Odisha Rain: ओडिशा में भारी बारिश से जनजीवन प्रभावित

Odisha Rain ओडिशा में मौसम विभाग ने भुवनेश्वर व व्यापारिक नगरी कटक के लिए आरेंज वार्निंग जारी करते हुए लोगों से सतर्क रहने का सुझाव देने के साथ ही मछुआरों को समुद्र में ना जाने की सलाह दी है।

Sachin Kumar MishraSun, 12 Sep 2021 02:46 PM (IST)
ओडिशा में तीन दिनों तक जारी रहेगा बारिश का दौर। फाइल फोटो

भुवनेश्वर, जागरण संवाददाता। ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर में रविवार अपराह्न को हुई मूसलाधार बारिश से सामान्य जनजवीन बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। आलम यह था कि गली-नाले भर गए। नालियों का गंदा पानी घरों में घुसने लगा। सड़कों पर घुटने भर पानी भर जाने से कुछ समय के लिए ट्रैफिक थम गया। अपार्टमेंट की दीवार पानी के बहाव में बह गई। बड़े-बड़े पेड़ उखड़ कर गिर गए। सड़कों पर खड़ीं कार व आटो रिक्शा पानी के बहाव में बहने लगे। 35 से 40 मिनट की मूसलाधार बारिश में ही पूरी राजधानी पानी-पानी हो गई। मौसम विभाग ने भुवनेश्वर व व्यापारिक नगरी कटक के लिए आरेंज वार्निंग जारी करते हुए लोगों से सतर्क रहने का सुझाव देने के साथ ही मछुआरों को समुद्र में ना जाने की सलाह दी है।

मौसम विभाग ने कहा कि उत्तर-पश्चिम सागर में सक्रिय कम दबाव के प्रभाव के चलते शुरू हुआ बारिश का दौर 14 सितंबर तक जारी रहेगा। सात जिलों में भारी बारिश होने को लेकर रेड अलर्ट जारी किया गया है। इन सात जिलों में पुरी, खुर्दा, कटक, जगत सिंह पुर, केन्द्रापड़ा, ढेंकानाल तथा नयागड़ जिला शामिल हैं। वहीं, गंजाम, कंधमाल, बौद्ध, अनुगुल, जाजपुर, भद्रक जिले के लिए आरेंज अलर्ट जारी किया गया है। कालाहांडी, बलांगीर, सोनपुर, संबलपुर, देवगड़, केन्दुझर, मयूरभंज, बालेश्वर जिले के लिए मौसम विभाग ने रविवार के लिए यलो अलर्ट जारी किया है। 13 सितंबर के लिए लिए रेड व आरेंज अलर्ट जारी किया है, जबकि 14 सितंबर को बरगड़, झारसुगुड़ा, सुंदरगढ़ व केन्दुझर जिले के लिए यलो अलर्ट जारी किया गया है।

बंगोप सागर क्षेत्र में बना कम दबाव क्षेत्र अगले 48 घंटे में उत्तर-पश्चिम दिशा की तरफ गति करेगा और धीरे-धीरे अधिक सक्रिय होकर लो प्रेसर में तब्दील होगा। बंगोप सागर तथा उत्तर ओडिशा व पश्चिम बंगाल तट के ऊपर यह कम दबाव का क्षेत्र बनेगा। इसके प्रभाव से रविवार को राज्य के आठ जिले पुरी, खुर्दा, कटक, जगत सिंह पुर, केन्द्रापड़ा, ढेंकानाल, जाजपुर, जिले में भारी बारिश होने की संभावना है। राजधानी में अपराह्न में हुई भारी बारिश के बाद आचार्य विहार, पुरी रोड, इस्कन मंदिर, कटक-पुरी रोड, बमीखाल, रसुलगड़, जीजीपी कालोनी, सैनिक स्कूल आदि निचले इलाकों में जल जमाव होने से पंपिंगसेट लगाकर जल निकासी की गई। रसुलगड़ इंडस्ट्रियल एरिया में मौजूद वैष्णव मोनार्क अपार्टमेंट की चाहरदीवारी पानी के तेज बहाव में बह गई है। बाणी विहार, रसुलगड़ आदि कुछ जगहों पर बड़े-बड़े गिर गए हैं। मौसम विभाग ने रात में तीन से चार सेमी बारिश होने की चेतावनी जारी करते हुए लोगों से सतर्क रहने को कहा है। मछुआरों को समुद्र में ना जाने की हिदायत दी है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.