कांग्रेस विधायक सुशांत बोरगोहेन ने दिया पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा

ग्रेस के विधायक सुशांत बोरगोहेन जो जोरहाट जिले की थौरा व‍िधासभा सीट से दो बार न‍िर्वाच‍ित हुए थे। उन्होंने शुक्रवार को कांग्रेस पार्टी से इस्‍तीफा दे द‍िया है। सुशांत बोरगोहेन ने अपना इस्तीफा पार्टी अध्यक्ष भूपेन बोरा को सौंप दिया है।

Ashisha SinghFri, 30 Jul 2021 06:21 PM (IST)
कांग्रेस विधायक सुशांत बोरगोहेन ने दिया पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा

गुवाहाटी, एएनआइ। कांग्रेस के विधायक सुशांत बोरगोहेन जो जोरहाट जिले की थौरा व‍िधासभा सीट से दो बार न‍िर्वाच‍ित हुए थे। उन्होंने शुक्रवार को कांग्रेस पार्टी से इस्‍तीफा दे द‍िया है। सुशांत बोरगोहेन ने अपना इस्तीफा पार्टी अध्यक्ष भूपेन बोरा को सौंप दिया है। वहीं कयास लगाया जा रहा है कि 47 वर्षीय सुशांत बोरगोहेन अगस्त में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल होंगें।

सुशांत बोरगोहेन ने दिया कांग्रेस से इस्तीफा

असम विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली हार के बाद एक और झटका मिला है। ‌बता दें कि कांग्रेस के जोरहाट जिले के थौरा विधायक सुशांत बोरगोहेन ने शुक्रवार को कांग्रेस से इस्तीफा दिया है। सुशांत बोरगोहेन के इस इस्तीफे के बाद से राजनीतिक बहस शुरू हो गई है। बताया जा रहा है कि बोरगोहेन ने कांग्रेस से इस्तीफा इसलिए दिया है क्योंकि वह अगस्त में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल होने वाले हैं। शुक्रवार को थौरा विधायक सुशांत बोरगोहेन ने ई-मेल के जरिए पार्टी अध्यक्ष भूपेन बोरा को अपना इस्तीफा सौंपा।

क्या कहा पार्टी अध्यक्ष भूपेन बोरा

शुक्रवार को सुशांत बोरगोहेन ने ई-मेल के जरिए अपना पार्टी अध्यक्ष भूपेन बोरा को भेजा। जिसके बारे में भूपेन बोरा ने बताया कि, 'अपने पत्र में बोरगोहेन ने कांग्रेस द्वारा उन्हें दिए गए अवसरों की सराहना की, लेकिन कहा कि हाल के कुछ घटनाक्रमों के कारण, वह अब और जारी नहीं रह पाएंगे।'

हाल ही में नियुक्त भाजपा की राज्य इकाई के प्रमुख भावेश ने बताया कि 'बोरगोहेन पिछले कुछ समय से हमारे संपर्क में हैं। वह आधिकारिक तौर पर 1 अगस्त को एक कार्यक्रम में हमारी पार्टी में शामिल होंगे'

कारण बताओ नोटिस का दिया जवाब

असम प्रदेश कांग्रेस कमेटी (एपीसीसी) के नवनियुक्त कार्यकारी अध्यक्ष राणा गोस्वामी ने बुधवार शाम मीडियाकर्मियों को बताया कि सुशांत बोरगोहेन ने भाजपा में शामिल होने का फैसला किया है। राणा गोस्वामी ने कहा कि उन्होंने इसके बारे में भूपेन बोरा को सूचित किया था और एपीसीसी अध्यक्ष नई दिल्ली में पार्टी आलाकमान के साथ बातचीत कर रहे थे और 24 घंटे के भीतर, थौरा विधायक सुशांत बोरगोहेन को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था, जिसके जवाब में सुशांत बोरगोहेन प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.