सुंदरगढ़ जिले के1.69 लाख विद्यार्थियों को मिलेगी पोशाक

सुंदरगढ़ जिले में वित्त वर्ष 2021-22 में निर्धन अनुसूचित जाति व जनजाति तथा पिछड़े वर्ग के 1.69 लाख बच्चों को पोशाक दी जाएगी।

JagranThu, 29 Jul 2021 09:08 AM (IST)
सुंदरगढ़ जिले के1.69 लाख विद्यार्थियों को मिलेगी पोशाक

जागरण संवाददाता, राउरकेला : सुंदरगढ़ जिले में वित्त वर्ष 2021-22 में निर्धन अनुसूचित जाति व जनजाति तथा पिछड़े वर्ग के 1.69 लाख बच्चों को पोशाक दी जाएगी। इसके लिए जिला परियोजना अधिकारी के कार्यालय को 10.16 करोड़ रुपये सरकार से मिले हैं। विभाग की ओर से स्कूल प्रबंधन कमेटी को 30 जुलाई तक विनियोग प्रमाणपत्र (यूसी) मांगा गया है। इतने कम समय में स्कूल प्रबंधन की बैठक बुलाने, पोशाक व जूता खरीद कर उन्हें वितरण का कार्य पूरा कर प्रमाणपत्र देना मुश्किल हो गया है।

जिले के अनुसूचित जाति, जनजाति, बीपीएल तथा ओड़िया आदर्श स्कूल के बच्चों को दो जोड़ी पोशाक व जूता मुफ्त में देने की योजना है। जिले के अधिकतर स्कूलों में इसके लिए राशि प्रबंधन कमेटी के एकाउंट में नहीं आई है। पर समग्र शिक्षा के जिला परियोजना संयोजक की ओर से यूसी दाखिल करने के लिए ब्लाक शिक्षा अधिकारियों को पत्र लिखा गया है। उन्हें 30 जुलाई तक यूसी देना है। तीन दिनों के अंदर बैठक करने तथा जूता व पोशाक खरीद कर यूसी जमा करना उनके लिए मुश्किल काम है। वर्ष 2021-22 में सुंदरगढ़ जिले में 53 हजार 501 अनुसूचित जनजाति बालक, 11 हजार 452 अनुसूचित जाति बालक, 19 हजार 945 बीपीएल बालक, पहली से आठवीं कक्षा तक के कुल 84 हजार 517 बालिका समेत कुल 1 लाख 69 हजार 415 विद्यार्थियों को पोशाक दी जाएगी। प्रत्येक विद्यार्थी पर 600 रुपये के हिसाब से कुल 10 करोड़ 16 लाख 49 हजार रुपये मंजूर किए गए हैं। बड़गांव ब्लाक के 6 हजार 413, सबडेगा के 5 हजार 061, सुंदरगढ़ सदर के 7 हजार 522, लेफ्रीपाड़ा के 7 हजार 371, टांगरपाली के 5 हजार 939, बालीशंकरा के 8 हजार 513, लाठीकटा के 11 हजार 190, राजगांगपुर के 10 हजार 546, कोइड़ा के 14 हजार 632, बणई के 7 हजार 769, लहुणीपाड़ा के 12 हजार 964, कुआरमुंडा के 11 हजार 483, बिरसा के 24 हजार 41, गुरुंडिया के 7 हजार 502, कुतरा के 7 हजार 46, हेमगिर के 8 हजार 702, नुआगांव के 9 हजार 904 विद्यार्थियों को मुफ्त में पोशाक दी जानी है। इनमें से ओडिशा आदर्श स्कूल के 2 हजार 815 बच्चे हैं। इसमें सुंदरगढ़ सदर के 80, लेफ्रीपाड़ा के 243, कोइड़ा के 218, हेमगिर के 168, बणई के 200, सबडेगा के 240, गुरुंडिया के 224, कुआरमुंडा के 240, लहुणीपाड़ा के 242, बिसरा के 236, लाठीकटा के 249, राजगांगपुर के 240, नुआगांव ब्लाक के 236 विद्यार्थी शामिल हैं। सरकार के निर्देश के अनुसार, एसएमसी व स्कूल के प्रधानाध्यापक के संयुक्त खाते में राशि आती है। इसके बाद बैठक कर पोशाक, जूता खरीदने पर चर्चा होती है। 50 हजार रुपये से अधिक की पोशाक की खरीदी पर टेंडर होता है एवं योग्य संस्था को इसका दायित्व दिया जाता है इसमें कम से कम आठ से दस दिन का समय लगता है। बड़ी संख्या में स्कूलों के एकाउंट में पैसा नहीं आया है पर ब्लाक शिक्षा अधिकारियों को 30 जुलाई तक यूसी देने के लिए पत्र लिखा गया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.