कुटीर उद्योग के नाम पर 1000 महिलाएं हुई ठगी का शिकार, करोड़ों की ठगी करने वाला चार्टर्ड अकाउंटेंट गिरफ्तार

कुटीर उद्योग के नाम पर चार्टर्ड अकाउंटेंट ने गुट बनाकर 1000 से अधिक महिलाओं को ठगा है। इस शख्‍स का नाम संजीत कुमार परीजा बताया गया है। 5 महिलाओं को लेकर एक ग्रुप बनाया था हर ग्रुप की महिला ने सदस्यता के तौर पर 2 हजार रूपए दिये थे।

Babita KashyapThu, 22 Jul 2021 02:27 PM (IST)
1000 से अधिक महिला ठगी का शिकार हुई हैं।

कटक, जागरण संवाददाता। कुटीर उद्योग के नाम पर एक चार्टर्ड अकाउंटेंट ने गांव-गांव में जाकर स्वयं सहायक गुट बनाकर करीब एक करोड़ से अधिक रुपए की ठगी की है। करीब 1000 से अधिक महिला ठगी का शिकार हुई हैं। पिछले 5 सालों से इस तरह की ठगी करने वाला आरोपी को बदामबाड़ी थाना पुलिस आखिरकार गिरफ्तार किया है। उस का नाम संजीत कुमार परीजा है और घर जगतसिंहपुर जिला तिर्तोल थाना अंतर्गत अलकना गांव में है। पुलिस ने इस शख्‍स के पास से कई अहम कागजात भी बरामद किये हैं ।

 मिली जानकारी के मुताबिक, वाणिज्य का छात्र संजीत चार्टर्ड अकाउंटेंट पढ़ने के बाद ग्रामीण इलाकों की महिलाओं से ठगी करने के लिए विधिवत योजना बनायी थी । 5 साल पहले एचपी एंटरप्राइजर्स और पी पी एंटरप्राइजर्स के नाम से जगतसिंहपुर के साथ-साथ कटक, भुवनेश्वर, खुरदा, पुरी, केंद्रपड़ा आदि जिले में संस्थान खोला था। ग्रामीण इलाकों की महिलाओं को कुटीर उद्योग में इस्तेमाल किए जाने वाली कई मशीन जैसे अगरबत्ती, बुफे की कागज प्लेट आदि के मशीन मुहैया कराने के लिए झांसा दिया था। इन मशीनों के द्वारा सामान तैयार होने के बाद बाजार में बेचा जाएगा और उसके बाद महिलाओं को रुपया दिया जाने के बारे में विज्ञापन भी प्रकाशित किया था । 5 महिलाओं को लेकर एक ग्रुप बनाया था हर ग्रुप की महिला ने सदस्यता के तौर पर 2 हजार रूपए दिये थे।

कटक बादामबाड़ी थाना अंतर्गत शंकरपुर दास साही में दफ्तर खोल कर रानीहाट केनाल रोड, शक्ति नगर शंकरपुर आदि इलाके में करीब 60 से अधिक ग्रुप खोला थे और इन लोगों से 6 लाख से अधिक रुपए मशीन मुहैया किए करने के लिए वसूला था। मशीन खरीदी गयी है, यह बताते हुए महिलाओं को फोटो भी भेजा था। लेकिन काफी दिनों के इंतजार के बाद जब मशीन नहीं पहुंची तो तमाम महिला सदस्य दास साही में मौजूद दफ्तर में पहुंच गई । लेकिन वहां पर संस्थान के मालिक संजीत ने महिलाओं को गाली गलौज कर निकाल दिया था । लेकिन यह ठगी का मामला होने की बात जानकर पिछले जून 30 तारीख को शंकरपुर दास साही की महिला तपस्विनी पात्र पहली बार बदामबाड़ी थाने में मामला दर्ज किया। उसके बाद फिर और दो मामला जुलाई महीना में बदामबाड़ी में थाने में पहुंचा और बुधवार को भुवनेश्वर से और 15 उसी तरह की ठगी का मामला बादामबाड़ी थाने में दर्ज किया गया। ऐसे में पुलिस अनुमान लगा रही है कि, इस शख्‍स ने करोड़ों रुपए का ठगी की है। क्योंकि दिन-ब-दिन उसके खिलाफ आरोप का पन्ना बढ़ता जा रहा है। पुलिस संजीत को गिरफ्तार करने के साथ-साथ उसके पास से कई कागजात बरामद किये हैं । जिनमें से कुछ फर्जी होने की बात ही पुलिस जांच में सामने आई है। फिलहाल पुलिस इस घटने की अधिक छानबीन में जुटी है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.