Coronavirus 3rd Wave : ओडिशा में तीसरी लहर की संभावना कम, घट रहा है संक्रमण पर रहना होगा सतर्क

Odisha Coronavirus 3rd Wave Updateओडिशा के शिक्षा एवं प्रशिक्षण निदेशक डॉक्टर सीबीके महांती का कहना है कि ओडिशा में संक्रमण के मामले अब घट रहे हैं ऐसे में तीसरी लहर कब आएगी इसका क्या प्रभाव पड़ेगा इस संदर्भ में कुछ नहीं कहा जा सकता। अभी अलर्ट रहने की जरूरत है।

Babita KashyapTue, 27 Jul 2021 10:42 AM (IST)
डा. सीबीके महांती ने कहा ओडिशा में तीसरी लहर आने की संभावना कम

भुवनेश्वर, जागरण संवाददाता। ओडिशा में तीसरी लहर आने के कोई लक्षण नहीं दिखाई दे रहे है। यह बात राज्य में शिक्षा एवं प्रशिक्षण निदेशक डॉक्टर सीबीके महांती ने कही है। सोमवार को मीडिया को अपनी प्रतिक्रिया देते हुए महांति ने कहा कि वर्तमान समय में प्रदेश में 1600 से 2000 हजार के बीच दैनिक संक्रमित मरीज सामने आ रहे हैं। गजपति एवं नुआपड़ा जिले में संक्रमण के मामले अब शून्य आ रहे हैं। 8 जिलों में संक्रमण के मामले इकाई अंक में है। अन्य 20 जिलों में संक्रमण संख्या भी नियंत्रण में है। ऐसे में तीसरी लहर ओडिशा में कब आएगी एवं इसका क्या प्रभाव पड़ेगा इस संदर्भ में अभी से कहना या अनुमान लगाना ठीक नहीं होगा।

राज्य में संक्रमण कम हो रहे हैं, फिर भी हमें सतर्क रहना होगा। कोविड नियम का अनुपालन करना, मास्क पहनना, व्यक्तिगत दुराव का अनुपालन करना, इनडोर गैदरिंग से हमें बचना होगा। अगले दो से तीन महीने तक हमें सतर्क रहना होगा। ओडिशा में अनलाक को लेकर अपनी प्रतिक्रिया में महांती ने कहा है कि विभिन्न दिशाओं का अवलोकन करने के बाद अनलाक के बारे में निर्णय लिया जाएगा।

प्रदेश में कोविड से हो रही मृत्यु पर राज्य स्वास्थ्य निदेशक डा. विजय कुमार महापात्र ने कहा है कि कई जिलों में कोविड से हुई पुराने मृत्यु मामले की जांच प्रक्रिया लगभग खत्म हो गई है। सभी डेथ रिपोर्ट ऑडिट होने के बाद मृतकों की संख्या दर्शाई जाएगी। कोरोना से जो लोग मर रहे हैं उन्हें मृत्यु प्रमाण पत्र दिया जा रहा है। इसके लिए राज्य सरकार की तरफ से 862 करोड़ रुपये से स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में आधारभूमि तैयार करने का लक्ष्य रखा गया है। विभिन्न जिलों के सामूहिक स्वास्थ्य केन्द्र में 20 बेड वाले कोविड केन्द्र तथा कुछ प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में 6 बेड वाले कोविड केन्द्र बनाने की योजना है। उक्त 862 करोड़ रुपये में से केन्द्र एवं राज्य का 60:40 प्रतिशत का अंशदान है। केन्द्र सरकार 517.18 करोड़ रुपया तथा राज्य सरकार 344.78 करोड़ रुपये खर्च करेगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.