top menutop menutop menu

विदेशी मीडिया में भी Howdy Modi का जलवा, जानें किस अखबार ने क्या कहा

नई दिल्ली, जेएनएन। अमेरिका के ह्यूस्टन में आयोजित हाउदी मोदी का जादू विदेशी मीडिया के सिर चढ़कर बोल रहा है। अमेरिका और यूरोप समेत पूरे विश्व के मीडिया संस्थानों ने पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के इस मुलाकात और हाउडी मोदी कार्यक्रम को ऐतिहासिक बताया है। आइए जानते हैं विश्व के इन प्रमुख मीडिया संस्थानों ने हाउडी मोदी कार्यक्रम पर क्या लिखा है और उनका ट्रंप और मोदी की मुलाकात पर क्या नजरिया है। 

ये मोदी-ट्रंप का ब्रोमांस है (USA Today)

अमेरिकी मीडिया संस्थान यूएसए टूडे ने इस खबर को ये मोदी-ट्रंप का ब्रोमांस है हेडलाइन से छापा है। ब्रोमांस का मतलब दो भाइयों का आपसी भाईचारा होता है। इस कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी ने ट्रंप को अपना और भारत का दोस्त बताया। इस दौरान मोदी ने ट्रंप को ऐसा व्यक्ति बताया जिसने हर जगह गहरा और स्थायी प्रभाव छोड़ा है। इसके बाद ट्रंप जब संबोधन के लिेए आए तो उन्होंने भी पीएम मोदी की प्रशंसा की। ट्रंप मोदी की प्रशंसा की और उन्हें 'एक महान व्यक्ति और एक महान नेता' बताया। उन्होंने कहा कि, दोनों देशों के बीच संबंध पहले से अधिक मजबूत हैं। उन्होंने ये बात भारत को अमेरिकी ऊर्जा निर्यात, अंतरिक्ष सहयोग और संयुक्त सैन्य अभ्यास का हवाला देते हुए कही। यूएसए टूडे ने इसे मोदी-ट्रंप का ब्रोमांस बताया है। 

 

ट्रंप ने ईगो छोड़कर साझा किया मंच (Washington post)

ट्रंप की विदेश नीति को लेकर अमेरिका में काफी तनाव है। ट्रंप के ईगो की वजह से अमेरिका का काफी नुकसान हो रहा। अमेरिकी मीडिया संस्थान ने इसे लेकर इस कार्यक्रम को कवर किया है। अखबार ने लिखा है कि ट्रंप अपने ईगो को छोड़कर इस मेगा शो में शामिल हुए। खबर की हेडलाइन है ह्यूस्टन में ट्रंप का असामान्य रूप देखने को मिला।  

ट्रंप बोले मोदी की यह ऐतिहासिक रैली है (BBC)

बीबीसी ने इस खबर को ट्रंप बोले मोदी की यह ऐतिहासिक रैली है हेडलाइन दिया है। गौरतलब है कि हाउडी मोदी अमेरिका के इतिहास में पॉप फ्रांसिस के बाद किसी विदेशी नेता का सबसे बड़ा कार्यक्रम था। इस 90 मिनट के शो में 400 परफॉर्मर्स थे। ट्रंप ने कहा, 'मैं अमेरिका में टेक्सास में अमेरिका के सबसे महान, सबसे समर्पित और सबसे वफादार दोस्तों में से एक भारत के प्रधानमंत्री मोदी के साथ होने पर बहुत रोमांचित हूं।'

दोनों देशों का प्रतिनिधित्व दक्षिणपंथी नेता करते हैं (The Gaurdian)

अमेरिका और भारत दोनों देश में से एक दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला और दूसरा सबसे शक्तिशाली लोकतंत्र है। दोनों देशों का प्रतिनिधित्व दक्षिणपंथी नेता करते हैं। ट्रंप युग के मानकों के अनुसार, हाउदी मोदी शो के दौरान दोनों नेताओं की मुलाकात काफी अजीब थी। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिकी धरती पर उन्हें इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए बुलाया और ट्रंप ने खुशी-खुशी इसे स्वीकार लिया। 

ट्रंप ने ह्यूस्टन में भारतीय पीएम की रैली में भाग लिया

मीडिल इस्ट के मीडिया संस्थान अलजजीरा ने लिखा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रैली में शामिल हुए। दोनों देशों के बीच व्यापार तनाव के बावजूद यह देखने को मिल रहा है। यह काफी दुर्लभ है।

 Howdy Modi से संबंधित खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.