आपदाओं से निपटने के लिए प्रशिक्षण की नितांत जरूरत

आपदाओं से निपटने के लिए प्रशिक्षण की नितांत जरूरत

भूत बंगला चौक के नजदीक स्थित नॉमी डेनियल्स कार्यालय परिसर में अग्निकांड एवं बाढ़ आदि प्राकृतिक आपदाओं से मुकाबला करने के आवश्यक रणनीति को लेकर शनिवार को कार्यशाला हुई। कार्यशाला का उद्घाटन नॉमी डेनियल्स के निदेशक डा. विजय कुमार पटनायक ने किया।

JagranSun, 28 Feb 2021 09:03 PM (IST)

संसू, ब्रजराजनगर : भूत बंगला चौक के नजदीक स्थित नॉमी डेनियल्स कार्यालय परिसर में अग्निकांड एवं बाढ़ आदि प्राकृतिक आपदाओं से मुकाबला करने के आवश्यक रणनीति को लेकर शनिवार को कार्यशाला हुई। कार्यशाला का उद्घाटन नॉमी डेनियल्स के निदेशक डा. विजय कुमार पटनायक ने किया। संस्था की कार्यक्रम प्रबंधक प्रेम मंजरी सुना ने समारोह की अध्यक्षता करते हुए कहा कि प्राकृतिक आपदाओं से निपटने के लिए प्रशिक्षण को नितांत जरूरी बताया। उन्होंने कहा कि आपदा से बचाव की जानकारी के लिए इस तरह के कार्यक्रमों का आयोजन नियमित अंतराल पर होना चाहिए। जिला प्राकृतिक आपदा प्रबंधन विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने बताया की किस तरह अग्निकांड व बाढ़ जैसी आपदाओं से निपटना चाहिए ताकि कम से कम समय में अधिक से अधिक जान व माल को बचाया जा सके। कार्यशाला में बहादुर थापा, विष्णु प्रधान, संजीव थापा, बमबहादुर खेत्री, यमराज पान, दुर्गाप्रसाद नेवर, हिमबहादुर खेत्री, राम बहादुर गुरुंग इत्यादि ने प्रशिक्षकों का दायित्व निभाया। रजिया बारीक ने धन्यवाद ज्ञापन दिया। भारती किसान, खुशबू गुप्ता तथा कैलासिनी तांती आदि ने सहयोग किया।

ओडिशा वनांचल विकास परियोजना-2 की वार्षिक समीक्षा

संसू, झारसुगुड़ा : वनखंड स्तरीय वनांचल विकास परियोजना-2 की वार्षिक समीक्षा बैठक झारसुगुड़ा स्थित होटल माइक्रो कॉन्टिनेंटल के सभा कक्ष में हुई। जिलाधीश सरोज कुमार श्यामल ने कहा कि जंगल व पर्यावरण को सुरक्षित रखने के लिए वन समिति का कर्तव्य होना जरूरी है। अन्यतम सम्मानित अतिथि के रूप में जिला ग्राम विकास संस्था के परियोजना निर्देशक तपीराम मांझी, मुख्य वक्ता के रूप में संबलपुर पूर्व कुलपति डा. दूबराज नायक ने अंश ग्रहण कर जंगल सुरक्षा समिति के सदस्यों को अपने दायित्व को निर्वाह देने की बात पर जोर दिए। वन अधिकारी ललित पात्र ने बैठक कि अध्यक्षता कि थी। कोलाबीरा, बागडीह व बेलपहाड़ वनाचंल के अधिकारी व वन समिति के सदस्य व सदस्याओं ने इसमें भाग लेकर अपने अपने अनुभव को प्रगट किए। मौके पर श्रेष्ठ चुने गए वन सुरक्षा वन समिति के सहायक, सहायिका को पुरस्कृत किया गया। महिला स्वयं सहायक समूह द्वारा उत्पादित विभिन्न सामग्री का भी प्रर्दशन किया गया। बैठक का संचालन सहायक वन संरक्षक सुष्मिता साहू ने किया था। अंत में एसएमएस जगदीश चंद्र बेहरा ने धन्यवाद अर्पण किया था।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.