भारतीय लोकतंत्र को किसी के सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं : उपराष्ट्रपति नायडू

ए सूर्यप्रकाश की पुस्तक डेमोक्रेसी पालिटिक्स एंड गवर्नेस का विमोचन करने के बाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने भारतीय लोकतंत्र पर सवाल खड़ा करने वालों को आड़े हाथों लिया और कहा कि इसके लिए देश को किसी के सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं।

Monika MinalSat, 27 Nov 2021 04:55 AM (IST)
भारतीय लोकतंत्र को किसी के सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं : नायडू

नई दिल्ली, एएनआइ। उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू (Vice President M Venkaiah Naidu) ने भारतीय लोकतंत्र पर सवाल खड़ा करने वालों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि इसके लिए बाहरी एजेंसियों के प्रमाणपत्र की जरूरत नहीं है। भारतीय संविधान सबके हितों का ध्यान रखते हुए अपने नागरिकों के अधिकारों का संरक्षण करता है। नायडू शुक्रवार को यहां ए सूर्यप्रकाश की पुस्तक 'डेमोक्रेसी, पालिटिक्स एंड गवर्नेस' का विमोचन करने के बाद कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

नायडू ने पिछले दिनों भारतीय लोकतंत्र पर पश्चिमी देशों और अमेरिकी एजेंसियों की ओर से उठाए सवालों के जवाब में भारतीय लोकतांत्रिक मूल्यों का विस्तार से जिक्र किया। कहा कि भारतीय संविधान हर नागरिक को जाति, धर्म, वर्ग, रंग और क्षेत्र से ऊपर उठकर देशहित में काम करने का मौका देता है। उन्होंने कहा कि सूर्यप्रकाश अपने 30 वषर्षो के लंबे लेखन कार्य से संविधान की इसी भावना को आगे ब़़ढा रहे हैं। इस मौके पर देश के ख्याति प्राप्त लेखक और पत्रकार उपस्थित थे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.