सिद्धारमैया पर कर्नाटक के मुख्यमंत्री बोम्मई का पलटवार, कांग्रेस को बताया गुलामगीरी की पार्टी

सिद्धारमैया ने रविवार को आरोप लगाया था कि भाजपा तालिबानी हैं और यह भी दावा किया कि यह वास्तव में आरएसएस है जो कर्नाटक में प्रशासन चला रहा है। इसपर पलटवार करते हुए कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने कांग्रेस को गुलामों की पार्टी बताया।

Manish PandeyMon, 27 Sep 2021 01:10 PM (IST)
सिद्धारमैया ने भाजपा को तालिबानी करार दिया था।

हुबली, पीटीआइ। कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने सोमवार को विपक्ष के नेता सिद्धारमैया के बयान पर पलटवार किया। उन्होंने कांग्रेस को 'गुलामगीरी' (गुलामों) की पार्टी बताया। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री का बयान उनकी हताशा को दिखाता है। इससे पहले सिद्धारमैया ने भाजपा को तालिबानी करार दिया था।

सिद्धारमैया के बयान के जवाब में बोम्मई ने कहा, 'यह (कांग्रेस) गुलामगीरी की पार्टी है, इसलिए वे देशभक्ति को भी अलग तरह से देखते हैं। हमारी देशभक्ति की पार्टी है, वे गुलामगीरी की पार्टी हैं।' पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा, कांग्रेस द्वारा अपने शासन के दौरान अपनाई गई मैकाले की शिक्षा नीति के कारण, भारत वैश्विक स्तर पर प्रतिस्पर्धा के अवसरों से वंचित रह गया।

उन्होंने कहा कि अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शिक्षा प्रणाली में क्रांतिकारी बदलाव सुनिश्चित करने के लिए एक नई शिक्षा नीति लाए हैं, जो हमारे बच्चों, विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों के बच्चों को 21वीं सदी के ज्ञान युग में ले जा सकते हैं, लेकिन कांग्रेस इसमें भी दोष ढूंढ रही है।

सिद्धारमैया ने रविवार को आरोप लगाया था कि भाजपा तालिबानी हैं और यह भी दावा किया कि यह वास्तव में आरएसएस है, जो कर्नाटक में प्रशासन चला रहा है। बेंगलुरु में एक कार्यक्रम में बोलते हुए उन्होंने कहा था, 'आरएसएस और बीजेपी हिटलर के वंश से हैं। बीजेपी तालिबानी हैं। उनसे सावधान रहें।'

इस पर प्रतिक्रिया देते हुए बोम्मई ने कहा कि सिद्धारमैया के बयान को देखते हुए पता चलता है कि वह हताश हैं। उन्होंने कहा कि सिद्धारमैया एक पूर्व मुख्यमंत्री हैं, जिस तरह से उन्होंने बात की वह उस स्थिति के अनुरूप नहीं है, जिस पर वह पहले रहे हैं।

शुक्रवार को कर्नाटक विधानसभा में मानसून सत्र के दौरान राज्य में राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनइपी) के मुद्दे पर जमकर हंगामा हुआ। इस दौरान कांग्रेस ने नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) का एजेंडा करार दिया। इसके जवाब में सत्तारूढ़ भाजपा ने कांग्रेस पर पलटवार करते हुए कहा कि एनईपी इटली की या रोम की शिक्षा नीति या मैकाले की शिक्षा नीति नहीं है, जो कांग्रेस चाहती है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.