पीएम मोदी से मुलाकात के बाद बोलीं ममता बनर्जी, पेगासस मुद्दे पर सर्वदलीय बैठक बुलाए सरकार, मांगीं वैक्सीन

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। मुलाकात के बाद सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि मैंने प्रधानमंत्री से मुलाकात की ये सौजन्य भेंट है। हमें और वैक्सीन मिले इसके लिए प्रधानमंत्री से बात की।

Arun Kumar SinghTue, 27 Jul 2021 05:34 PM (IST)
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

राज्य ब्यूरो, कोलकाता। बंगाल विधानसभा चुनाव में प्रचंड जीत के बाद पांच दिवसीय दिल्ली दौरे पर गईं मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) प्रमुख ममता बनर्जी ने पेगासास के मुद्दे पर मंगलवार को केंद्र सरकार से सर्वदलीय बैठक बुलाने की मांग करते हुए इसकी जांच सुप्रीम कोर्ट से कराने की मांग की। बंगाल चुनाव के पहले से केंद्र सरकार से चल रहे टकराव के बीच ममता ने मंगलवार शाम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। दोनों के बीच बैठक लगभग आधे घंटे से अधिक समय तक चलीं।

बंगाल में लगातार तीसरी बार सत्ता पर काबिज होने व पांच मई को फिर से मुख्यमंत्री की कुर्सी संभालने के बाद ममता की प्रधानमंत्री से यह पहली मुलाकात थी। बैठक के बाद पत्रकारों से बात करते हुए ममता ने कहा कि प्रधानमंत्री से कई मुद्दों पर बात हुई। ममता ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री से बंगाल की जनसंख्या के हिसाब से पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन उपलब्ध कराने की मांग की। साथ ही उन्होंने पेगासास के मुद्दे पर केंद्र सरकार से सर्वदलीय बैठक बुलाने की मांग करते हुए इसकी जांच सुप्रीम कोर्ट से कराने की मांग की।

वैक्सीन और बंगाल नाम परिवर्तन के नाम पर मुद्दा उठाया

ममता ने कहा कि यह सौजन्यमूलक मुलाकात थी। बंगाल को वैक्सीन ज्यादा चाहिए। बंगाल की जनसंख्या के अनुसार बंगाल को कम वैक्सीन मिली है। बंगाल में टीकाकरण अच्छा हुआ है। बंगाल में एक फीसद से कम कोरोना है। तीसरी लहर के पहले कोरोना वैक्सीन मिले। उन्होंने कहा कि वैक्सीन और बंगाल के नाम परिवर्तन को लेकर भी चर्चा की। बता दें कि सोमवार को बंगाल से दिल्ली के लिए रवाना होने के पहले ममता ने पेगासास मामले पर जांच आयोग गठन करने की घोषणा की थी।

पेगासास विवाद के बीच हुई मुलाकात

मार्च-अप्रैल में हुए बंगाल चुनाव के बाद ममता और पीएम मोदी का पहली बार आमना-सामना हुआ। खास बात यह है कि ममता की मोदी से मुलाकात ऐसे समय हुई है जब तृणमूल कांग्रेस पेगासस जासूसी विवाद जैसे मुद्दों को लेकर केंद्र सरकार पर हमलावर है। सूत्रों का कहना है कि मुलाकात के दौरान ममता ने पीएम मोदी से बकाये जीएसटी भुगतान और विभिन्न आपदाओं के लिए बंगाल को मिलने वाले मुआवजा की भी मांग की।

इससे पहले दिन में मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ और कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने तृणमूल कांग्रेस प्रमुख से मुलाकात की। आनंद शर्मा ने कहा कि मेरे और ममता बनर्जी के राजनीतिक के साथ व्यक्तिगत संबंध भी हैं। बंगाल चुनाव में बंपर जीत के बाद वो पहली बार दिल्ली आई हैं इसलिए मैं उनके निमंत्रण पर मिलने आया।

विपक्षी दलों के नेताओं से करेंगी मुलाकात

26 से 30 जुलाई तक दिल्ली दौरे के दौरान ममता के कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार समेत विपक्ष के सभी प्रमुख नेताओं से मुलाकात का कार्यक्रम है। बुधवार को सोनिया गांधी से मुलाकात का कार्यक्रम है। ममता संसद भवन भी जाएंगी, जहां मानसून सत्र चल रहा है। जानकारी के मुताबिक 28 जुलाई को उनके संसद भवन जाने का कार्यक्रम है। यहां वह कई नेताओं से मुलाकात करेंगी। ममता 30 जुलाई को कोलकाता लौटेंगी।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.