मेकेदातु परियोजना पर तमिलनाडु और कर्नाटक के भाजपा नेता आमने-सामने, जानें किसने क्‍या कहा

कर्नाटक के मुख्यमंत्री व भाजपा के वरिष्ठ नेता बासवराज बोम्मई ने शनिवार को कहा कि पड़ोसी तमिलनाडु के विरोध के बावजूद राज्य मेकेदातु परियोजना के लिए मंजूरी हासिल करेगा। कर्नाटक कावेरी नदी पर इस पेयजल परियोजना को जरूर लागू करेगा।

Krishna Bihari SinghSat, 31 Jul 2021 09:59 PM (IST)
कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने कहा कि तमिलनाडु के विरोध के बावजूद मेकेदातु परियोजना के लिए मंजूरी हासिल की जाएगी।

नई दिल्ली, पीटीआइ। कर्नाटक के मुख्यमंत्री व भाजपा के वरिष्ठ नेता बासवराज बोम्मई ने शनिवार को कहा कि पड़ोसी तमिलनाडु के विरोध के बावजूद राज्य मेकेदातु परियोजना के लिए मंजूरी हासिल करेगा। कर्नाटक कावेरी नदी पर इस पेयजल परियोजना को जरूर लागू करेगा। उधर, भाजपा की तमिलनाडु इकाई के नवनियुक्त अध्यक्ष के. अन्नामलाई ने कर्नाटक के निर्णय के विरोध का फैसला किया है।

भूख हड़ताल से हमारा लेनादेना नहीं

बोम्मई ने यहां संवाददाताओं से कहा, 'वह (अन्नामलाई) अपना काम करेंगे। अन्नामलाई की भूख हड़ताल से हमारा लेनादेना नहीं है।' उन्होंने कहा कि कावेरी के पानी पर कर्नाटक का पूरा अधिकार है और वह मेकेदातु परियोजना को निश्चित तौर पर लागू करेंगे। बोम्मई ने बताया, 'राज्य ने विस्तृत परियोजना रिपोर्ट केंद्र को सौंप दी है। हम इसके लिए मंजूरी प्राप्त करेंगे। चाहे कई भूखे रहे या खाए।' उधर, तमिलनाडु भाजपा ने कावेरी डेल्टा क्षेत्र में पांच अगस्त को एक दिवसीय भूख हड़ताल का ऐलान किया है।

कैबिनेट विस्तार पर जल्द मिल सकता है हाईकमान का संदेश : बोम्मई

कैबिनेट विस्तार के मुद्दे पर सीएम बासवराज बोम्मई ने बेंगलुरु में कहा कि इस संबंध में भाजपा हाईकमान से दो दिनों में संदेश प्राप्त हो सकता है। इसके बाद वह एक बार फिर दिल्ली जाएंगे और कैबिनेट को अंतिम रूप देंगे। दिल्ली से बेंगलुरु पहुंचने के बाद बोम्मई ने संवाददाताओं से कहा, 'मैं भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से आज नहीं मिल सका। कल मुलाकात हुई थी। उम्मीद है कि वे दो दिनों में मुझे संदेश भेजेंगे।'

कैबिनेट में जगह पाने के लिए जोर आजमाइश

उधर, कर्नाटक कैबिनेट में जगह पाने के लिए विधायक एवं पूर्व मंत्री पूरी ताकत लगा रहे हैं। कुछ दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं तो एमपी रेणुकाचार्य व मुनिरत्न आदि ने पूर्व सीएम बीएस येदियुरप्पा से मुलाकात की। हावेरी से तीसरी बार विधायक चुने गए नेहरू ओलेकर ने यह कहते हुए मंत्री पद पर दावेदारी की है कि भाजपा ने उनके समुदाय से अब तक किसी को मौका नहीं दिया, जबकि कांग्रेस ने दिया है। केएस ईश्वरप्पा ने तो यहां तक कह दिया कि लोग फोन करके कह रहे हैं कि येदियुरप्पा के बाद उन्हें मुख्यमंत्री होना चाहिए था। बता दें कि बोम्मई ने बुधवार को ही कर्नाटक के मुख्यमंत्री का पद संभाला है। 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.