BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा की गोवा यात्रा को कांग्रेस ने जुमला राजनीति करार दिया, झूठे वादों को लेकर साधा निशाना

खलप बोले गोवा जानना चाहता है कि ईंधन की कीमतें 100 रुपये प्रति लीटर तक क्यों पहुंच गईं जबकि उनकी ही सरकार ने इसे 60 रुपये प्रति लीटर करने की घोषणा की थी। कांग्रेस ने कहा कि वे यहां जुमला की राजनीति और झूठे वादों पर ही बोलेंगे

Nitin AroraSat, 24 Jul 2021 04:47 PM (IST)
BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा की गोवा यात्रा को कांग्रेस ने 'जुमला राजनीति' करार दिया, झूठे वादों को लेकर साधा निशाना

पणजी, एएनआइ। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के दो दिवसीय दौरे पर गोवा पहुंचने पर कांग्रेस प्रवक्ता श्रीनिवास खलप ने शनिवार को कहा कि वे केवल जुमला राजनीति को आगे बढ़ाएंगे और झूठे वादों पर ही बोलेंगे। खलप बोले, 'गोवा जानना चाहता है कि ईंधन की कीमतें 100 रुपये प्रति लीटर तक क्यों पहुंच गईं, जबकि उनकी ही सरकार ने इसे 60 रुपये प्रति लीटर करने की घोषणा की थी। भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा को गोवा के लोगों की आजीविका और गोवा की पहचान से संबंधित इन प्रमुख मुद्दों पर बोलने का साहस करना चाहिए। मुझे यकीन है कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के पास इन मुख्य मुद्दों पर टिप्पणी करने का समय नहीं होगा। जुमला की राजनीति और झूठे वादों पर ही बोलेंगे।'

कांग्रेस प्रवक्ता ने आगे सत्तारूढ़ पार्टी पर COVID कुप्रबंधन का आरोप लगाया। खलप बोले कि गोवा में भाजपा सरकार ने गोवा में लगभग 200 COVID रोगियों की ऑक्सीजन की आपूर्ति रोककर हत्या कर दी, इस प्रकार उनके जीने का संवैधानिक अधिकार छीन लिया। 'ताली बजाओ-दीया जलाओ' की घटनाओं के परिणामस्वरूप गोवा में भाजपा सरकार की पूरी तरह से तैयार न होने के कारण लगभग 3,000 से अधिक लोगों की जान चली गई। हम मांग करते हैं कि जेपी नड्डा को गोवा के लोगों से माफी मांगनी चाहिए।

कांग्रेस नेता ने कहा कि वे चाहते हैं कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष राज्य में महादेई, थ्री लीनियर प्रोजेक्ट्स, सीजेडएमपी, खनन और बेरोजगारी पर उनकी सरकार के काम पर बोलें। कांग्रेस प्रवक्ता ने मांग की कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष को गोवा के लोगों को जवाब देना चाहिए कि उनकी सरकारों ने हमारी मां महादेई को कर्नाटक को क्यों बेच दिया? गोवा को कोल हब में बदलने के लिए वे पर्यावरण, जंगल और वन्य जीवन को क्यों नष्ट करना चाहते हैं? वे अवैध रूप से CZMP क्यों तैयार करना चाहते हैं? 2012 में भाजपा ने गोवा के लोगों को नौकरी देने का वादा कहां किया था? स्वर्गीय मनोहर पर्रिकर द्वारा 2012 में बंद किए जाने के बाद भाजपा खनन शुरू करने में विफल क्यों रही?

उन्होंने आगे कहा कि यह दुखद है कि भाजपा सरकार के पास अटल सेतु के पास ध्वज मस्तूल पर भारतीय तिरंगा लगाने और आदिल शाह पैलेस के सामने ध्वज मस्तूल की क्षतिग्रस्त साइड रस्सियों की मरम्मत करने का समय नहीं है। दोनों जगहों की हालत दयनीय बने हुए महीनों बीत चुके हैं। बता दें कि गोवा विधानसभा चुनाव 2022 अगले साल होने हैं। पिछले चुनाव में भाजपा ने 40 विधानसभा सीटों में से 28 सीटों पर जीत हासिल की थी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.