दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

Odisha Coronavirus Cases: ओडिशा में कोरोना के 12290 नए मामले और 22 मौतें, जेल में 48 कैदी भी संक्रमित

ओडिशा में कोरोना के12290 नए मामले और 22 मौतें, जेल में 48 कैदी भी संक्रमित। फाइल फोटो

Coronavirus ओडिशा में नए संक्रमित मरीजों में से 6938 क्वारंटाइन से हैं जबकि 5452 स्थानीय लोग संक्रमित मिले हैं। कोरोना की दूसरी लहर में पहली बार राज्य के सभी जिलों में 100 के ऊपर संक्रमित मरीज सामने आए हैं। खुर्दा जिले से सर्वाधिक 2201 नए मामले सामने आए।

Sachin Kumar MishraFri, 14 May 2021 04:39 PM (IST)

भुवनेश्वर, जागरण संवाददाता। Coronavirus: ओडिशा में शुक्रवार को कोरोना के 12390 नए मामले सामने आए और 22 लोगों की कोरोना से मौत हो गई। नए संक्रमित मरीजों में से 6938 क्वारंटाइन से हैं, जबकि 5452 स्थानीय लोग संक्रमित मिले हैं। कोरोना की दूसरी लहर में पहली बार राज्य के सभी जिलों में 100 के ऊपर संक्रमित मरीज सामने आए हैं। राज्य सूचना व जनसंपर्क विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक, खुर्दा जिले से सर्वाधिक 2201 नए मामले सामने आए, जबकि सुंदरगढ़ जिले में 882, कटक जिले से 729, संबलपुर जिले में 677 लोग संक्रमित पाए गए। अनुगुल जिले से 532, बरगड़ जिले से 507, बालेश्वर जिले से 340, भद्रक जिले से 412, बलांगीर जिले से 461 नए मरीज सामने आए। मयूरभंज जिले से 480, पुरी जिले से 469, बलांगीर जिले से 461, जाजपुर जिले से 436, झारसुगुड़ा जिले से 413 लोग संक्रमित मिले।

गंजाम जिले में 387, नवरंगपुर जिले में 362 तथा स्टेटपुल में 352 लोग संक्रमित पाए गए। नयागड़ जिले में 301, जगतसिंहपुर जिले में 259, कोरापुट जिले में 246, बौद्ध जिले में 228, कालाहांडी जिले में 210, केन्दुझर जिले में 208, नुआपड़ा जिले में 204, रायगड़ा जिले में 187, सोनपुर जिले में 178, ढेंकानाल जिले में 174, केन्द्रापड़ा जिले में 137, गजपति जिले में 115, देवगड़ जिले में 108, मालकानगिरी जिले में 103, कंधमाल जिले में 102 लोग संक्रमित पाए गए हैं। प्रदेश में अब तक कुल 5 लाख 88 हजार 687 लोग संक्रमित हो चुके हैं। हालांकि इसमें से चार लाख 82 हजार 345 लोग स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं जबकि 2273 लोगों की अब तक कोरोना से मौत हो चुकी है। प्रदेश में अब सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर एक लाख चार हजार 16 हो गई।

एक दिन में 16 जिलों से रिकार्ड 22 लोगों ने कोरोना से तोड़ा दम

ओडिशा के 16 जिलों में एक दि में 22 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। राज्य स्वास्थ्य व परिवार कल्याण विभाग से मिली जनकारी के मुताबिक, खुर्दा जिले से सर्वाधिक चार लोगों की मौत हुई, जबकि अनुगुल जिले से तीन लोगों ने कोरोना से दम तोड़ दिया है। पुरी जिले से दो, सुंदरगढ़ जिले से दो, केन्द्रापड़ा जिले से दो लोगों की मौत हुई। बालेश्वर जिले से एक, बरगड़ जिले से एक, बलांगीर जिले से एक, बौद्ध जिले से एक, गंजाम जिले से एक, जगत सिंह पुर जिले से एक, कंधमाल जिले से एक, मालकानगिरी जिले से एक, नुआपड़ा जिले से एक, रायगड़ा जिले से एक व संबलपुर जिले से एक संक्रमित मरीज की मौत हुई है। राज्य में कोरोने से मरने वाले मरीजों की संख्या बढ़कर 2273 तक पहुंच गई।  खुर्दा जिले में कोरोना से मरने वाले मरीजों की संख्या 400 तक पहुंच गई है तो सुंदरगढ़ जिले में 219 व अनुगुल जिले में 56 लोगों की अब तक कोरोना से मौत हुई है।  बलांगीर जिले से 55, बौद्ध जिले से 20, कटक जिले से 151, देवगड़ जिले से 10, गजपति जिले से 39, गंजाम जिले से 267, कालाहांडी जिले से 64, कंधमाल जिले से 37, केन्द्रापड़ा जिले से 32, रायगड़ा जिले से 80 लोग अब तक कोरोना से दम तोड़ चुके हैं।

