Puri Jagannath Temple: महाप्रभु श्री जगन्नाथ जी को भक्‍त ने दान किए 5 किलो सोने के आभूषण

एक दानदाता भक्त ने महाप्रभु श्री जगन्नाथ जी को 5 किलो सोने के आभूषण दान कियेे

Puri Jagannath Temple महाप्रभु श्री जगन्नाथ जी को एक भक्‍त ने 4 किलो 858 ग्राम सोना तथा 3 किलो 886 ग्राम चांदी के आभूषण दान में दिए हैं। इन आभूषणों का प्रयोग महाप्रभु के विभिन्न वेश के समय किया जाएगा।

Babita KashyapWed, 17 Feb 2021 11:34 AM (IST)

पुरी, जागरण संवाददाता। महाप्रभु श्री जगन्नाथ जी को एक दानदाता भक्त ने 5 किलो सोने के आभूषण दान कियेे है। सोने के आभूषण में बलभद्र जी के लिए 40 श्रीमुख पद्म एवं दो झोबा, महाप्रभु श्री जगन्नाथ जी के लिए 53 श्रीमुख पद्म तथा दो झोबा, देवी सुभद्रा जी के लिए दो तड़की एवं दो झोबा दान किया है। इन सभी आभूषणों में 4 किलो 858 ग्राम सोना तथा 3 किलो 886 ग्राम चांदी का प्रयोग किया गया है।

 श्रीमंदिर प्रशासन के मुख्य कार्यालय में मुख्य प्रशासक डा. किशन कुमार से मुलाकात कर दानदाता के प्रतिनिधि ने यह दान दिया है। इस अवसर पर श्रीमंदिर संचालन कमेटी के सदस्य रामचन्द्र दास महापात्र, माधव चन्द्र महापात्र, माधव पूजापंडा सामन्त, तलुच्छ नीलकंठ महापात्र, अनत डीआईडी, एवं जनार्दन पाटजोशी महापात्र के साथ श्रीमंदिर प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। महाप्रभु के विभिन्न वेश के समय इस अलंकार का उपयोग किया जाएगा।

 गौरतलब है कि इससे पहले भी  महाप्रभु श्री जगन्नाथ, प्रभु बलभद्र एवं देवी सुभद्रा के लिए एक भक्त ने सोने से बना चन्द्र-सूर्य दान में दिये थे। भुवनेश्वर निवासी इस भक्‍त ने श्रीमंदिर कार्यालय में मुख्य प्रशासक की उपस्थिति में महाप्रभु के उद्देश्य से यह दान दिया था। इस चन्द्र-सूर्य के निर्माण में 319 ग्राम सोना एवं 822 ग्राम चांदी का प्रयोग किया गया था।

 भक्त ने दान में दी 21 किलो चांदी

नव वर्ष के शुरुआत में एक भक्‍त ने महाप्रभु श्री जगन्नाथ जी को 21 किलो चांदी दान में दी थी। भुवनेश्‍वर के रहने वाले इस भक्‍त का नाम  शिव प्रसाद पंडा है। शिव पंडा ने रत्न सिंहासन में विराजमान चतुर्धा विग्रह के साथ अधिष्ठित भूदेवी, श्रीदेवी तथा मदन मोहन के नए प्रभा निर्माण के लिए चांदी दान में दी थी। उल्लेखनीय है कि मदनमोहन, भूदेवी, श्रीदेवी महाप्रभु श्री जगन्नाथ जी की चलंति प्रतिमा हैं। विभिन्न खास अवसरों पर इन चलंति विग्रहों के जरिए ही नीति सम्पन्न की जाती है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.