Indian Railways: कोरोना महामारी के बीच पश्चिमी रेलवे ने रद की 12 ट्रेनें, यहां देखें पूरी लिस्ट

यात्रियों की कम संख्या के कारण रद की गईं ट्रेनें

महामारी के बीच पश्चिमी रेलवे (Western Railway) ने यात्रियों की कम संख्या के कारण कई ट्रेनें अगले आदेश तक निरस्त रहेंगी। रेलवे से मिली जानकारी के अनुसार 19 अप्रैल 2021 से अगले आदेश तक ये ट्रेनें रद की गई हैं।

Dhyanendra Singh ChauhanSun, 18 Apr 2021 11:01 PM (IST)

नई दिल्ली, एएनआइ। इन दिनों पूरा देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है। कोरोना महामारी के बीच पश्चिमी रेलवे (Western Railway) ने यात्रियों की कम संख्या के कारण 12 ट्रेनों को रद कर दिया है। ये ट्रेनें अगले आदेश तक निरस्त रहेंगी। रेलवे से मिली जानकारी के अनुसार 19 अप्रैल, 2021 से अगले आदेश तक ये ट्रेनें रद की गई हैं।

19 अप्रैल, 2021 से अगले आदेश तक ये ट्रेनें रहेंगी रद

ट्रेन संख्या 09007 सूरत-भुसावल स्पेशल

ट्रेन संख्या 2959 वडोदरा-जामनगर सुपरफास्ट स्पेशल

ट्रेन संख्या 2960 जामनगर-वडोदरा सुपरफास्ट स्पेशल

ट्रेन संख्या 09258 वेरावल-अहमदाबाद स्पेशल

ट्रेन संख्या 09323 डॉ. अम्बेडकर नगर-भोपाल स्पेशल

ट्रेन संख्या 09340 भोपाल-दाहोद स्पेशल

20 अप्रैल, 2021 से अगले आदेश तक ये ट्रेनें रहेंगी रद

ट्रेन संख्या 09257 अहमदाबाद-वेरावल स्पेशल

ट्रेन संख्या 09008 भुसावल-सूरत स्पेशल

ट्रेन संख्या 09077 नंदुरबार-भुसावल स्पेशल

ट्रेन संख्या 09078 भुसावल-नंदुरबार स्पेशल

ट्रेन संख्या 09339 दाहोद-भोपाल स्पेशल

ट्रेन संख्या 09324 भोपाल-डॉ. अम्बेडकर नगर स्पेशल

रेलवे की अनारक्षित यात्रा पर पूरी तरह से है रोक

बता दें कि सरकार ने इन दिनों ने अनारक्षित यात्रा पर रोक लगा रखी है और कुछ ट्रेनों के अलावा सभी ट्रेन में यात्रा करने के लिए आरक्षित टिकट की आवश्यकता होती है। ऐसे में अगर आप भी कहीं यात्रा कर रहे हैं तो पहले से टिकट बुक करवा लें और टिकट कंफर्म होने पर यात्रा करें।

स्टेशन परिसर व ट्रेन में बिना मास्क घूमने पर 500 रूपये का जुर्माना

कोरोना महामारी के बीच रेलवे ने अपने सख्त नियम-कानून बनाए हैं। यात्रा करते समय ट्रेन में स्टेशन परिसर पर बिना मास्क पहने घूमते पाए जाने पर यात्रियों पर 500 रुपये का जुर्माना लगाए जाने की घोषणा की गई है। शनिवार को रेलवे बोर्ड ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है जो तत्काल प्रभावी से जारी कर दिया गया है। यह आदेश अगले छह माह तक प्रभावी रहेगा।

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.