KIIFB पर ED की जांच को लेकर केरल के वित्त मंत्री का आरोप, राजनीतिक मंशा से अधिकारियों का दुरूपयोग कर रहीं निर्मला सीतारमण

केआइआइएफबी के लेकर चल रही इडी की जांच के बाद आया बयान

केरल के वित्त मंत्री टी एम थॉमस का ये बयान प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) द्वारा केरल अवसंरचना निवेश कोष बोर्ड (केआइआइएफबी) के मुख्य और उनके डिप्टी को पेश होने के निर्देश देने के एक दिन बाद आया है।

Neel RajputWed, 03 Mar 2021 06:50 PM (IST)

तिरुअनंतपुरम, आइएएनएस। केरल के वित्त मंत्री टी एम थॉमस इसाक ने केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पर राजनीतिक मंशा से अपने अधीनस्थ (संस्थानों) का दुरूपयोग करने का आरोप लगाया है। उनका ये बयान प्रवर्तन निदेशालय (इडी) द्वारा केरल अवसंरचना निवेश कोष बोर्ड (केआइआइएफबी) के मुख्य और उनके डिप्टी को पेश होने के निर्देश देने के एक दिन बाद आया है।

इसाक ने कहा, 'वह (निर्मला) केंद्र में हैं और वो राजनीतिक मंशा से अपने अधीनस्थ (संस्थानों) का दुरूपयोग कर रही हैं। जो भी हो रहा है वह स्पष्ट रूप से चुनाव के मानदंडों का उल्लंघन है। हम इस तरह की डराने वाली रणनीति से पीछे नहीं हटने वाले हैं। केरल इन्फ्रास्ट्रक्चर फंड बोर्ड (KIIFB) के खिलाफ इडी की जांच कुछ समय से चल रही है। क्या कोई जानता है कि केरल में इडी के प्रमुख, मनीष राजस्थान के एक शीर्ष भाजपा नेता के बेटे हैं।'

बता दें कि इससे एक दिन पहले प्रवर्तन निदेशालय ने बोर्ड के दो अधिकारियों को उसके समक्ष पेश होने के लिए तलब किया था। यह कार्रवाई 'मसाला बांड' के जरिए लिए गए बाहर से उधार लेने के सिलसिले में की गई थी। इसाक ने संवाददाताओं से बात करते हुए कहा कि चुनाव के दौरान बोर्ड के अधिकारियों को तलब करना आचार संहिता का उल्लंघन है और यह कदम केंद्रीय वित्त मंत्री समेत कई लोगों द्वारा बोर्ड के खिलाफ बड़ी साजिश के रूप में सामने आया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.