राज्यसभा सीट के लिए कांग्रेस के खिलाफ G-23 रच रहा साजिश, रंजीत रंजन का बड़ा आरोप

कांग्रेस की वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद रंजीत रंजन।

कांग्रेस की वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद रंजीत रंजन ने शनिवार को कहा कि जी -23 यानी का असंतुष्ट नेताओं का समूह सिर्फ राज्यसभा सीट पाने के लिए पार्टी के खिलाफ साजिश रच रहा है। गौरतलब है कि शनिवार को जम्मू में कांग्रेस के असंतुष्ट नेताओं का जमावड़ा हुआ था।

TaniskSun, 28 Feb 2021 10:20 AM (IST)

नई दिल्ली, एएनआइ। कांग्रेस की वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद रंजीत रंजन ने शनिवार को कहा कि जी -23 यानी का असंतुष्ट नेताओं का समूह सिर्फ राज्यसभा सीट पाने के लिए 'पार्टी के खिलाफ साजिश' रच रहा है। समाचार एजेंसी एएनआइ से बात करते हुए उन्होंने कहा कि कुछ लोग केवल राज्यसभा सीट पाने के लिए पार्टी की आलोचना कर रहे हैं, जबकि पार्टी ने इन नेताओं को उससे ज्यादा दी है, जितने के वे हकदार थे। गौरतलब है कि शनिवार को जम्मू में कांग्रेस के असंतुष्ट नेताओं का जमावड़ा हुआ था। 

रंजीत रंजन ने आगे कहा कि पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों से पहले पार्टी के वरिष्ठ नेताओं का इस तरह का व्यवहार एक साजिश की तरह लगता है। उन्होंने कहा कि ये नेता यह कहते हैं कि पिछले 30 वर्षों से कांग्रेस पार्टी की लगातार पतन हो रही है। इनसे सवाल किया जाना चाहिए कि क्या वे इसके लिए जिम्मेदार नहीं हैं? उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस पार्टी की कमजोरी के लिए गांधी परिवार पर आरोप लगाना गलत है।

रंजीत रंजन ने आरोप लगाया कि ये जी 23 नेता कांग्रेस के पतन के लिए जिम्मेदार हैं, क्योंकि उस समय वे सभी युवा नेता थे। आज, जब युवा नेताओं को इन वरिष्ठ नेताओं के मार्गदर्शन और एक साथ काम करने की जरूरत है, तो ये जी 23 नेता पार्टी के खिलाफ सार्वजनिक मंच पर बोल रहे हैं। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि पार्टी के खिलाफ बोलने के लिए जम्मू-कश्मीर में 'शांति सम्मेलन' का आयोजन किया गया था।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं कपिल सिब्बल और आनंद शर्मा ने शनिवार को कहा कि जी -23 कांग्रेस पार्टी को कमजोर होते देख रहा है और पार्टी की बेहतरी के लिए आवाज उठा रहा है। बता दें 'शांति सम्मेलन' कार्यक्रम कांग्रेस नेता राहुल गांधी की 'उत्तर-दक्षिण' टिप्पणी के बाद आयोजित किया गया है। इस बयान के कारण विवाद पैदा हुआ और कांग्रेस के पूर्व अध्ययक्ष की काफी किरकिरी हुई। असंतुष्ट नेताओं का जमावड़ा ऐसे समय में हुआ जब राहुल तमिलनाडु में चुनाव प्रचार कर रहे हैं।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.