PM CM Video Conference: उठा वैक्सीन की कीमत का मुद्दा, केजरीवाल ने सरकार के सामने रखी ये मांग

केजरीवाल पर आरोप, कोविड पर प्रधानमंत्री-मुख्यमंत्रियों के बैठक को बनाया राजनीति का मंच

प्रधानमंंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देश के दस राज्यों के मुख्यमंत्रिियों के साथ बैठक की और कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देेनजर हालात का जायजा लिया। इसमें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी शामिल हुए और राजधानी में ऑक्सीजन की किल्लत का मुद्दा उठाया

Monika MinalFri, 23 Apr 2021 12:48 PM (IST)

नई दिल्ली, एएनआइ। देश में जारी महामारी कोविड-19 के जानलेवा संकट को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को राज्य सरकारों के साथ बैठक की। इसमें ऑक्सीजन की कमी से लेकर वैक्सीन की कीमत तक का मुद्दा उठाया गया। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सरकार से ऑक्सीजन के एयरलिफ्ट कराने से लेकर वैक्सीन की कीमत को लेकर कई मांगे की।

सरकारी सूत्रों के हवाले से दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को हुए प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्रियों के बैठक का इस्तेमाल राजनीति खेलने के मंच के तौर पर किया। सूत्रों का कहना है कि केजरीवाल ने वैक्सीन की कीमतों को लेकर झूठी बातें फैलाने का फैसला किया जबकि इस बात की जानकारी उन्हें है कि केंद्र अपने पास वैक्सीन अपने पास वैक्सीन की खुराक नहीं रख रही है और राज्यों को वितरित कर रही है।' 

उल्लेखनीय है कि दिल्ली के एम्स अस्पताल ने गुरुवार को कोरोना संक्रमितों के इलाज के प्रोटोकाल में अहम बदलाव किए हैं। नए प्रोटोकाल के तहत कम गंभीर संक्रमण वाले मरीजों के इलाज में रेमडेसिविर का प्रयोग नहीं किया जाएगा। हल्के संक्रमण के इलाज में बुडेसोनाइड इनहेलर का इस्तेमाल किया जाएगा। एम्स प्रशासन ने बताया कि प्रोटोकाल के तहत संक्रमितों की तीन श्रेणियां बनाई है। इनमें हल्के रोगों वाले, कम गंभीर रोगों वाले व गंभीर रोगों वाले संक्रमित शामिल हैं। प्रोटोकाल के तहत हल्के रोगों वाले संक्रमितों का होम आइसोलेशन में इलाज चलेगा। यदि इन मरीजों को सांस लेने में दिक्कत होगी या पांच दिन से अधिक बुखार आएगा या फिर आक्सीजन संतृप्ति में बदलाव होता है तो इन्हें तत्काल चिकित्सकीय सुविधा प्रदान की जाएगी।

16 जनवरी से देश में शुरू किए गए टीकाकरण अभियान के तहत गुरुवार की शाम तक 13.5 करोड़ टीके लगाए जा चुके हैं। यह जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी।मंत्रालय के अनुसार, गुरुवार को सुबह 8 बजे तक 13,53,46,729 वैक्सीन के डोज दिए गए। इनमें 92,41,384 स्वास्थ्य कर्मियों को पहली और 59,03,368 स्वास्थ्य कर्मियों को दूसरी डोज दी गई। इसी तरह अग्रिम पंक्ति के 1,17,27,708 कार्मिकों को पहली डोज और 60,73,622 कार्मिकों को दूसरी डोज जी गई। 45 वर्ष से 60 वर्ष की उम्र के 4,55,10,426 लोगों को पहली डोज और 18,91,160 लोगों को दूसरी डोज दी गई। वहीं 60 साल से ऊपर के 4,85,01,906 लोगों को पहली और 64,97,155 लोगों को दूसरी डोज दी गई।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.