top menutop menutop menu

Maharashtra Politics: शपथ ग्रहण के बाद बोले नितिन गडकरी- क्रिकेट और राजनीति में सब संभव

मुंबई, एएनआई। Maharashtra Politics में एक महीने से चला आ रहा गतिरोध शनिवार सुबह चौंकाने वाले मोड़ पर आकर समाप्त हो गया। आश्चर्यजनक तरीके से शनिवार सुबह आठ बजे देवेंद्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री और एनसीपी नेता अजीत पवार ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ले ली है। इसके साथ ही महाराष्ट्र की राजनीति में बवंडर खड़ा हो गया है। उधर अजीत पवार ने राज्यपाल को एनसीपी विधायकों के समर्थन का जो पत्र सौंपा है, उसे लेकर भी विवाद खड़ा हो गया है। ऐसे में महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन और एनसीपी विधायकों के समर्थन को लेकर कई तरह की चर्चाएं चल रही हैं। इन सबके बीच केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता नितिन गडकरी सामने आए।

नितिन गडकरी ने महाराष्ट्र सरकार के गठन पर कहा, 'मैंने पहले ही कहा था कि क्रिकेट और राजनीति में कुछ भी हो सकता है, अब आप समझ सकते हैं कि मेरा क्या मतलब था।', बता दें कि पहले सूचना थी कि भाजपा 2.30 बजे प्रेसवार्ता करेगी। बताया गया कि इस दौरना सरकार बनाने और एनसीपी विधायकों के समर्थन को लेकर भी स्थिति स्पष्ट की जाएगी। हालांकि, 2 मिनट से भी कम समय के लिए नितिन गडकरी भाजपा की तरफ से सामने आए और एक बयान देकर अपनी वाणी को विराम दे दिया।  

NCP-शिवसेना की प्रेसवार्ता

भाजपा की प्रेसवार्ता से पहले दोपहर 12:30 बजे एनसीपी चीफ शरद पवार और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे मुंबई के ताजा राजनीतिक माहौल पर प्रेसवार्ता की। इस दौरान दोनों नेताओं ने भाजपा को लेकर जमकर भड़ास निकाली। शरद पवार ने प्रेसवार्ता में कहा कि उन्हें अजीत पवार के इस फैसले के बारे में कोई जानकारी नहीं थी। इसके साथ ही उन्होंने ऐलान किया कि वह शिवसेना के साथ ही रहेंगे।

साथ ही शरद पवार ने दावा किया है कि अजीत पवार ने राज्यपाल को एनसीपी विधायकों के समर्थन की जो सूची सौंपी है वह गलत है। उसमें विधायकों के जो हस्ताक्षर हैं, वह बैठक में उनकी उपस्थिति के थे। उनके विधायक उन्हीं के साथ हैं। एनसीपी और शिवसेना की प्रेसवार्ता से पहले तक चर्चा थी कि कांग्रेस भी इस प्रेसवार्ता में शामिल होगी। हालांकि प्रेसवार्ता शुरू होने से ठीक पहले कांग्रेस ने खुद को इससे अलग कर लिया।

देवेंद्र फडणवीस और अजीत पवार ने भले ही शपथ ले ली है, लेकिन सरकार बनाने का उनका फार्मूला अभी सामने नहीं आया है। अभी ये भी स्पष्ट नहीं है कि एनसीपी के कितने विधायकों ने अजीत पवार संग भाजपा को समर्थन दिया है। शरद पवार के दावों ने नई सरकार के गठन को लेकर संस्पेंस और बढ़ा दिया है। माना जा रहा है कि दोपहर ढाई बजे प्रेसवार्ता कर नए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस इसी संस्पेंस से पर्दा उठाएंगे। देवेंद्र फडणवीस ये स्पष्ट करेंगे कि सरकार बनाने की दिशा और दशा क्या होगी। साथ ही वह इस बात की भी आधिकारिक घोषणा कर सकते हैं कि उन्हें कितने विधायकों का समर्थन प्राप्त है। ये भी कयास लगाए जा रहे हैं कि प्रेसवार्ता में मंत्रीमंडल गठन को लेकर भी स्थिति स्पष्ट कर दी जाएगी।

यह भी पढ़ें-

Maharashtra Politics: समर्थन देने वाले NCP विधायकों पर लगेगा दलबदल कानून- पवार

Conflict in NCP: नई नहीं है चाचा-भतीजे की अंदरूनी कलह, लंबे समय से दरक रहे रिश्ते

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.