Odisha: सुंदरगढ़ व अनुगुल में खुलेंगे दो नए केंद्रीय विद्यालय: धर्मेंद्र प्रधान

सुंदरगढ़ व अनुगुल में खुलेंगे दो नए केंद्रीय विद्यालय: धर्मेंद्र प्रधान। फाइल फोटो

Odisha सुंदरगढ़ के सांसद जुएल ओराम बरगड़ सांसद सुरेश पुजारी व ढेंकानाल सांसद महेश साहू के पत्र के आधार पर पिछले साल 20 सितंबर को केंद्रीय मंत्री प्रधान ने कोयला व खदान मंत्री प्रहलाद जोशी को पत्र लिखा था।

Sachin Kumar MishraSun, 09 May 2021 04:51 PM (IST)

भुवनेश्वर, जागरण संवाददाता। Odisha: ओडिशा के सुंदरगढ़ व अनुगुल जिले में दो नए केंद्रीय विद्यालय खुलेंगे। महानदी कोल फिल्ड (एमसीएल) बोर्ड ने इन दोनों विद्यालयों के लिए अनुमोदन दिया है। इसके लिए केंद्रीय कोयला व खदान मंत्री प्रह्लाद जोशी को केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने धन्यवाद ज्ञापन किया है। सुंदरगढ़ के सांसद जुएल ओराम, बरगड़ सांसद सुरेश पुजारी व ढेंकानाल सांसद महेश साहू के पत्र के आधार पर पिछले साल 20 सितंबर को केंद्रीय मंत्री प्रधान ने कोयला व खदान मंत्री प्रहलाद जोशी को पत्र लिखा था। इसमे उन्होंने एमसीएल द्वारा सुंदरगढ़, झारसुगुड़ा व अनुगुल जिले में तीन केंद्रीय विद्यालय बनाने के लिए व्यक्तिगत रूप से हस्तक्षेप करने को केंद्रीय मंत्री जोशी से उन्होंने अनुरोध किया था।

इससे उक्त जिले के छात्रों को विशेष लाभ मिलने की बात भी धर्मेंद्र प्रधान ने अपने पत्र में उल्लेख की थी। इस पत्र के जवाब में जोशी ने प्रधान को पत्र लिखकर कहा कि सुंदरगड़ जिले के बसुंधरा में एक व अनुगुल जिले के जगन्नाथ व सुभद्रा इलाके में एक केंद्रीय विद्यालय प्रतिष्ठा के लिए एमसीएल बोर्ड ने अनुमोदन दिया है। केंद्रीय मंत्री प्रधान की तरफ से कहा गया है कि प्राथमिक शिक्षा स्तर को सशक्त बनाना, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दूरदृष्टि संपन्न राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 का प्रमुख एजेंडा है। खदान क्षेत्र में केंद्रीय विद्यालय स्थापित होने से यहां के छात्र-छात्राओं को गुणात्मक शिक्षा मिल पाएगा। इसके साथ ही स्थानीय लोगों की आकांक्षा भी पूरी होगी। 

गत दिनों धर्मेंद्र प्रधान ने सागरमाला प्रोजेक्ट के अधीन धामरा नदी में 110 करोड़ रुपये खर्च से बनने जा रहे आरओ-पैक्स जेटी प्रोजेक्ट सेे भद्रक एवं केन्द्रापड़ा के विकास की गति को त्वरान्वित करने की बात कही थी। उन्होंने कहा कि 21वीं शताब्दी के आधारभूमि विकास एवं जलमार्ग में दिख रही सम्भावना का पूर्ण प्रयोग के लिए भारत सरकार लगातार प्रयास कर रही है। धामरा नदी में आरओ पाक्स जेटी निर्माण तथा आनुषांगिक आधारभूमि प्रस्तुत करने के लिए भारत सरकार के बंदरगाह, जहाजरानी तथा जलमार्ग मंत्रालय की तरफ से मंजूरी मिली है। यह प्रोजेक्ट भद्रक एवं केन्द्रापड़ा के बीच आवागमन संपर्क मजबूत करने के साथ ही यातायात समय को भी कम करेगा एवं स्थानीय इलाके में नियुक्ति के भी अवसर बनाएगा। सागरमाला योजना के अधीन ओडिशा के भद्रक जिले के काणीनाली से केन्द्रापड़ा जिले के निचले इलाके को संयोग करने के लिए आरओ-जेटी एवं आनुषंगिक निर्माण किया जाएगा। इसके लिए भारत सरकार के जहाजरानी मंत्रालय की तरफ से प्रशासनिक अनुमोदन दिया गया है। पैक्स जेटी निर्माण होने के साथ ही नौका आदि के रहने के साथ यातायात के लिए सुविधा होगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.