पेट्रोल-डीजल दर वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस के भारत बंद का ओड़िशा में व्यापक असर

भुवनेश्वर, जेएनएन। पेट्रोल-डीजल दर वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस की तरफ से आहुत भारत बंद का ओड़िशा की राजधानी भुवनेश्वर, सांस्कृतिक व व्यापारिक नगरी कटक के साथ पूरे राज्य में व्यापक असर देखने को मिला। शायद पहली बार ऐसा हुआ है जब कांग्रेस के बंद किसी प्रकार की तोड़-फोड़ की घटना सामने नहीं आयी है और बंद पूरी तरह से शांतिपूर्ण रहा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष निरंजन पटनायक ने कहा है कि जिस प्रकार से आज पेट्रोल-एवं डीजल के दर बढ़ रहे हैं उससे लोगों में आक्रोश है और इसका परिणाम आज पूरे राज्य में देखने को मिला है। लोग ने स्वत: ही दुकान बाजार, वाहन बंद कर दिए। उधर, कांग्रेस के बंद के चलते सरकार ने पहले ही स्कूल-कालेजों में छुट्टी घोषित कर दी थी। 

सुबह 6 बजे से ही कांग्रेस के नेता एवं कार्यकर्ता सड़क पर आ गए और पिकेटिंग कर दुकान बाजार बंद कराने के साथ राष्ट्रीय राजमार्ग से लेकर तमाम रास्तों को बंद कर दिया। सुबह-सुबह ही बंद पालन शुरू हो जाने का आलम यह रहा कि कोलकाता से विशाखापट्नम की तरफ जाने वाले मालवाहक ट्रक ए​वं टाटा नगर तथा कोलकाता से आने वाली बसें भी जहां तहां फंसी नजर आयी।

ट्रक चालकों ने तो सड़क पर ही डेरा डाल दिया और ट्रक के नीचे बकायदा विस्तर लगाकर आराम फरमाते ए​वं भोजन बनाते देखे गए। कांग्रेस के इस बंद को आॅटो, बस मालिक संघ का भी पूरा समर्थन मिला और एक भी यात्रीवाही गाड़ियां सड़क पर नहीं दिखी। ट्रेनों को भुवनेश्वर, कटक रेलवे स्टेशन के साथ विभिन्न स्टेशनों पर रोक दिया गया। विधानसभा के सामने खुद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अपनी टीम के साथ खड़े हो गए, जिससे किसी भी मंत्री, विधायक या पत्रकार के वाहनों को विधानसभा के अन्दर नहीं जाने दिया गया।

मंत्री एवं विधायक या तो पैदल चलकर विधानसभा पहुंचे या फिर मोटरसाइकिल से विधानसभा पहुंचे। उन्हें विधानसभा के मुख्य गेट पर पुष्प गुच्छ देकर कांग्रेस के की तरफ से लोगों के लिए किए गए इस बंद का समर्थन करने का अनुरोध किया गया है। विधानसभा के सामने भाजपा एवं बीजद विरोधी नारे भी गूंजते रहे। खासकर तब जब भाजपा विधायक दल के नेता कनक वर्द्धनसिंहदेव विधानसभा पहुंचे तो कांग्रेसियों ने भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। हालांकि इस बीच उन्हें पुष्प भी कांग्रेस नेताओं ने दिया। इस बीच जब मंत्री प्रताप जेना पहुंचे तो उन्हें भी विरोध का सामना करना पड़ा। लेकिन मंत्री जेना ने कहा कि तेल दर वृद्धि का बीजू जनता दल भी विरोध कर रहा है, हम भी विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन कांग्रेस का तरीका अलग है और हमारा तरीका अलग है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.