मोमो के जाल में फंसने से बाल-बाल बची छात्रा

कटक, जेएनएन। जानलेवा खेल मोमो चैलेंज आर सभी जगहों में चर्चा का विषय बना हुआ है। हाल ही में राउरकेला के एक छात्र इस खेल के चक्कर में फंसकर अपनी जान गंवाई थी। वहीं मंगलवार को कटक की एक कॉलेज छात्रा मोमो के जाल में फंस गई, लेकिन समझदारी से काम लेते हुए फोन को बंद कर देने के बाद वह मोमो चैलेंज के पंजे में फंसने से बाल-बाल बच गई है। इसके बाद छात्रा के परिवार वालों ने उक्त फोन को बंद कर दिया है।

सूचना के मुताबिक कटक काजीढीअ श्रीरामनगर इलाके की एक कॉलेज छात्रा के वाट्सएप पर मोमो चैलेंज गेम का लिंक आया। इसमें एडमीन ने शीशा के सामने खड़ा होकर अपनी चोटी को मुंह के आगे डालकर सेल्फी लेकर उसे फोटो को लिंक में छोड़ने का निर्देश दिया। इस निर्देश के बाद छात्रा ने सेल्फी लेकर फोटो छोड़ दिया। बाद में उसे अपना हाथ काटने का निर्देश दिया गया है। यह निर्देश आने के बाद छात्रा डर गई और वह हाथ काटने के बजाय समझदारी से काम लेते हुए उस गेम को अपने मोबाइल फोन से अन स्टाल कर निकाल दिया। लेकिन गेम अनस्टाल नहीं हुआ और फिर से स्टाल हो गया। इसके बाद छात्रा को चेतावनी आई कि वह अनस्टाल किया तो एकाउंट नंबर हैंक हो जाएगा। इससे छात्रा परेशान हो गई और किसी को कुछ बताए बगैर फोन को स्वीच ऑफ कर दिया। ऐसे में परिवार वालों ने छात्रा की मानसिक स्थिति के बारे में जानना चाहा तो छात्रा ने सभी बाते बताई। इसके बाद परिवार वाले इसे गंभीरता से लेते हुए मोबाइल को बंद कर दिया है। इसी समझदारी के वजह से छात्रा की जान का फीलहाल कोई खतरा नहीं है। 

ओडिशा में एक और युवक की गई जान 

कटक जिला के माहांगा थाना अंतर्गत भद्रेश्वर पुलिस चौकी के उमर गांव में एक युवक ने मोमो गेम खेलकर आत्महत्या कर ली है। यह आरोप बुधवार को उसके परिवार वालों ने लगाया है। मरने वाला युवक अलेख बेहेरा का बड़ा बेटा उमाकांत बेहेरा है। इससे पहले राउरकेला में एक छात्र की जान मोमो गेम के कारण गई थी और मंगलवार को अन्य एक छात्रा की जान जाते जाते बच गई है।

सूचना के मुताबिक उमाकांत चेन्नई में मजदूरी करता था। कुछ दिन पहले ही वह अपने घर आया था। घर में वह ज्यादा समय मोबाइल पर गेम खेलने में बिताता था। मंगलवार की रात वह आत्महत्या कर लिया। उसके मोबाइल फोन में मोमो गेम डाऊनलोड होने की बात जांच से पता चली है। इस संदर्भ में बुधवार को उमाकांत के पिता ने थाना में शिकायत की है। पुलिस आरोप के आधार पर 13-18 में एक मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस अधिकारी पवित्र महारणा ने कहा है कि जांच के बाद मृत्यु का सही कारण पता चलेगा। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.