पीएम मोदी से नहीं कोरोना से लड़िए, CM हेमंत सोरेन पर जमकर बरसे डॉ. हर्षवर्धन

'पीएम मोदी से नहीं कोरोना से लड़िए', CM हेमंत सोरेन पर जमकर बरसे डॉ. हर्षवर्धन

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने शुक्रवार को कहा कि मुख्यमंत्री को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से नहीं बल्कि महामारी के खिलाफ लड़ाई पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। स्वास्थ्य मंत्री ने बेहद ही गुस्साए तरीके से ट्वीट में कहा हेमंत सोरेन आप शायद अपने पद की गरिमा को भूल गए हैं।

Nitin AroraFri, 07 May 2021 05:22 PM (IST)

नई दिल्ली, एजेंसी। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के उस ट्वीट पर माहौल गर्म हो गया है, जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर टेलीफोन बातचीत के दौरान केवल 'मन की बात' करने का आरोप लगाया था। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने शुक्रवार को कहा कि मुख्यमंत्री को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से नहीं बल्कि महामारी के खिलाफ लड़ाई पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। स्वास्थ्य मंत्री ने बेहद ही गुस्साए तरीके से ट्वीट में कहा, 'हेमंत सोरेन आप शायद अपने पद की गरिमा को भूल गए हैं। COVID-19 से उत्पन्न स्थिति को लेकर देश के PM पर कोई बयान देते समय यह नहीं भूलना चाहिए कि इस महामारी का अंत सामूहिक प्रयासों से ही संभव है। अपनी नाकामी छिपाने के लिए अपने मन की भड़ास पीएम पर निकालना निंदनीय है।'

स्वास्थ्य मंत्री ने आगे लिखा, 'केंद्र सरकार ने कोरोना संकट काल में जहां गरीबों और जरूरतमंदों के लिए खजाने खोल दिए हैं, वहीं झारखंड सरकार ने, अपने खजाने का मुंह बंद कर रखा है।' हर्षवर्धन ने आगे कहा कि सोरेन चाहते हैं कि हर काम केंद्र करे। वहीं, अंत में उन्होंने सीएम सोरेन से कहा, 'कोरोना से लड़िए, PM से नहीं।' 

यह पहली बार नहीं है जब स्वास्थ्य मंत्री ने कोविड -19 महामारी के प्रबंधन के संबंध में पीएम मोदी की आलोचना पर प्रतिक्रिया दी हो। इससे पहले भी, जब राज्यों ने वैक्सीन वितरण को लेकर केंद्र पर आरोप लगाया था, तो स्वास्थ्य मंत्री ने राज्य सरकारों को सख्त लहजे में जवाब दिया था और राज्य प्रशासन को ही 'निराशाजनक' स्थिति के लिए जिम्मेदार ठहराया था।

बता दें कि गुरुवार रात पीएम मोदी ने हेमंत सोरेन से राज्य की कोविड -19 स्थिति के बारे में बात की। बातचीत के बारे में लिखते हुए, सोरेन ने ट्वीट किया, 'पीएम मोदी ने बातचीत के दौरान केवल उन्हें जो कहना था, वो कहा।' सीएम ने लिखा कि बेहतर होता कि वह महत्वपूर्ण मामलों पर सुनते और बोलते।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.