बोम्मई को अपनी टीम चुनने की पूरी आजादी दखल नहीं देंगे येदियुरप्पा

कर्नाटक की सियासत की बागडोर नए मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई संभालने जा रहे हैं। कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने शुक्रवार को कहा कि बोम्मई को अपनी टीम चुनने की पूरी आजादी वह नए मंत्रिमंडल में मंत्रियों के चयन में हस्तक्षेप नहीं करेंगे।

Ashisha SinghFri, 30 Jul 2021 06:22 PM (IST)
बोम्मई को अपनी टीम चुनने की पूरी आजादी दखल नहीं देंगे येदियुरप्पा

चामराजनगर, पीटीआइ। कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के इस्तीफे के बाद कर्नाटक की सियासत की बागडोर नए मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई संभालने जा रहे हैं। कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने शुक्रवार को कहा कि बोम्मई को अपनी टीम चुनने की पूरी आजादी, वह नए मंत्रिमंडल में मंत्रियों के चयन में हस्तक्षेप नहीं करेंगे।

बीएस येदियुरप्पा का बड़ा बयान

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के अपने पद से इस्तीफा देने के बाद नए मुख्यमंत्री

बसवराज बोम्मई पार्टी का नेतृत्व करने जा रहे हैं। येदियुरप्पा ने अपने उत्तराधिकारी और नए मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई पार्टी के नए मंत्रिमंडल चयन पर कहा कि बोम्मई अपनी टीम चुनने के लिए स्वतंत्र हैं। साथ ही येदियुरप्पा ने पार्टी को मजबूत करने की दिशा में अपना काम जारी रखने की भी बात कही। बीएस येदियुरप्पा ने बयान में कहा कि 'बोम्मई आज दिल्ली में हैं, कुछ दिनों में वह केंद्रीय नेताओं के साथ चर्चा करेंगे और तय करेंगे कि उनके मंत्रिमंडल में कौन होना चाहिए, मैं इस पर हस्तक्षेप नहीं करूंगा कि किसे मंत्री बनाया जाना चाहिए या नहीं। बोम्मई पूरी तरह से स्वतंत्र हैं, वह चर्चा करेंगे और अपने कैबिनेट मंत्रियों को चुनें…..मैं इस पर कोई सुझाव नहीं दूंगा।' यह पूछे जाने पर कि उनके इस्तीफे से पार्टी के कई कार्यकर्ता नाराज हैं, येदियुरप्पा ने कहा, 'सत्ता स्थायी नहीं है, मैंने अपनी आंखों के सामने एक सक्षम व्यक्ति को पोषित करने और दूसरों के लिए रास्ता बनाने के लिए ऐसा (इस्तीफा) किया है। यह सक्षम व्यक्ति जैसे बसवराज बोम्मई आज मुख्यमंत्री हैं।'

आत्महत्या किए प्रशंसक के परिवार को दिए 5 लाख रुपये

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री 78 वर्षीय येदियुरप्पा के इस्तीफे पर गुंडलुपेट तालुक के बोम्मलपुरा में उनके एक प्रशंसक ने आहत होकर आत्महत्या कर ली थी। जिसके परिवार वालों से मिलकर येदियुरप्पा ने सांत्वना दि और उन्हें 5 लाख रुपए दिए। और संवेदना प्रकट करते हुए येदियुरप्पा ने कहा कि 'उन्होंने जो कदम उठाया उससे मैं दुखी हूं, ऐसा नहीं होना चाहिए था। उनकी मां और दो बहनें हैं और उनकी शादी नहीं हुई थी, उनके परिवार की देखभाल करना मेरी जिम्मेदारी है, इसलिए मैंने उनकी मां को 5 लाख रुपए दिए हैं, रुपए उनके बैंक खाते में डालें गए हैं, इसका उन्हें ब्याज मिल सके।' येदियुरप्पा ने आगे कहा कि 'देखेंगे कि उनके लिए और क्या किया जाना है।" 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.