Haryana-Maharashtra Exit Poll 2019: कमल खिलने की उम्‍मीद, मिल सकती हैं दो-तिहाई सीटें

 नई दिल्ली, जेएनएन। Assembly Election Exit Poll Live 2019: हरियाणा में भाजपा को धमाकेदार जीत मिलने की उम्‍मीद है। एबीपी और सी वोटर के सर्वे के मुताबिक राज्‍य में भाजपा को 72 सीटें मिल सकती हैं। जबकि 2014 में उसे महज 47 सीटें मिली थीं। सर्वे के मुताबिक कांग्रेस को राज्‍य में सि‍र्फ 8 सीटें और इनेलो समेत बाकी दलों को महज 10 सीटें ही मिल सकती हैं।  

न्‍यूज 24 के सर्वे के मुताबिक भाजपा को हरियाणा में 71 सीटें मिल सकती हैं। कांग्रेस को यहां 11 और अन्‍य दलों को 8 सीटें मिलने का अनुमान है।  इंडिया टीवी के सर्वे के अनुसार भाजपा को 75, कांग्रेस को 10 और अन्‍य दलों को 8 सीटें मिलने का अनुमान है। रिपब्लिक चैनल ने अपने चुनावी सर्वे में हरियाणा में भाजपा को 52 से 63, कांग्रेस को 15 से 19 और अन्‍य दलों को 12 से 19 सीटें मिलने का अनुमान जताया है। एबीपी और सी वोटर के सर्वे के मुताबिक हरियाणा में भाजपा को 72, कांग्रेस को 8 और अन्‍य दलों को 10 सीटें मिलने का अनुमान जताया है। 

न्‍यूज 24 के सर्वे के मुताबिक महाराष्‍ट्र में भाजपा और शिव सेना को 181, कांग्रेस और एनसीपी को 69 और अन्‍य दलों को 15 सीटें मिलने का अनुमान है।  इंडिया टीवी के सर्वे के अनुसार भाजपा और शिवसेना को महाराष्‍ट्र में 230, कांग्रेस और एनसीपी को 48 और अन्‍य दलों को 10 सीटें मिलने का अनुमान है। इसी तरह आज तक ने सर्वे में भाजपा-शिवसेना को 166-194 तक, कांग्रेस-एनसीपी को 72 से 90 और अन्‍य दलों को 22 से 34 सीटें मिलने का अनुमान है। रिपब्लिक चैनल ने अपने चुनावी सर्वे में महाराष्‍ट्र में भाजपा-शिवसेना को 216-230 सीटें, कांग्रेस-एनसीपी को 44 से 65 तक सीटें और अन्‍य दलों को 8 से 11 सीटें मिलने का अनुमान जताया है। एबीपी और सी वोटर के सर्वे के मुताबिक महाराष्‍ट्र में भाजपा-शिवसेना को 204, कांग्रेस-एनसीपी को 69 और अन्‍य दलों को 15 सीटें मिलने का अनुमान जताया है। 

Haryana & Maharashtra Exit Poll 2019 Live Updates

- एबीपी और सी वोटर के सर्वे के मुताबिक हरियाणा में भाजपा को 72 सीटें मिलने का अनुमान है। वहीं कांग्रेस 8 सीटें और अन्‍य को 10 सीटें मिलने का अनुमान है।   

- न्‍यूज 18 और आईपीएसओएस के सर्वे के मुताबिक हरियाणा में भाजपा को 75 सीटें मिलने का अनुमान है। वहीं कांग्रेस 10 सीटें पर सिमट सकती है।  

- न्‍यूज 18 और आईपीएसओएस के सर्वे के मुताबिक महाराष्‍ट्र में भाजपा और शिवसेना को 243 सीटें मिल सकती हैं। वहीं कांग्रेस गठबंधन 41 सीटों पर सिमट सकता है।

- एबीपी और सी वोटर के सर्वे के मुताबिक महाराष्‍ट्र में भाजपा और शिवसेना को 204 सीटें मिल सकती हैं। वहीं कांग्रेस गठबंधन को 69 सीटें मिल सकती हैं। अन्‍य को 15 सीटें मिल सकती हैं।    

