Odisha IAS Cadre Promotion: ओडिशा में शिक्षकों को आइएएस कैडर में प्रोन्नति देने का प्रस्ताव

Odisha IAS Cadre Promotion ओडिशा में उच्च शिक्षा विभाग ने पहली बार ओडिशा शिक्षा सेवा कैडर के अफसरों व शिक्षकों को भी आइएएस के रूप में पर पदोन्नति देने की सिफारिश की है। इससे पहले गैर प्रशासनिक सेवा वर्ग की गिनी-चुनी सेवाओं के अफसरों को ही मौका मिलता रहा है।

Sachin Kumar MishraSat, 18 Sep 2021 08:46 PM (IST)
ओडिशा में शिक्षकों को आइएएस कैडर में प्रोन्नति देने का प्रस्ताव। फाइल फोटो

जागरण संवाददाता, भुवनेश्वर (ओडिशा)। नई शिक्षा नीति में बेहतरीन शिक्षकों को प्रोत्साहन, वेतन वृद्धि और मेरिट के आधार पर उच्चतम स्तर तक पदोन्नति के अवसर उपलब्ध कराने की बात कही गई है। ओडिशा में यह परिकल्पना साकार होती दिख रही है। सबकुछ ठीक रहा तो ओडिशा में जल्द ही ऐसे शिक्षकों को आइएएस अफसर के रूप में प्रोन्नति मिल सकती है। हालांकि यहां अभी यह परिस्थिति संयोगवश ही बनी है। फिर भी शिक्षा विभाग की ओर से भेजे गए प्रस्ताव को लेकर शिक्षकों में उत्साह है। ओडिशा में उच्च शिक्षा विभाग ने पहली बार ओडिशा शिक्षा सेवा कैडर के अधिकारियों और अध्यापकों को भी आइएएस के रूप में पर पदोन्नति देने की सिफारिश की है। इससे पहले गैर प्रशासनिक सेवा वर्ग की गिनी-चुनी सेवाओं के अफसरों को ही यह मौका मिलता रहा है। जानकारों का मानना है कि शिक्षकों के प्रशासनिक सेवा में पदोन्नत होने से प्रशासन का दूरदर्शी और संवेदनशील चेहरा सामने आ सकता है।

ग्रुप ए में आ चुके शिक्षकों को मिलेगा लाभ

उच्च शिक्षा विभाग की तरफ से यह तर्क दिया गया है कि गैर प्रशासनिक सेवा सूची में ओडिशा शिक्षा सेवा कैडर को शामिल नहीं किया जा रहा है। इससे ग्रुप ए वर्ग के अधिकारी ओडिशा कैडर के आइएएस के रूप में प्रोन्नत होने से वंचित हो रहे हैं। ओडिशा शिक्षा सेवा (ओइएस) कैडर में अध्यापक ग्रुप बी अधिकारी के तौर पर नियुक्त होने के आठ साल बाद ग्रुप ए वर्ग में पदोन्नति पाते हैं। उनका वेतनमान 9300 से 34,800 (ग्रेड पे 54 हजार रुपये) रहता है। यह ओइएस कैडर के डिप्टी कलेक्टर स्तर के समान है। ऐसे में गैर प्रशासनिक सेवा वर्ग में ग्रुप ए के अध्यापकों को आइएएस संवर्ग में प्रोन्न्त किया जा सकता है। इसी आधार पर सिफारिश की गई है। उच्च शिक्षा विभाग ने सामान्य प्रशासन विभाग को यह प्रस्ताव भेजा है।

सभी विभागों से मांगे गए हैं सुझाव

ओडिशा में सात अप्रैल को सामान्य प्रशासन विभाग ने राज्य के सभी विभागों को पत्र लिखकर चयन कोटा में खाली पड़े तीन आइएएस पद को भरने के लिए राज्य के गैर प्रशासनिक सेवा अधिकारी (एनएससीएस) की सूची छह मई तक भेजने का अनुरोध किया था। हालांकि चार विभागों को छोड़ कर किसी ने भी नाम नहीं भेजा। ऐसे में सामान्य प्रशासन विभाग ने दोबारा 18 अगस्त को सभी विभागों को रिमांइडर भेजकर आठ सितंबर तक सूची देने को कहा था। अभी तक 12 विभागों ने अपनी सूची नहीं भेजी है। प्रशासनिक सेवा में प्रोन्नति योग्य अधिकारी उपलब्ध नहीं होने के कारण गैर प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों को आइएएस के रूप में पदोन्नति देने का प्रविधान है। ओडिशा में कुल 248 पंजीकृत आइएएस कैडर के पद में 10 पद गैर प्रशासनिक सेवा के लिए है। इनमें तीन पद अभी खाली हैं। राज्य में वर्तमान में विभिन्न विभागों में गैर प्रशासनिक सेवा में प्रथम श्रेणी वर्ग के करीब तीन हजार से अधिक अधिकारी कार्य कर रहे हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.