अमरिंदर सिंह ने राहुल और प्रियंका गांधी को कहा अनुभवहीन, कांग्रेस ने कहा- पुनर्विचार करें कैप्‍टन

कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि हमें उम्मीद है कि वह विवेक दिखाते हुए अपने शब्दों पर पुनर्विचार करेंगे क्योंकि वह कांग्रेस पार्टी के दिग्गज बने रहे जिसने उन्हें नौ साल और नौ महीने तक मुख्यमंत्री बनाया।

Arun Kumar SinghThu, 23 Sep 2021 05:28 PM (IST)
पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा

नयी दिल्ली, प्रेट्र। कांग्रेस ने गुरुवार को पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा के खिलाफ नाराजगी को गुस्से में बताया। कांग्रेस ने उम्मीद जताई कि वह अपने शब्दों पर पुनर्विचार करेंगे क्योंकि यह टिप्‍पणी राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा के कद के अनुकूल नहीं है। 

अमरिंदर के कांग्रेस छोड़ने पर टिप्‍पणी से किया इन्‍कार

कांग्रेस पार्टी ने इस पर टिप्पणी करने से भी इनकार कर दिया कि क्या पंजाब के मुख्यमंत्री के पद छोड़ने के बाद अमरिंदर सिंह पार्टी छोड़ देंगे। पार्टी ने कहा, कि अगर कोई छोड़ना चाहता है तो हमारे पास पेशकश करने के लिए कोई टिप्पणी नहीं है। कैप्टन अमरिंदर सिंह लगातार यह संकेत दे रहे हैं कि वह कुछ बड़ा कदम उठा सकते हैं, जिससे पार्टी नेताओं की बेचैनी बढ़ी हुई है। ऐसी चर्चा है कि कैप्टन नई पार्टी बना सकते हैं या छोटी-छोटी पार्टियों को इकट्ठा कर कोई फ्रंट खड़ा कर सकते हैं। उनकी भाजपा में जाने की भी चर्चा है। अमरिंदर सिंह ने बुधवार को कांग्रेस नेताओं राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा को 'अनुभवहीन' कहा था। उन्‍होंने आगामी विधानसभा चुनावों में पंजाब पार्टी इकाई के प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ एक मजबूत उम्मीदवार खड़ा करने की धमकी दी थी।

कांगेस ने कहा, राजनीति में गुस्‍से के लिए जगह नहीं

कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा कि अमरिंदर सिंह बड़े हैं और उन्होंने गुस्से में आकर बातें कहीं। वह हमारे बड़े हैं और बुजुर्ग अक्सर गुस्सा हो जाते हैं और बहुत सी बातें कहते हैं। हम उनके क्रोध, उम्र और अनुभव का सम्मान करते हैं। हमें उम्मीद है कि वह अपने शब्दों पर पुनर्विचार करेंगे, लेकिन राजनीति में प्रतिशोध, व्यक्तिगत हमले और राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ टिप्पणियों, क्रोध, ईर्ष्या, दुश्मनी के लिए कोई जगह नहीं है।

अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस पार्टी से किया सवाल

श्रीनेत ने कहा कि हमें उम्मीद है कि वह विवेक दिखाते हुए अपने शब्दों पर पुनर्विचार करेंगे, क्योंकि वह कांग्रेस पार्टी के दिग्गज बने रहे, जिसने उन्हें नौ साल और नौ महीने तक मुख्यमंत्री बनाया। इस बीच अमरिंदर सिंह ने गुरुवार को अपनी ही पार्टी को निशाने पर लिया और पूछा कि हां, राजनीति में गुस्से के लिए कोई जगह नहीं है, लेकिन क्या कांग्रेस जैसी पुरानी पार्टी में निरादर और अपमान के लिए जगह है? अगर मेरे जैसे वरिष्ठ पार्टी नेता के साथ ऐसा व्यवहार किया जा सकता है, तो मुझे आश्चर्य है कि कार्यकर्ताओं को क्या करना चाहिए! इस बारे में अमरिंदर सिंह के हवाले से उनके पूर्व मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल ने एक ट्वीट किया।

यह भी पढ़ें: कैप्‍टन अमरिंदर का सिद्धू के साथ गांधी परिवार पर निशाना, कहा- प्रियंका व राहुल गांधी अनुभवहीन, हो रहे गुमराह, सिद्धू को नहीं बनने देंगे सीएम

अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिद्धू के खिलाफ खोला मोर्चा

अमरिंदर सिंह ने बुधवार को नवजोत सिद्धू को एक 'ड्रामा मास्टर' और एक 'खतरनाक आदमी' कहा था, जिसमें उन पर नव नियुक्त मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के साथ 'सुपर सीएम' की तरह व्यवहार करने का आरोप लगाया। मीडिया के साथ बातचीत में उन्होंने यह भी दावा किया कि पंजाब अब दिल्ली से पार्टी द्वारा चलाया जा रहा है। महीनों तक सिद्धू के साथ नेतृत्व की कड़वी लड़ाई के बाद अमरिंदर सिंह ने शनिवार को पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था।

यह भी पढ़ें:  पंजाब में चरणजीत सिंह चन्नी की सरकार, सिद्धू बने असली सरदार, 'गुरु' का सुपर सीएम जैसा रुतबा

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.