Weather Update: पश्चिमी विक्षोभ बिगाड़ेगा मौसम, बारिश बनेगी मुसीबत, इन राज्यों में IMD का अलर्ट जारी

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने गुजरात मध्य महाराष्ट्र कोंकण और गोवा के लिए आरेंज अलर्ट जारी किया है यानी लोगों को भारी बारिश आंधी और तेज हवाओं के लिए तैयार रहने की चेतावनी दी गई है। अंडमान और निकोबार द्वीप समूह भी आरेंज अलर्ट पर है।

Nitin AroraWed, 01 Dec 2021 10:09 AM (IST)
Weather Update: पश्चिमी विक्षोभ बिगाड़ेगा मौसम, इन राज्यों में बारिश बढ़ाएगी मुसीबत, IMD ने जारी किया अलर्ट

नई दिल्ली, एजेंसी। देश के कई हिस्सों में सर्दियां बढ़ गई है और ऐसे में भारत के सबसे उत्तरी क्षेत्रों, जम्मू और कश्मीर और लद्दाख को मुश्किल स्थितियों का सामना करना पड़ रहा है। इतना ही नहीं यहां बारिश और मुसीबत बढ़ा सकती है। बताया गया कि एक के बाद एक पश्चिमी विक्षोभ इस क्षेत्र को प्रभावित कर रहा है और इस कारण उत्तरी राज्यों में पहली सर्दियों की बारिश भी जल्द आएगी।

वहीं, कर्नाटक के पश्चिम में एक चक्रवाती परिसंचरण बुधवार से गुरुवार तक गुजरात और महाराष्ट्र के तट पर भारी से बहुत भारी बारिश करता हुआ उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ेगा, जिसका अधिक असर बुधवार को देखने को मिलेगा। 100-120 मिमी की कुल वर्षा संचय की उम्मीद लगाई गई है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने गुजरात, मध्य महाराष्ट्र, कोंकण और गोवा के लिए आरेंज अलर्ट जारी किया है यानी लोगों को भारी बारिश, आंधी और तेज हवाओं के लिए 'तैयार' रहने की चेतावनी दी गई है।

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह भी आरेंज अलर्ट पर है। ऐसा इसलिए है क्योंकि अंडमान सागर के मध्य भागों पर एक कम दबाव का क्षेत्र बुधवार से गुरुवार तक अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में 100-150 मिमी की कुल वर्षा के साथ बहुत भारी से अत्यधिक भारी बारिश करेगा। कम दबाव का यह क्षेत्र गुरुवार तक डिप्रेशन में तब्दील होने की संभावना है। यह बंगाल की खाड़ी के ऊपर पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ते हुए शुक्रवार तक एक चक्रवाती तूफान में और तेज हो जाएगा और शनिवार सुबह लगभग उत्तरी आंध्र प्रदेश-ओडिशा तटों के पास पहुंच जाएगा।

संभावित चक्रवाती तूफान के कारण भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है। सप्ताहांत में आंध्र प्रदेश, ओडिशा से लेकर गंगीय पश्चिम बंगाल तक फैले तट पर कुल 150-200 मिमी बारिश होने की संभावना है। इस सप्ताह के अंत में आंध्र प्रदेश ओडिशा के तटों पर 60-70 किमी / घंटा की रफ्तार से हवा के झोंके चलते नजर आएंगे।

इस बीच, एक पश्चिमी विक्षोभ गुरुवार को हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के कुछ हिस्सों में भारी बारिश, बर्फबारी करेगा। एक और पश्चिमी विक्षोभ इन क्षेत्रों को सप्ताहांत में प्रभावित करेगा।

जहां तक पारा स्तर की बात है, गुजरात, पश्चिम मध्य प्रदेश और आसपास के इलाकों में बुधवार और गुरुवार को अधिकतम तापमान सामान्य से काफी नीचे रहेगा। दूसरी ओर, इस सप्ताह के दौरान पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र और पूर्वोत्तर भारत में रीडिंग सामान्य से काफी अधिक बढ़ जाएगी। इस सप्ताह के दौरान पूरे उपमहाद्वीप में न्यूनतम तापमान सामान्य से बहुत ऊपर रहेगा, साथ ही पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र और पूर्वोत्तर भारत के लिए औसत रातों की तुलना में काफी गर्म रहेगा।

क्षेत्रीय पूर्वानुमान

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के कुछ हिस्सों में अत्यधिक भारी बारिश, गुजरात क्षेत्र, कोंकण और मध्य महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में बहुत भारी बारिश, सौराष्ट्र और कच्छ के कुछ हिस्सों में भारी बारिश की संभावना है। सौराष्ट्र और कच्छ, केरल और माहे और लक्षद्वीप में गरज के साथ व्यापक बारिश का अनुमान है। हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, रायलसीमा, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल, कर्नाटक में गरज के साथ छिटपुट बारिश संभव है। उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, राजस्थान, मराठवाड़ा और तटीय आंध्र प्रदेश और यनम में गरज के साथ छिटपुट वर्षा की भविष्यवाणी की गई है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.