ऑक्‍सीजन कैपिटल ऑफ इंडिया बना ओडिशा: जानें अब तक किस राज्‍य को हुई कितनी Oxygen Supply

कोरोना महामारी में पूरे देश में ऑक्‍सीजन सप्‍लाई कर ओडिशा ने एक मिसाल पेश की है। इसलिए इसे ऑक्‍सीजन कैपिटल आफ इंडिया कहा जा रहा है। 17 राज्य एवं केन्द्र शासित प्रदेश को यहां से अब तक भेजा जा चुके हैं 1577 टैंकर के जरिए 29313.583 मैट्रिक टन ऑक्‍सीजन।

Babita KashyapMon, 14 Jun 2021 01:26 PM (IST)
देश में Oxygen Supply कर ऑक्‍सीजन कैपिटल ऑफ इंडिया बना ओडिशा

भुवनेश्वर, शेषनाथ राय। कोरोना महामारी की दूसरी लहर में एक तरफ जहां पूरा देश संजीवनी बनी ऑक्‍सीजन के लिए परेशान था तो वहीं ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की दूरदर्शी सोच की बदौलत अपने प्रदेश के लोगों को ध्यान रखते हुए देश के अन्य कई राज्यों को मेडिकल ऑक्‍सीजन का प्रबंध सुनिश्चित किया गया, जो बदस्तूर जारी है।

देश के अलग-अलग राज्यों को यहां मेडिकल ऑक्सीजन मुहैया कराने में कोई दिक्कत ना हो इसके लिए लदान से लेकर परिवहन तक के लिए समन्वित कार्रवाई के लिए नोडल अधिकारी के रूप में वाई के जेठवा, एडीजी (एल एंड ओ) के तहत एक विशेष सेल का गठन किया गया है। चौबीसों घंटे निगरानी के साथ एक समर्पित कॉरिडोर स्थापित किया गया है। जिला एसएसपी/डीसीएसपी और रेंज डीआईजी/आईजी/सीपी अपने अधिकार क्षेत्र में व्यक्तिगत रूप से आंदोलन की निगरानी कर रहे हैं।

17 राज्य एवं केन्द्र शासित प्रदेश को भेजी ऑक्‍सीजन

देश के 17 राज्य एवं केन्द्र शासित प्रदेश को ओडिशा ने अब तक 1577 टैंकर के जरिए 29313.583 मैट्रिक टन आक्सीजन मुहैया कराया। ओडिशा के राउरकेला, जाजपुर, ढेंकनाल और अनुगुल जिलों से देश के 17 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में अब तक कुल 1577 टैंकर/कंटेनर 29313.583 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन ओडिशा पुलिस के एस्कॉर्ट/पर्यवेक्षण के तहत भेजे गए हैं। यह प्रक्रिया अभ भी नियमित जारी है।

जानकारी के मुताबिक पिछले 52 दिनों के दौरान अनुगुल से 2036.562 एमटी, 339 ढेंकनाल से 5647.33 एमटी, 312 जाजपुर से 6358.494 एमटी और 801 राउरकेला से 15271.197 एमटी के साथ 125 टैंकर भेजे गए। मिली जानकारी के मुताबिक 9111.371 मीट्रिक टन ऑक्सीजन के साथ कुल 465 टैंकर अब तक आंध्र प्रदेश को भेजे गए हैं जबकि तेलंगाना को 6894.439 मीट्रिक टन ऑक्सीजन के साथ 387 टैंकर भेजे गए हैं। तमिलनाडु को 4416.418 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन से भरे 239 टैंकर भेजे गए हैं। इसी तरह हरियाणा को 3331.793 मीट्रिक टन ऑक्सीजन से भरे 182 टैंकर, महाराष्ट्र को 660.051 मीट्रिक टन ऑक्सीजन के साथ 41 टैंकर, छत्तीसगढ़ को 50 टैंकरों में 836.711 मीट्रिक टन, उत्तर प्रदेश को 68 टैंकरों से 1319.962 मीट्रिक टन, ऑक्सीजन और मध्य प्रदेश को 67 टैंकर के जरिए 1182.6 मीट्रिक टन ऑक्सीजन अब तक भेजा जा चुके हैं। 

