संबलपुर समेत कुचिंडा और रेढाखोल में खुले कोविड केयर सेंटर

संबलपुर समेत कुचिंडा और रेढाखोल में खुले कोविड केयर सेंटर

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर की भयावहता और संबलपुर जिला में इस संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए जिला प्रशासन की ओर से एक बार फिर कोरोना के खिलाफ जंग की तैयारी शुरू की गई है।

JagranMon, 19 Apr 2021 07:04 PM (IST)

संवाद सूत्र, संबलपुर : कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर की भयावहता और संबलपुर जिला में इस संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए, जिला प्रशासन की ओर से एक बार फिर कोरोना के खिलाफ जंग की तैयारी शुरू की गई है। इसके तहत जिला के संबलपुर मुख्यालय समेत कुचिंडा और रेढ़ाखोल उपसंभाग में तीन कोविड केयर सेंटर समेत जिले के विभिन्न शहरांचलों और ग्रामांचलों में 30 टेंपररी मेडिकल सेंटर और क्लस्टर टेंपररी मेडिकल सेंटर (टीएमसी) तैयार किया गया है। गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण की पहली लहर के दौरान संबलपुर जिला अस्पताल को कोविड हॉस्पिटल में परिवर्तन करने समेत बुर्ला हॉस्पिटल में कोविड केयर सेंटर शुरू किया गया था। बीते अक्टूबर-नवंबर महीने में कोरोना संक्रमण के मामले कम होने के बाद संबलपुर कोविड हॉस्पिटल को बंद कर दिया गया था। जिलाधीश शुभम सक्सेना के अनुसार, जिला में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को ध्यान में रखते हुए बुर्ला स्थित नवनिर्मित अजा/ अजजा हॉस्टल समेत कुचिंडा और रेढ़ाखोल निकाय क्षेत्र में एक-एक कोविड केयर सेंटर तैयार किया गया है। इन सेंटरों में जरूरत के हिसाब से संक्रमितों का इलाज और उन्हें आइसोलेशन किया जाएगा।

इसके अलावा, बुर्ला स्थित आहार केंद्र, रेंटल हाउसिग कंप्लेक्स और संबलपुर विश्वविद्यालय के हॉस्टल, हीराकुद स्थित रेंटल हाउसिग कंप्लेक्स, संबलपुर स्थित नेताजी सुभाषचंद्र बोस कालेज के हॉस्टल, अईंठापाली स्थित आश्रम स्कूल, परिवार योजना केंद्र, अन्वेषा हास्टल, बरेईपाली और पांचगोछिया स्थित सेवाश्रम स्कूल, कुचिंडा निकाय और रेढ़ाखोल स्थित एकलव्य आवासीय मॉडल स्कूल को क्लस्टर टीएमसी बनाया गया है। इन सेंटरों में मरीजों के रहने, खाने-पीने, शौचालय, पेयजल आदि की व्यवस्था की गई है।

-----------------

पश्चिम ओडिशा के सात जिलों में कोरोना संक्रमण बेकाबू

- सुंदरगढ़ 722, नुंआपाड़ा 437, कालाहांडी 273, संबलपुर 241

संवाद सूत्र, संबलपुर : सूबे के पूर्वी और उत्तरी ओडिशा के मुकाबले पश्चिम ओडिशा में कोरोना संक्रमण बेकाबू सा हो गया है। सोमवार के दिन जहां समूचे ओडिशा में संक्रमण के 4445 मामले सामने आए , वहीं पश्चिम ओडिशा के दस जिलों में संक्रमितों की संख्या 2329 रही। सुंदरगढ़ जिला में सर्वाधिक 722 और नुंआपाड़ा जिला में संक्रमितों की संख्या 437 रही। बताया गया है कि पड़ोसी छत्तीसगढ़ और झारखंड से चोरी छिपे आने वालों की वजह से यह खतरा पैदा हुआ है। ओडिशा से सटे पड़ोसी राज्यों की सीमाओं पर कड़े पहरे और जांच के बावजूद लोग जंगली रास्तों से ओडिशा में प्रवेश कर रहे हैं। यही वजह है कि सीमा से सटे ओडिशा के कई जिलों में संक्रमितों की संख्या काफी अधिक है, जबकि सीमा से दूर सोनपुर, देवगढ़ और बऊद जिला में यह संक्रमण काफी कम है।

पिछले दिनों की तरह सोमवार के दिन भी छतीसगढ़ और झारखंड की सीमा से सटे सुंदरगढ़ जिला कोरोना संक्रमण के 722 मामलों के साथ सबसे ऊपर रहा। इसके बाद, छत्तीसगढ़ की सीमा से सटे नुंआपाड़ा जिला में 437, कालाहांडी जिला में 273, संबलपुर जिला में 241, झारसुगुड़ा जिला में 231संक्रमित मिले। इनके अलावा, बरगढ़ जिला में 178, बलांगीर जिला में168, देवगढ़ जिला में 35, सोनपुर जिला में 22 और बऊद जिला में 21 संक्रमित मिले।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.