Rath Yatra Against Temples Attacks: मंदिरों पर हमले के विरोध में आंध्र प्रदेश में भाजपा निकालेगी रथयात्रा

आंध्र प्रदेश भाजपा के महासचिव विष्णु वर्धन रेड्डी

आंध्र प्रदेश भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के महासचिव विष्णु वर्धन रेड्डी ने राज्य में मंदिरों पर हाल के हमलों के खिलाफ रथयात्रा आयोजित करने की योजना बनाई है। भाजपा नेताओं ने ADGP रविशंकर अय्यनार से कपिल तीर्थम से रामा तीर्थम तक रथयात्रा की अनुमति लेने के लिए मुलाकात की है।

Arun kumar SinghWed, 20 Jan 2021 05:33 PM (IST)

 विजयवाडा, एएनआइ। आंध्र प्रदेश भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के महासचिव विष्णु वर्धन रेड्डी ने राज्य में मंदिरों पर हाल के हमलों के खिलाफ रथयात्रा आयोजित करने की योजना बनाई है। विजयवाड़ा में रेड्डी ने बुधवार को बताया कि आंध्र प्रदेश के भाजपा नेताओं ने प्रदेश के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (ADGP) रविशंकर अय्यनार से कपिल तीर्थम से रामा तीर्थम तक रथयात्रा की अनुमति लेने के लिए मुलाकात की है। महासचिव विष्णुवर्धन रेड्डी के नेतृत्व में भाजपा प्रतिनिधिमंडल ने पुलिस को ज्ञापन देकर यात्रा की अनुमति मांगी है।

रेड्डी ने कहा कि उन्होंने पार्टी को दिए गए बैठकों का रूट मैप और विवरण दिया है। भाजपा राज्य में मंदिरों पर हमलों के खिलाफ 4 फरवरी को रथ यात्रा शुरू करने की योजना बना रही है। भाजपा आंध्र प्रदेश के अध्यक्ष सोमू वीरजू के रथयात्रा का नेतृत्व करने की संभावना है।

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगनमोहन रेड्डी ने 5 जनवरी को इस तरह की घटनाओं के लिए विपक्ष को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा था कि राज्य में मंदिरों पर हमलों के पीछे 'राजनीतिक उद्देश्य हैं। जिला कलेक्टरों के साथ एक वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान सीएम ने कहा था कि राज्य में एक नए तरह का राजनीतिक गुरिल्ला युद्ध हो रहा है। राज्य में मंदिरों पर हमलों के पीछे राजनीतिक मकसद हैं। मंदिरों में मूर्तियों को भेजा जा रहा है और अगले दिन ये घटनाएं सोशल मीडिया पर पोस्ट की जाती हैं।

भगवान राम की मूर्ति को कथित रूप से 29 दिसंबर को यहां विजयनगरम जिले के रामतीर्थम में उतारा गया था, जिसके बाद भाजपा कार्यकर्ताओं के एक समूह ने मंदिर परिसर में धरना दिया। 31 दिसंबर को आंध्र प्रदेश पुलिस के डीजीपी गौतम सवांग ने कहा था कि रामतीर्थम में भगवान राम की मूर्ति को हटाने की जांच चल रही है। इसी तरह की एक घटना में पूर्वी गोदावरी जिले के अंटारवेदी में प्रसिद्ध श्री लक्ष्मी नरसिम्हा स्वामी मंदिर के रथ को लेकर 6 सितंबर, 2020 को कथित रूप से आग की चपेट में ले लिया गया था।

मंदिर पर हमले का झूठा प्रचार करने के आरोप में पांच गिरफ्तार

ओंगोल। आंध्र प्रदेश में प्रकाशम जिला पुलिस ने राज्य के विभिन्न हिस्सों में कार्रवाई करते हुए पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। इन लोगों पर मंदिर पर हमले को लेकर झूठा प्रचार करने का आरोप है। झूठा प्रचार करने के लिए इन लोगों ने विभिन्न इंटरनेट मीडिया मंचों का सहारा लिया। खबरों के मुताबिक, पुलिस ने टी अनिल कुमार को ओंगोल, श्रीनिवास राव को गुंटूर, नरेश कुमार रेड्डी को अनंतपुर, देवेंद्र कुमार को विशाखापत्तनम और बोदिचेरला नागामल्लिकार्जुन को कडपा जिले से गिरफ्तार किया है। 

पुलिस अधिकारियों ने व्यक्तिगत रूप से इन लोगों का पता लगाया और फेसबुक, वाट्सएप, ट्विटर, यूट्यूब और अन्य इंटरनेट मीडिया मंचों के जरिये झूठ फैलाने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया। प्रकाशम के पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ कौशल ने बताया कि जो लोग सोचते हैं कि वे इंटरनेट मीडिया पर सांप्रदायिक नफरत फैलाकर बिना अंजाम भुगते कंप्यूटर के पीछे छिप जाएंगे, उन्हें फिर से विचार करना चाहिए। हम उन्हें खोजकर न्याय के दायरे में लाएंगे। इन पांचों को आइपीसी की विभिन्न धाराओं में गिरफ्तार किया गया है।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.