कांग्रेस का पलटवार, चिदंबरम ने पीएम मोदी को दी यादाश्त दुरूस्त करने की नसीहत

जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गांधी परिवार से बाहर के व्यक्ति को कांग्रेस अध्यक्ष बनाने की चुनौती पर पार्टी ने पलटवार किया है। वरिष्ठ पार्टी नेता पी चिदंबरम ने आजादी के बाद नेहरू-गांधी परिवार से इतर अब तक बने 16 कांग्रेस अध्यक्षों का नाम गिनाते हुए पीएम पर जवाबी वार किया। साथ ही पीएम को अपनी यादाश्त दुरूस्त करने की नसीहत भी दी।

साधारण परिवारों से शीर्ष तक पहुंचे नेहरू-गांधी परिवार से इतर 16 कांग्रेस अध्यक्ष

चुनावी मौसम की गरमी में प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को छत्तीसगढ की चुनावी सभा में गांधी परिवार के साथ कांग्रेस पर तीखा वार करते हुए चुनौती दी कि वह गांधी परिवार से बाहर के किसी व्यक्ति को कांग्रेस का अध्यक्ष बनाकर दिखाए। पार्टी के वरिष्ठ प्रवक्ताओं में शामिल चिदंबरम ने शनिवार को ट्वीट के जरिये पीएम की चुनौती का जवाब दिया।

पूर्व वित्तमंत्री ने कहा कि पीएम की यादाश्त को दुरूस्त करने के लिए वे बताना चाहेंगे कि 1947 के बाद 16 ऐसे व्यक्ति कांग्रेस अध्यक्ष बने हैं जो गांधी परिवार से बाहर के थे। इनमें आचार्य कृपलानी, पट्टाभी सीतारमैया, पुरूषोत्तम दास टंडन, यूएन धेबर, संजीव रेड्डी, संजीवैया, कामराज, निजलिंगप्पा, सी सुब्रहमण्यम, जगजीवन राम, शंकर दयाल शर्मा, डीके बरूआ, ब्रह्मानंद रेड्डी, पीवी नरसिंह राव और सीताराम केसरी शामिल हैं।

चिदंबरम ने स्वतंत्रता के बाद पार्टी अध्यक्ष बने लोगों का नाम गिनाने के साथ पीएम के चुनावी संबोधनों को लेकर उन पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि वे आभारी हैं कि प्रधानमंत्री को इस बात की चिंता है कि कौन कांग्रेस अध्यक्ष चुना जाता है और वे इस पर चर्चा के लिए अपना काफी वक्त देते हैं। मगर क्या वे इसका आधा वक्त भी नोटबंदी, जीएसटी, राफेल, सीबीआई और आरबीआई विवाद जैसे मसले पर बोलने में लगाएंगे।

पूर्व वित्तमंत्री ने किसानों की आत्महत्या, भयंकर बेरोजगारी, मॉब लिंचिंग, महिलाओं और बच्चों के साथ दुष्कर्म अपराध, एंटी-रोमियो स्कॉवयड, गौरक्षकों की सक्रियता और बढ़ते आतंकी हमले जैसे मसले उठाते हुए सवाल दागा कि क्या पीएम इन पर भी बोलेंगे?

चिदंबरम ने इन मुद्दों का खास तौर पर जिक्र इसलिए किया कि कांग्रेस इन्हीं पर एनडीए सरकार को लगातार घेर रही है। पांच राज्यों के चुनाव अभियान में राहुल गांधी भी इन मसलों को लेकर प्रधानमंत्री पर प्रहार कर रहे हैं।

कांग्रेस के इन अध्यक्षों के नाम याद कराने के साथ-साथ चिदंबरम ने आजादी के बाद साधारण परिवारों से शीर्ष तक पहुंचे पार्टी के कुछ बड़े नेताओं का जिक्र भी किया। चिदंबरम ने कहा कि स्वतंत्रता के उपरांत बाबा साहेब अंबेडकर, लाल बहादुर शास्त्री, कामराज और मनमोहन सिंह जैसे साधारण पृष्ठभूमि से आए हमारे नेताओं पर पार्टी को गर्व है। स्वतंत्रता से पूर्व भी पार्टी में हजारों लोग इसी पृष्ठभूमि से आए थे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.