इसके अलावा दिल्ली को 410.24 मीट्रिक टन ऑक्सीजन के साथ 22 टैंकर, पंजाब को 107.89 मीट्रिक टन के साथ 4 टैंकर, कर्नाटक को 424.99 मीट्रिक टन के साथ 21 टैंकर, बिहार को तीन टैंकर के जरिए 66.14 मीट्रिक टन ऑक्‍सीजन, चंडीगढ़ को दो टैंकर के जरिए 25.29 मीट्रिक टन ऑक्‍सीजन पिछले 52 दिनों में भेजे गए हैं। इसके अलावा केरल को 21 टैंकर के जरिए 405.068 मीट्रिक टन ऑक्‍सीजन, पश्चिम बंगाल को एक टैंकर के जरिए 29.1 मीट्रिक टन ऑक्‍सीजन, झारखंड को 2 टैंकर के जरिए 52.1 मीट्रिक टन ऑक्‍सीजन और राजस्थान को 2 टैंकर के जरिए 39.42 मीट्रिक टन ऑक्सीजन भेजे गए हैं।

ओडिशा से इन 17 राज्यों में भेजी गई है अब तक संजीवनी

ओडिशा पुलिस यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है कि लोडिंग और परिवहन में कोई देरी न हो ताकि यूपी, एमपी, हरियाणा, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु, पंजाब, छत्तीसगढ़, दिल्ली, बिहार, राजस्थान, कर्नाटक, चंडीगढ़, पश्चिम बंगाल, केरल, झारखंड जैसे राज्यों में हजारों लोगों की जिंदगी बचाने में ओडिशा सरकार की तरफ से पूरी कोशिश बदस्तूर जारी है।

इस संदर्भ में एबीपी न्यूज के एक सर्वे के अनुसार कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में जब ऑक्‍सीजन की कमी से भारत के अनेक राज्य जूझ रहे थे तो ओडिशा के मुख्यमंत्री श्री नवीन पटयनायक कोरोना काल के जीवित देवदूत बनकर सामने आये और भारत के कुल 17 राज्यों को ओडिशा सरकार की ओर से समय पर ऑक्‍सीजन मुहैया कराकर ओडिशा को ऑक्‍सीजन कैपिटल आफ इण्डिया बना दिया। इसके लिए उन्होंने जो 25 सदस्यों का एक टास्कफोर्स बनाया।

वह मुख्यमंत्री श्री नवीन पटयनायक की असाधरण दूरदर्शिता का परिचायक सिद्ध हुआ। ओडिशा सरकार के ऊर्जा तथा उद्योगमंत्री दिव्यशंकर मिश्र, ओडिशा विकास परिषद के अध्यक्ष असित त्रिपाठी, जेएसपीएल के हृदेश्वर झा के अनुसार यह सब कुछ ओडिशा के अजातशत्रु मुख्यमंत्री नवीन पटनायक जी के तत्काल लिए स्वनिर्णय, उनके द्वारा तैयार टास्कफोर्स, उनके सही मार्गदर्शन तथा कोरोना संक्रमण काल में उनके उदारमनासहयोग के बदौलत संभव हो पाया।

यहां पर यह भी जानने की बात है कि जब भारत सरकार ने कोरोना का टीका लगाने के लिए 65 साल से ऊपर तथा उसके उपरांत 45 साल के ऊपर के लोगों को कोरोना का टीका पहले लगाने की घोषणा की तो ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक भारत के सभी राज्यों के पहले ऐसे मुख्यमंत्री के रुप में सामने आकर माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को यह सुझाव दिया कि कोरोना का टीका 18 साल से ऊपर के सभी को फ्री लगाना चाहिए और आज वही हो रहा है।

ओडिशा के भारत का ऑक्‍सीजन कैपिटल ऑफ इंडिया बनने पर एक तरफ जहां पूरे भारत से मुख्यमंत्री नवीन पटनायक को बधाइयां मिल रही हैं, वहीं कीट-कीस-कीम्स के प्राण प्रतिष्ठाता तथा कंधमाल लोकसभा सांसद प्रोफेसर अच्युत सामंत ने कोरोना संक्रमण काल में मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की दूरदर्शिता की उन्मुक्त कंठ से सराहना करते हुए भारत के ऑक्‍सीजन कैपिटल ऑफ इंडिया, ओडिशा के बनने पर उनको हार्दिक बधाई दी है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.