By polls voting: दंतेवाड़ा, हमीरपुर समेत चार विधानसभा सीटों पर डाले जा रहे वोट

नई दिल्‍ली, एजेंसियां। देश की चार विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के तहत आज वोट डाले जा रहे हैं। छत्तीसगढ़ की दंतेवाड़ा, केरल की पाला, त्रिपुरा की बाधरघाट और उत्तर प्रदेश की हमीरपुर विधानसभा सीटों पर चाक चौबंद सुरक्षा व्‍यवस्‍था के बीच कतरों में लोग मतदान के लिए अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं। निर्वाचन आयोग ने 25 अगस्त को इन सीटों पर उप चुनाव कराने की घोषणा की थी। इन सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजे 27 सितंबर को आएंगे। 

Tripura: Voting has started for by-election to Badharghat assembly constituency. pic.twitter.com/Bv5EqY0SNp

निर्वाचन आयोग के मुताबिक, सुबह 7 बजे शुरू हुआ मतदान शाम 6 बजे तक चलेगा। यूपी की हमीरपुर सीट भाजपा विधायक अशोक कुमार सिंह चंदेल को हत्या के एक मामले में अदालत द्वारा सजा सुनाए जाने के बाद उनकी विधानसभा सदस्यता रद्द होने के चलते रिक्त हुई है। इस उपचुनाव में कुल नौ प्रत्याशी मैदान में हैं। उम्‍मीदवारों में भाजपा के युवराज सिंह, कांग्रेस के हर दीपक निषाद, सपा के मनोज कुमार प्रजापति, बसपा के नौशाद अली और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के आलम मंसूरी मुख्य रूप से शामिल हैं। 

इसके अलावा दंतेवाड़ा, पाला और बाधरघाट की सीट पर उम्‍मीदवारों व नेताओं की मौत या हत्या के बाद चुनाव हो रहे हैं। दंतेवाड़ा सीट पर उपचुनाव भाजपा उम्‍मीदवार भीमा मंडावी कर मौत के कारण हो रहा है। इसी साल नौ अप्रैल को नक्सलियों के हमले में भीमा मंडावी की मौत हो गई थी। हमले में चार पुलिसकर्मी भी शहीद हो गए थे। साल 2018 विधानसभा चुनाव में भीमा मंडावी ने जीत दर्ज की थी। इस बीच आज दंतेवाड़ा उपचुनाव में ड्यूटी के दौरान पीठासीन अधिकारी चंद्रप्रकाश ठाकुर की मौत हो गई है। बताया जा रहा है कि उनकी मौत हार्टअटैक से हुई है। 

दंतेवाड़ा विधानसभा उपचुनाव में नौ प्रत्याशी मैदान में हैं। यहां सुबह 11 बजे तक 24.16 प्रतिशत वोटिंग दर्ज की गई थी। विधानसभा क्षेत्र के कटेकल्याण के परचेली रोड पर सुरक्षा बलों को एक आईईडी मिला है जिसे डिफ्यूज कर‍ दिया गया है। इसमें 200 मीटर लंबा वायर भी जुड़ा था। नक्सल प्रभावित इस क्षेत्र में सुरक्षा व्यवस्था के तहत करीब 18 हजार से ज्यादा जवान तैनात किए गए हैं। जंगली क्षेत्रों में ड्रोन से नजर रखी जा रही है। मतदान दोपहर 3 बजे तक होना था। 

कांग्रेस की ओर से यहां देवती कर्मा और भाजपा की ओर से ओजस्वी मंडावी चुनाव मैदान में हैं। कांग्रेस प्रत्याशी देवती कर्मा सुबह मां दंतेश्वरी के दर्शन करने पहुंची इसके बाद ग्राम फरसपाल पहुंचकर मतदान किया। जबकि भीमा मंडावी की पत्‍नी ओजस्वी मंडावी ने मतदान से पहले दंतेश्वरी मंदिर देवी का पूजन किया। ओजस्वी ने आरोप लगाया कि पुलिस ने आरओपी देने में देरी की, जिसकी वजह से वे सुबह मतदान करने गदापाल नहीं पहुंच पाईं।  

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.