बरहमपुर जेल में एक ही साथ 48 कैदी मिले कोरोना संक्रमित

गंजाम जिले के बरहमपुर जेल में 48 कैदियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद प्रशासन की चिंता बढ़ गई है। जेल में एक आजीवन कारावास की सजा काट रहे कैदी की कोरोना संक्रमण से स्थिति गंभीर होने के बाद पहले इलाज के लिए कोविड अस्पताल में भर्ती किया गया। इसके बाद उन्हें बरहमपुर एमकेसीजी अस्पताल में भर्ती किया गया, जिसमें से 48 कैदियों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई। बरहमपरु जिले में 927 कैदी हैं। इसमें 84 कैदियों का कोविड टेस्ट किया गया। इन्हें जेल के अंदर खोले गए 100 बेड वाले डेडीकेटेड कोविड केयर सेंटर में रखकर इलाज किया जा रहा है। जेल के अंदर से इतनी संख्या में कोविड मरीज मिलने के बाद जिला प्रशासन की चिंता बढ़ गई। जेल में बंद अन्य कैदी किस प्रकार से सुरक्षित रहेंगे, उसे लेकर ध्यान दिए जाने की बात जेल के अधिकारियों ने कही।

बिना भक्तों के शनिवार से शुरू होगी महाप्रभु की 21 दिवसीय चंदन यात्रा

पुरी जगन्नाथ धाम में शनिवार अक्षय तृतीया के दिन एक तरफ जहां महाप्रभु जगन्नाथ की 21 दिवसीय चंदन यात्रा शुरू होगी तो वहीं दूसरी तरफ विश्व प्रसिद्ध रथयात्रा के लिए रथ लकड़ी अनुकूल (रथ में लगने वाली लकड़ी का पूजन) की जाएगी। चंदन यात्रा में 21 दिन तक महाप्रभु के प्रतिनिधि मदन मोहन, भू देवी, श्रीदेवी, राम-कृष्ण के साथ पंच महादेव नौका विहार करेंगे। जगन्नाथ धाम पुरी में इसके लिए सभी प्रकार की तैयारी पुरी कर लगी गई है। महाप्रभु के चंदन यात्रा के लिए नरेन्द्र पुष्करणी (सरोवर) को पुरी तरह से सजा दिया गया है। महाप्रभु की चंदनयात्रा को देखते हुए नरेन्द्र सरोवर के चारों तरफ धारा 144 लागू कर दी गई है। इसके साथ ही 6 एनफोर्समेंट स्क्वाड को भी तैनात किया गया है।

स्टैंडर्ड आपरेशन प्रोसिजियोर (एसओपी) के मुताबिक महाप्रभु जगन्नाथ जी के इस चंदन यात्रा में केवल पास प्राप्त करने वाले सेवक एवं जगन्नाथ मंदिर के कर्मचारियों को ही शामिल होने की अनुमति दी गई है। वहीं दुसरी तरफ चंदन यात्रा के लिए नंदा, भद्रा, धनवंतरी नाव में वेदी निर्माण का कार्य लगभग खत्म हो गया है। चंदनयात्रा का आयोजन इस बार सीमित सेवकों को लेकर प्रतिबंध के बीच किया जा रहा है। चंदन यात्रा की नीति में जिन सेवकों को शामिल होना है उनकी कोविड जांच की गई है। निगेटिव रिपोर्ट वाले सेवक को ही इस यात्रा में शामिल होने की अनुमति दी गई है। चंदन यात्रा को सफल बनाने के लिए जगन्नाथ मंदिर के मुख्य प्रशासक डा. किशन कुमार और जिलाधीश समर्थ वर्मा, एसपी कुंवर विशाल सिंह ने महाप्रभु की चंदन यात्रा शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न हो, इसके लिए स्थानीय लोगों से घर में रहकर सहयोग करने को अनुरोध किया है। पुरी एसपी कुंवर विशाल सिंह इससे पहले खुद नरेन्द्र सरोवर जाकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा ले चुके हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.