केंद्र सरकार ने संसद में बताया- चौथे सीरो सर्वे में 67.6 फीसद लोगों में पाई गई कोरोना एंटीबाडी

कोरोना महामारी से निपटने और टीकाकरण समेत उससे जुड़े विभिन्न मुद्दों पर सरकार ने शुक्रवार को विपक्ष के सवालों के जवाब दिए। सरकार ने बताया कि चौथे सीरो सर्वे में छह साल से अधिक उम्र के 67.6 फीसद व्यक्तियों में कोरोना एंटीबाडी पाई गई है।

Krishna Bihari SinghFri, 23 Jul 2021 08:48 PM (IST)
कोरोना और टीकाकरण समेत उससे जुड़े विभिन्न मुद्दों पर सरकार ने शुक्रवार को विपक्ष के सवालों के जवाब दिए।

नई दिल्ली, पीटीआइ। कोरोना महामारी से निपटने और टीकाकरण समेत उससे जुड़े विभिन्न मुद्दों पर सरकार ने शुक्रवार को विपक्ष के सवालों के जवाब दिए। सरकार ने बताया कि घरेलू वैक्सीन उत्पादकों के साथ करार करने में किसी भी तरह की देरी नहीं हुई और वैक्सीन की आपूर्ति का आर्डर देने के साथ ही कंपनियों को अग्रिम भुगतान भी किया गया। सरकार ने यह भी बताया कि चौथे सीरो सर्वे में छह साल से अधिक उम्र के 67.6 फीसद व्यक्तियों में कोरोना एंटीबाडी पाई गई है।

दिसंबर तक 135 करोड़ डोज उपलब्ध होगी

लोकसभा में कांग्रेस के राहुल गांधी और तृणमूल कांग्रेस की माला राय के लिखित सवाल के जवाब में स्वास्थ्य राज्यमंत्री भारती प्रवीण पवार ने कहा कि अगस्त से दिसंबर के बीच कोरोना रोधी वैक्सीन की कुल 135 करोड़ डोज उपलब्ध होने का अनुमान है।

टीकाकरण में 9725.15 करोड़ रुपये हुए खर्च

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों के टीकाकरण को पूरा करने का कोई निश्चित समय तय नहीं किया जा सकता, लेकिन इस साल दिसंबर इसके पूरा होने जाने की उम्मीद है। एक अन्य सवाल पर उन्होंने कहा कि सरकार अब तक टीकाकरण कार्यक्रम के तहत 9725.15 करोड़ रुपये खर्च कर चुकी है। इसमें टीके की खरीद के साथ ही उसे लगाने जैसी सुविधाओं पर होने वाला खर्च भी शामिल है।

वैक्सीन का भंडारण सामान्य रेफ्रिजरेटर में

स्वास्थ्य राज्यमंत्री ने बताया कि देश में अभी तक जितनी भी कोरोना रोधी वैक्सीन उपलब्ध है उसे रखने के लिए किसी खास तरह के रेफ्रिजरेटर की जरूरत नहीं है। इनके लिए दो से आठ डिग्री तापमान वाला सामान्य रेफ्रिजरेटर ही पर्याप्त है। उन्होंने कहा कि देश में अभी 296 वाक-इन-कूलर और 57,640 आइस-लाइंड रेफ्रिजरेटर उपलब्ध हैं। वाक-इन-कूलर और आइस-लाइंड रेफ्रिजरेटर एक विशेष प्रकार के रेफ्रिजरेटर होते हैं, जिन्हें वैक्सीन, दवा, ब्लड सैंपल इत्यादि रखने के लिए डिजाइन किया जाता है।

67.6 फीसद लोगों में एंटीबाडी मिली

स्वास्थ्य राज्यमंत्री ने कहा कि चौथे सीरो सर्वे में छह साल से अधिक उम्र के 67.6 फीसद व्यक्तियों में कोरोना एंटीबाडी पाई गई है। यह सीरो सर्वे 14 जून से छह जुलाई के बीच देश के 20 राज्य और एक केंद्र शासित प्रदेश के 70 जिलों में कराया गया था। इसमें छह साल से ऊपर के कुल 36,227 शामिल थे।

कोरोना संक्रमितों में 11 फीसद 20 साल से कम उम्र के

भारती प्रवीण पवार ने कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित होने वाले कुल मरीजों में 11 फीसद 20 साल से कम उम्र के थे। एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि भारतीय दवा नियामक ने भारत बायोटेक को दो से 18 साल और कैडिला हेल्थकेयर को 12 साल से अधिक उम्र के बच्चों के लिए वैक्सीन के क्लीनिकल ट्रायल को मंजूरी दे दी है।

कोरोना से जटिलताओं का आकलन करना जल्दबाजी होगी

एक अन्य सवाल के जवाब में पवार ने कहा कि कोरोना संक्रमण के चलते फेफड़े में फाइब्रोसिस और थ्रोंबोटिक में वृद्धि जैसी जटिलताओं के बारे में राय बनाना जल्दबाजी होगी। उन्होंने कहा कि ब्लैक फंगस के ज्यादातर मामलों का संबंध कोरोना संक्रमण से पाया गया है।

राज्यों ने वैक्सीन के लिए ग्लोबल टेंडर जारी किए

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने सदन को बताया कि कुछ राज्यों ने कोरोना वैक्सीन के लिए ग्लोबल टेंडर जारी किए थे, लेकिन किसी में भी वैक्सीन की खरीद नहीं की जा सकी। बाद में राज्यों ने केंद्र को सूचना दी कि उन्हें कोरोना वैक्सीन की सीधी खरीद में धन और लाजिस्टिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इसके चलते एक मई से 20 जून तक टीकाकरण की गति धीमी पड़ी थी। इसकी गति को बढ़ाने के लिए ही केंद्र ने 21 जून से महाभियान चलाया। इसके तहत केंद्र ने वैक्सीन खरीद कर राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को देना शुरू किया।

वैक्सीन पर बंद हो राजनीति

मांडविया ने विपक्षी दलों से आग्रह किया कि वे कोरोना वैक्सीन को लेकर राजनीति नहीं करें। उन्होंने कहा कि सभी लोगों को मिलकर इसके लिए काम करना चाहिए कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को टीके लगें। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि सरकार वैक्सीन के लिए अमेरिकी दवा कंपनी फाइजर के साथ बातचीत कर रही है। 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.