top menutop menutop menu

अयोध्या राम मंदिर के भूमि-पूजन के अवसर पर देशभर में हुई पाठ-पूजा, लोगों में दिखा खुशी का माहौल

अयोध्या राम मंदिर के भूमि-पूजन के अवसर पर देशभर में हुई पाठ-पूजा, लोगों में दिखा खुशी का माहौल
Publish Date:Wed, 05 Aug 2020 12:54 PM (IST) Author: Nitin Arora

नई दिल्ली, एजेंसी। देश और विदेश में आज अयोध्या के राम मंदिर भूमि-पूजन की चर्चा है। सभी जगह लोगों में हर्ष उल्लास देखा जा रहा है। कहीं, पूजा की गई तो कहीं लोग भजन गाकर अयोध्या में बनने जा रहे राम मंदिर में साथ दिखे। देश के प्रधानमंत्री अयोध्या पहुंच। कई 100 साल बाद राम भक्तों का सपना सच होने जा रहा है। रामनगरी अयोध्या में यह रामकथा का नया अध्याय है, 492 वर्ष तक चली संघर्ष-कथा का अपना 'उत्तरकांड' है। अयोध्या तो न्यारी ही छटा में है। सड़कों के किनारे पीले रंगे मकान शुभ कार्य का संदेश दे रहे हैं। कोई घर ऐसा नहीं, जिस पर भगवा पताका न लहरा रही हो। सड़कों पर रंगोली सज रही है, कतारबद्ध किए जा रहे दीपक कल्पना को उसी समय में धकेल रहे हैं कि जब चौदह वर्ष का वनवास समाप्त कर प्रभु श्रीराम अपनी अयोध्या लौटे होंगे।

अयोध्या में राम मंदिर भूमि-पूजन 5 अगस्त को हुआ। हालांकि, 4 अगस्त से ही देशवासियों में उत्साह देखने को मिल रहा है। कई जगहों से लोग राम मंदिर भूमि-पूजन में दूर से भाग ले रहे थे। 

-पूर्वी दिल्ली: राम मंदिर भूमि पूजन पर यमुनापार के राम भक्तों में भी दिखा जोश। कहीं फुलझड़ी, आतिशबाजी तो कहीं होली खेलकर मनाया जश्न। विवेक विहार स्थित श्री राम मंदिर व लक्ष्मी नगर में स्क्रीन लगाकर दिखाया गया लाइव प्रसारण। मंदिर में मौजूद रहे भाजपा सांसद गौतम गंभीर, राज्यसभा सदस्य दुष्यंत गौतम और महापौर निर्मल जैन।लक्ष्मी नगर विजय चौक पर भंडारे के दौरान बांटा गया प्रसाद।

-हरियाणा: फरीदाबाद पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन के महासचिव मनमोहन गुप्ता ने राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के लिए हुए भूमि पूजन की खुशी के उपलक्ष्य में 5000 लड्डू तैयार करवाएं हैं। मनमोहन गुप्ता कार सेवक के रूप में 1990 में अयोध्या गए थे। वर्ष 1990 में कार सेवा के लिए अयोध्या गए मनमोहन गुप्ता अपने पेट्रोल पंप पर पेट्रोल डलवाने आए वाहन चालकों को लड्डू बांटते हुए नजर आए।

-छत्तीसगढ़, राजनांदगांव महापौर ने भगवान राम और सीता माता के नाम किया घाट। शहर के ऐतिहासिक सरोवर रानी सागर में भगवान राम और माता सीता के नाम से घाट होगा। जिसके लिए पूजा पाठ की गई। इसके बाद महाहेमा देशमुख ने रानी सागर तट पर एक घाट का नामकरण किया। इस जगह को सुंदर बनाया जाएगा।

-राजनांदगांव शहर में अयोध्या का जश्न। अयोध्या में रामलला के मंदिर के लिए शिलान्यास का उत्सव संस्कारधानी में उत्साह के साथ मनाया जा रही है। जगमग रोशनी से नहाए मंदिरों में सुबह से धार्मिक अनुष्ठानों का क्रम चल रहा है। पूरे शहर में भगवा ध्वज लहराते दिखे। रामभक्तों ने पटाखे भी चलाए। कोरोना संकट के बीच भले ही कोई सार्वजनिक आयोजन नहीं कराए गए, लेकिन भक्तों ने इस दिन को यादगार बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी श्रीराम मानस मंदिर में दीया जलाया गया। महावीर चौक स्थित हनुमान मंदिर में हुए हवन पूजन में सांसद भी शामिल हुए।

-हरियाणा के फरीदाबाद में अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन के उपलक्ष्य में औद्योगिक नगरी में उल्लास दिखा। तिगांव रोड विश्वकर्मा चौक पर आयोजित हवन यज्ञ में आहुति डालते दिखे पार्षद दीपक यादव, राजेश यादव, राजेश गोयल, राकेश गुर्जर।

-राम भक्‍तों ने हरियाणा के हिसार में की आतिशबाजी। हिसार के नागोरी गेट पर हुई आतिशबाजी।

-अयोध्या में राम जन्म भूमि पूजन को लेकर जम्मू के रानी पार्क में दीप जलाकर खुशी मनाते डोगरा फंड के कार्यकर्ता।

-हिमाचल प्रदेश: जिला मंडी के सुकेत व्यापार मंडल सुंदरनगर द्वारा श्री राम मंदिर निर्माण कार्य के शुभारंभ मौके पर भोजपुर बाजार ने सुंदरकांड पाठ का आयोजन किया गया।

-अयोध्या में राम जन्म भूमि पूजन को लेकर रांची के चुटिया राम मंदिर में रामभक्तों ने दिए जलाए।

-हिमाचल के कुल्लू के रथ मैदान में विश्व हिन्दू परिषद के लोग राम का नाम जपते हुए।

-बिहार के भागलपुर के ईश्‍वनगर विषहरी स्‍थान मंदिर में दीप जलाते जागृत युवा समिति के कार्यकर्ता।

-अयोध्या में राम जन्म भूमि पूजन को लेकर पंजाब के नाभा के दतिया डेरा में श्री रामायण जी का पाठ करते हुए भक्त।

-बिहार के गया के विष्णु पद मंदिर के प्रवेशद्वार पर शंख नाद और घंटी बजाते लोग।

अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज भूमिपूजन कर चुके हैं। अयोध्या में होने वाले राम मंदिर के भूमिपूजन को लेकर शहर में बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है। नरेंद्र मोदी पहले प्रधानमंत्री हैं जो रामलला के दरबार में उपस्थित होंगे। बतौर प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और अटल बिहारी वाजपेयी का अयोध्या आना तो हुआ, पर रामलला के दर्शन का सुयोग नहीं बना। मोदी पांच अगस्त को प्रधानमंत्री रहते न केवल रामलला का दर्शन-पूजन करेंगे, बल्कि जन्मभूमि पर राम मंदिर की आधारशिला भी रखेंगे। उन्होंने प्रधानमंत्री बनने के पहले भी रामलला का दर्शन किया था।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.