बरसुआं में ट्रक चालक की हत्या की गुत्थी सुलझी

लहुणीपाड़ा थाना की पुलिस ने बरसुआं गेट के पास ट्रक चालक 55 वर्षीय मो. रफीक की हत्या की गुत्थी सुलझा ली है एवं इस मामले में दंपती को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया जहां से उन्हें जेल भेजा गया है।

JagranPublish:Mon, 19 Apr 2021 07:07 AM (IST) Updated:Mon, 19 Apr 2021 07:07 AM (IST)
बरसुआं में ट्रक चालक की हत्या की गुत्थी सुलझी
बरसुआं में ट्रक चालक की हत्या की गुत्थी सुलझी

जागरण संवाददाता, राउरकेला : लहुणीपाड़ा थाना की पुलिस ने बरसुआं गेट के पास ट्रक चालक 55 वर्षीय मो. रफीक की हत्या की गुत्थी सुलझा ली है एवं इस मामले में दंपती को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेजा गया है। अवैध संबंध के चलते इस घटना को अंजाम दिए जाने का पता चला है।

मो. रफीक शश्यकला गांव में 15 साल से रहकर ट्रक चला रहा था। 10 अप्रैल को वह तालडीह माइंस से अयस्क लेकर बरसुआं साइडिग जा रहा था। उसने रात को बेटे को फोन कर भोजन ला देने को कहा। बेटा भोजन लेकर आया एवं मो. रफीक ने बरसुआं में बिरसा चौक के पास होटल में भोजन किया। सुबह उसका शव मिला। सिर में गंभीर चोट के निशान थे। साइंटिफिक टीम बुलाकर लहुणीपाड़ा थाना की पुलिस इस घटना की जांच शुरू की थी। पुलिस को पता चला कि मो. रफीक का बणेश्वर समंतिया के घर आना जाना था। मो. रफीक का मीना समंतिया के साथ मिलना जुलना पति बणेश्वर को मंजूर नहीं था एवं इसी बात को लेकर उनके बीच मारपीट भी हुई थी। इसके बाद भी मो. रफीक नहीं मान रहा था। इस कारण उसकी हत्या की योजना बनाई। घटना वाली रात को मो. रफीक के ट्रक लेकर जाने की सूचना पाकर दोनों लोहे की छड़ लेकर उसके आने का इंतजार कर रहे थे। जैसे ही मो. रफीक वहां पहुंचा और उन्हें देख कर रुका वैसे ही दोनों ने मिलकर उसपर हमला कर दिया। सिर में गंभीर चोट के कारण वह गिर गया एवं मौके पर ही उसकी मौत हो गई। इसके बाद उसे खेत में ले जाकर सिर पत्थर से कुचल दिया। पुलिस द्वारा हत्या की गुत्थी सुलझाने के साथ ही दोनों आरोपितों को गिरफ्तार किया। साथ ही हत्या में प्रयुक्त सामान भी जब्त किए गए। दोनों के खिलाफ मामला दर्ज कर उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।