मानसूत्र सत्र के बीच तीन अगस्त को संसद में होगी भाजपा संसदीय दल की बैठक

संसद के मानसूत्र सत्र के बीच भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) संसदीय दल की बैठक तीन अगस्त को संसद में होने जा रही है। इससे पहले 27 जुलाई को भी भाजपा संसदीय दल की बैठक हुई थी। आज भी संसद में हंगामा जारी है।

Shashank PandeyFri, 30 Jul 2021 01:39 PM (IST)
मानसूत्र सत्र के बीच 3 अगस्त को भाजपा की अहम बैठक।(फोटो: दैनिक जागरण)

नई दिल्ली, एएनआइ। संसद के चल रहे मानसून सत्र के बीच भाजपा संसदीय दल की बैठक तीन अगस्त को संसद में होने जा रही है। भाजपा ने 27 जुलाई को भी संसदीय दल की बैठक की थी, जिसकी अध्यक्षता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की थी। सूत्रों ने बताया कि इस बैठक में पीएम मोदी ने भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के सांसदों से विपक्षी दलों को बेनकाब करने के लिए कहा था क्योंकि वे संसद को कोई कामकाज नहीं करने दे रहे थे। विपक्षी दलों द्वारा बार-बार किए गए हंगामे के कारण संसद की कार्यवाही को स्थगित करना पड़ रहा है। संसद सुचारू रूप से नहीं चल पा रही है।

इस बीच, विभिन्न मुद्दों पर विपक्षी दलों के हंगामे के बीच शुक्रवार को लोकसभा और राज्यसभा दोनों को दो बार स्थगित करना पड़ा। राज्यसभा दिन में पहली बार दोपहर 12 बजे तक और फिर दोपहर 2:30 बजे तक के लिए स्थगित हुई। संसद का मानसून सत्र 19 जुलाई 2021 को शुरू हुआ और यह 13 अगस्त, 2021 तक चलेगा।

पेगासस मुद्दे पर संसद में आक्रामक रुख अपनाए रखेगी कांग्रेस

पेगासस जासूसी मामले पर संसद में पिछले कई दिनों से चल रहे गतिरोध के बीच कांग्रेस ने गुरुवार को फैसला किया कि वह मानसून सत्र के दौरान आगे भी इस मुद्दे को लेकर पीछे नहीं हटेगी। पार्टी इस मसले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की मौजूदगी में चर्चा कराने एवं गृह मंत्री के जवाब की मांग पुरजोर ढंग से करती रहेगी।सूत्रों के मुताबिक, संसद भवन में पार्टी के संसदीय मामलों के रणनीतिक समूह की बैठक में यह फैसला किया गया। बैठक में राज्यसभा के नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और लोकसभा में पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी, वरिष्ठ नेता जयराम रमेश और कुछ अन्य नेता मौजूद थे।

बैठक के बाद कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने बताया, 'कांग्रेस पेगासस के मुद्दे से पीछे नहीं हटेगी। यह राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ा विषय है। हम अपनी यह मांग उठाना जारी रखेंगे कि इस मुद्दे पर संसद में चर्चा हो और गृह मंत्री इसका जवाब दें।'उधर, कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने आरोप लगाया कि सरकार के पास कुछ छिपाने के लिए है, इसलिए वह पेगासस पर चर्चा से भाग रही है। उन्होंने कहा, 'हमने सिर्फ यही पूछा है कि क्या सरकार ने पेगासस को खरीदा या इसका उपयोग किया? इसका उपयोग किस व्यक्ति या संस्था के खिलाफ किया था? सरकार ने इसका जवाब नहीं दिया।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.