अमेरिका के साथ मुक्त व्यापार समझौते पर इसी महीने होगी वार्ता, बैठक की तैयारियों को लेकर हुई बातचीत

आने वाले 22-23 नवंबर को वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल की अमेरिका की वाणिज्य प्रतिनिधि कैथरीन ताई के साथ द्विपक्षीय वार्ता होगी जिसमें मुक्त व्यापार समझौता (एफटीए) पर खास तौर पर बातचीत होगी। पढ़ें यह रिपोर्ट ...

Krishna Bihari SinghFri, 05 Nov 2021 10:23 PM (IST)
भारत और अमेरिका के बीच तकरीबन हर क्षेत्र में लगातार संवाद का सिलसिला आगे भी जारी रहेगा।

नई दिल्ली, जागरण ब्यूरो। भारत और अमेरिका के बीच तकरीबन हर क्षेत्र में लगातार संवाद का सिलसिला आगे भी जारी रहेगा। इस क्रम में 22-23 नवंबर, 2021 को वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल की अमेरिका की वाणिज्य प्रतिनिधि कैथरीन ताई के साथ द्विपक्षीय वार्ता होगी जिसमें मुक्त व्यापार समझौता (एफटीए) पर खास तौर पर बातचीत होगी।

ताई और गोयल के बीच दो दिन पहले ही वर्चुअल तरीके से आगामी बैठक की तैयारियों को लेकर विमर्श हुआ है। दोनों मंत्रियों के बीच इस बात पर सहमति थी कि भारत और अमेरिका के बीच आर्थिक संबंधों को मजबूत बनाने के लिए नए सिरे से रणनीति बनाने की जरूरत है। बहुत संभव है कि आगामी बैठक के बाद दोनों देशों की तरफ से द्विपक्षीय कारोबार 500 अरब डालर करने का लक्ष्य भी तय होगा।

भारत और अमेरिका के बीच पहली बार कारोबारी समझौता करने को लेकर 2019 में बातचीत शुरू हुई थी। 2020 तक दोनों देशों की तरफ से कहा जाता रहा कि जल्द ही एक संक्षिप्त कारोबारी समझौता किया जाएगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। अब दोनों देशों के बीच एक समग्र एफटीए को लेकर बातचीत शुरू करने पर सहमित बनी है।

हाल ही में भारत और अमेरिका के अधिकारियों के बीच 500 अरब डालर के कारोबारी लक्ष्य को लेकर भी एक वार्ता आयोजित हुई थी। वाणिज्य मंत्री गोयल ने कहा था कि अगर भारत व अमेरिका के बीच कारोबारी समझौता हो जाए तो अगले 10 वर्षों में द्विपक्षीय कारोबार 1,000 अरब डालर भी हो सकता है। इस साल द्विपक्षीय कारोबार 120 अरब डालर रहने की संभावना है। 

सूत्रों की मानें तो नवंबर का महीना भारतीय कूटनीति के लिहाज से काफी व्यस्त रहने वाला है। इस महीने दो बड़ी शक्तियों अमेरिका और रूस के साथ भारत की अहम बैठक होने वाली है। अमेरिका और रूस दोनों के साथ भारत की टू प्लस टू ढांचे के तहत द्विपक्षीय रिश्तों की भावी दिशा पर बैठक होगी। सूत्रों का कहना है कि दोनों देशों के साथ होने वाली इस बैठक में रक्षा क्षेत्र से जुड़े मुद्दे काफी अहम होंगे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.