top menutop menutop menu

मुफ्त में इलाज व स्वास्थ्य जांच के नाम पर अवैध वूसली

जासं, राउरकेला : मुफ्त में आयुर्वेदिक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य शिविर का लाभ मिलने का झांसा देकर लोगों का पंजीकरण कराया एवं परिवार के प्रत्येक सदस्य से इसके लिए 30 रुपये वसूले जा रहे हैं। आशुतोष नवज्योति फाउंडेशन के नाम से लोगों को प्रमाणपत्र देने का आरोप लगाया गया है। सुंदरगढ़ जिले के लेफ्रिपाड़ा ब्लाक में एजेंटों के जरिए हो रही अवैध वसूली के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई है। संस्था के अलपका के एजेंट तारा भगत ने बताया कि स्थानीय पंचायत के जन प्रतिनिधि, आशा कर्मी, आंगनबाड़ी कर्मी को चिकित्सा शिविर एवं इलाज के लिए सिफारिश की गई थी। इसके बाद स्वास्थ्य कार्ड बनाने के लिए प्रत्येक सदस्य के लिए 30 रुपये लिया जा रहा है। बीडीओ रमेश हांसदा ने इस संबंध में किसी तरह का पत्र मिलने से इंकार किया है, जबकि टांगरपाली के बीडीओ को 7 अगस्त 2019 को राउरकेला के आशुतोष इंटरप्राइजेज से पत्र लिखा गया है। बीडीओ सौमेन्द्र कुमार दास ने अगस्त 2019 मे सभी सरपंचों को इससे संबंधित जानकारी देने की बात कही है। उज्जवलपुर में संस्था के संयोजक वीरेन्द्र कुमार साहू ने पंजीकरण के बाद परिवार तक पार्सल से दवा पहुंचाने के लिए 275 रुपये लेने की बात कही। आदिवासी बहुल सुंदरगढ़ जिले के विभिन्न क्षेत्रों में एजेंट नियुक्त कर पंजीकरण कराने व लोगों से शोषण करने वाली संस्था के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई है।

कोट-

आशुतोष नवज्योति फाउंडेशन ने जिले में अस्थायी शिविर लगाकर ग्रामीणों को योग, प्राणायाम, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने, देसी दवा तैयार कर मुफ्त में देने के लिए अनुमति मांगी गई थी। दवा के एवज में किसी तरह की रकम लेने की अनुमति नहीं दी गई है। इस संबंध में शिकायत मिलने पर संस्था के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

- डॉ. सरोज कुमार मिश्र, जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी, सुंदरगढ़।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.