रिय शख्‍स‍ियत और प्रधानमंत्री मोदी के समर्थक हैं। उन्होंने साल 2014 में लोकसभा चुनाव से पहले दो बार नरेंद्र मोदी को प्रतिभाशाली नेता बताया था।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.