- उत्‍तर महाराष्‍ट्र से लेकर मराठवाड़ा में भी भाजपा-शिवसेना गठबंधन बेहतर स्थिति में दिख रहा है। इससे साफ है कि मराठवाड़ा में भी अपनी सीटें बचाने के लिए एनसीपी को कड़ा संघर्ष करना पड़ रहा है।

- उत्‍तरी महाराष्‍ट्र, विदर्भ, मराठवाड़ा, कोंकण-ठाणे, मुं‍बई समेत महाराष्‍ट्र के लगभग सभी क्षेत्रों में भाजपा और शिवसेना गठबंधन बढ़त बढ़ाता दिख रहा है।

 -भाजपा और शिवसेना को 45 फीसदी वोट मिलने के अनुमान हैं। वहीं कांग्रेस गठबंधन को 35 फीसदी वोट मिलने के अनुमान हैं। 

-इंडिया टुडे एक्सिस माई इंडिया के सर्वे के मुताबिक  महाराष्‍ट्र में भाजपा और कांग्रेस गठबंधनों से अलग लड़ रहे अन्‍य छोटे दलों को 22 से 34 सीटों के बीच मिल सकती हैं।     

-  एक्जिट पोल के नतीजे आने शुरू हो गए है। थोड़ी दी देर में पता चल जाएगा की हरियाणा में किसको कितनी सीटें मिलेंगे।

महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव के लिए मतदान खत्म हो गया है। सभी दलों के साथ आम लोगों को भी एग्जिट पोल के आंकड़ों का बेसब्री से इंतजार है। थोड़ी ही देर में सर्वे एजेंसियां एक्जिट पोल के नतीजे जारी करने लगेंगी। हरियाणा की 90 सीटों और महाराष्ट्र की 288 सीटों पर वोट डाले जा चुके हैं और जल्द इन राज्यों के वोटिंग प्रतिशत भी सामने आ जाएंगे। हालांकि, सुबह से वोटिंग का रुख धीमा रहा है। नतीजे 24 अक्टूबर को घोषित किए जाएंगे।

बता दें कि दोनों ही राज्यों में भारतीय जनता पार्टी की सरकार है। हरियाणा में भाजपा अकेले दम पर सत्ता में है तो महाराष्ट्र में वह शिवसेना के साथ गठबंधन की सरकार चला रही है। दोनों राज्यों में विधानसभा चुनाव के साथ ही देश के लगभग 18 राज्यों की 51 विधानसभा सीटों और दो लोकसभा सीटों के लिए भी आज मतदान हुए हैं। उत्तर प्रदेश की 11, गुजरात की 6, बिहार में 5, असम में 4 और हिमाचल प्रदेश और तमिलनाडु की 2-2 विधानसभा सीटों पर चुनाव हुए हैं।

हरियाणा में 2014 में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा को 47 सीटें, ओम प्रकाश चौटाला की इनेलो को 19 सीटें और कांग्रेस को 15 सीटें मिली थीं। इसी तरह महाराष्ट्र में भाजपा 2014 के चुनाव में सबसे बड़े दल के रूप में उभरी थी, उसे 122 सीटें मिली थीं। इस चुनाव में शिवसेना को 63 सीटें, कांग्रेस को 42 सीटें और एनसीपी को 41 सीटें मिली थीं। हरियाणा में कमजोर विपक्ष के कारण इसबार भाजपा 2014 की तुलना में अधिक सीटों की उम्मीद कर रही है। महाराष्ट्र में भी उसे अधिक सीटें मिलने की उम्मीद है। राज्य में वह 150 सीटों पर चुनाव लड़ रही है। शिवसेना इसबार 124 सीटों पर चुनाव लड़ रही है।

क्या होते हैं एग्जिट पोल

दरअसल, चुनाव के दौरान सर्वे एजेंसिया डेटा क्लेक्शन करती हैं। चुनाव वाले दिन जब मतदाता अपना वोट डालकर बाहर निकलता है तो उससे इस बात की जानकारी ली जाती है कि उसने किसको वोट दिया है। इस डेटा के आधार पर जो नतीजे सामने आते हैं उनको ही एग्जिट पोल कहा जाती है। मतदान के आखिरी दिन ही हमेसा एग्जिट पोल के आंकड़े जारी किए जाते हैं।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.