Weather Forecast Update: 21 वर्षों में सबसे ठंडा रहा यह गणतंत्र दिवस, इन राज्यों में घने कोहरे का अलर्ट

मैदानी राज्यों में कड़ाके की ठंड पड़ रही है (फाइल फोटो)

मौसम विभाग का कहना है कि फिलहाल आने वाले कुछ दिनों में भी ठंड से कोई खास राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। राजस्थान मध्यप्रदेश हरियाणा पंजाब सहित अधिकतर मैदानी राज्यों में कड़ाके की ठंड पड़ रही है।

Publish Date:Tue, 26 Jan 2021 05:18 PM (IST) Author: Sanjeev Tiwari

नई दिल्ली, जेएनएन। पहाड़ों पर लगातार हो रही बर्फबारी के बीच जनवरी के अंतिम सप्ताह में भी दिल्ली में कड़ाके की सर्दी पड़ रही है। आलम यह है कि मंगलवार से दिल्ली में एक बार फिर शीतलहर का दौर तो शुरू हो ही गया। वहीं, यह गणतंत्र दिवस 21 वर्षों में सबसे ठंडा दर्ज किया गया। मौसम विभाग की मानें तो अभी अगले कई दिन शीतलहर का यह दौर जारी रहेगा। मंगलवार को यूं तो आसमान साफ रहा, लेकिन ठंडी हवा सुबह से ही चल रही थी। हालांकि, दिनभर गुनगुनी धूप भी खिली रही, लेकिन दिल्लीवासियों को ठिठुरन से राहत तब भी नहीं मिली। शाम होते- होते ठंड में और इजाफा हो गया।

मौसम विभाग के अनुसार, मंगलवार को अधिकतम तापमान सामान्य से दो डिग्री कम 20.4 डिग्री सेल्सियस, जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से सात डिग्री कम 2.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। बता दें कि वर्ष 2000 से लेकर अभी तक गणतंत्र दिवस का यह सबसे कम न्यूनतम तापमान था। जनवरी के आखिरी सप्ताह तक तापमान में बढ़ोतरी होने लगती है। इससे पूर्व 2008 में गणतंत्र दिवस पर न्यूनतम तापमान 4.1 डिग्री सेल्सियस रहा था। 2009, 2010, 2014 और 2018 में तो इस दिन घना कोहरा भी छाया था जबकि 2015 और 2017 में बारिश भी हुई थी। इस बार यह लगातार तीसरा साल है जब गणतंत्र दिवस पर मौसम साफ रहा।

स्काईमेट वेदर के मुख्य मौसम विज्ञानी महेश पलावत के मुताबिक, ला नीना के प्रभाव से यह पहले ही बताया जा चुका है कि इस साल सर्दी का सीजन अपेक्षाकृत लंबा रहेगा। यही वजह है कि जनवरी के अंतिम सप्ताह में भी ठिठुरन बरकरार है। हवा की दिशा फिलहाल उत्तर पश्चिमी चल रही है। इसके साथ पश्चिमी हिमालय क्षेत्र की बर्फबारी का असर भी लगातार दिल्ली तक पहुंच रहा है। ऐसे में अभी इस सप्ताह तो ऐसी ही सर्दी बनी रहेगी। बुधवार को भी ऐसा ही मौसम बना रहेगा। अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमश: 21 एवं तीन डिग्री सेल्सियस तक रह सकता है। वहीं, प्रादेशिक मौसम विज्ञान विभाग दिल्ली के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव के मुताबिक दिल्ली में शीतलहर का यह दौर अभी जारी रहेगा।

मौसम विभाग ने मुताबिक चंडीगढ़, उत्तर प्रदेश और बिहार के कुछ हिस्सों के लिए घने कोहरे और शीत लहर की संभावना है। साथ ही उत्तर राजस्थान, वेस्ट बंगाल और सिक्किम में भी घने कोहरे का अनुमान है। पूर्वोत्तर में भी असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश और नागालैंड में घना कोहरा देखने को मिल रहा है।

हिमाचल में दिन के तापमान में 2 से 9 डिग्री का उतार चढ़ाव

हिमाचल में कभी धूप निकल रही है तो कभी घना कोहरा तो कभी बादल छा रहे हैं। पहाड़ों पर अच्छी बर्फबारी हो रही है। जनवरी में अभी तक चार वेस्टर्न डिस्टरबेंस आ चुके हैं। मौसम का चक्र बदलने से सेहत पर असर पड़ रहा है। मौसम विभाग ने बताया कि इस बार दिसंबर में वेस्टर्न डिस्टरबेंस कमजोर रहे। यही वजह रही कि दिसंबर का औसत तापमान सामान्य से 5 डिग्री ज्यादा रहा। बीते दिन का अधिकतम तापमान 17.7 डिग्री दर्ज किया गया, जो सामान्य से तीन डिग्री कम रहा। वही न्यूनतम तापमान 11 डिग्री दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार मंगलवार को आसमान साफ रह सकता है। सुबह के वक्त कोहरा छा सकता है। दिन का अधिकतम तापमान 18 और न्यूनतम तापमान 10 डिग्री रह सकता है।

हरियाणा में 29 तक सुबह धुंध छाएगी

हरियाणा में पहाड़ों की ओर से आ रही बर्फीली हवाओं ने फिर से ठंड बढ़ा दी है। बीती रात हिसार में पारा 4.2 और नारनौल में 4.3 डिग्री पर आ गया। यह सामान्य से 3 डिग्री तक कम है। सुबह के समय गहरी धुंध भी रही। इससे अम्बाला व हिसार में दृश्यता 200 मीटर आंकी गई।

शीतलहर के कारण रोहतक में दिन का तापमान 16.7 डिग्री रहा, जो सामान्य से 4 डिग्री कम है। मौसम विभाग के अनुसार, 29 जनवरी तक इसी तरह सुबह धुंध छाई रह सकती है। अगले तीन दिनों में रात का तापमान दो से तीन डिग्री और कम हो सकता है। एक बार फिर से पाला जमने की नौबत आ सकती है। इस दौरान शीतलहर का प्रकोप भी रह सकता है।

राजस्थान में सर्द हवाओं से बढ़ी ठंड

राजस्थान में सर्दी ने फिर यू-टर्न ले लिया है। बीते दाे दिनों से लगातार चल रहीं सर्द हवाओं ने लोगों को ठिठुरा दिया है। और दिनभर गलन का अहसास है। राजस्थान की राजधानी जयपुर में दाे दिन में न्यूनतम तापमान 4 डिग्री तक लुढ़का है, वहीं हवा में 87 फीसदी नमी हाेने से गलन बढ़ने से धूप भी बेअसर हाे रही है।

शीतलहर चलने से न्यूनतम के साथ अधिकतम तापमान भी गिरावट हुई है। बीती रात न्यूनतम तापमान सामान्य से 2 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड हुआ। माैसम विभाग के अनुसार पहाड़ी इलाकाें में बर्फबारी से ठंडी हवाएं चल रही हैं। इससे तापमान में 2 से 4 डिग्री तक गिरावट हो सकती है। सर्द हवाओं का दाैर अगले तीन चार दिन रहेगा। 30 जनवरी तक कड़ाके की ठंड पड़ने का अनुमान है।

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में बढ़ेगी और ठंड

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में ठंडी हवाओं के चलने का सिलसिला जारी रहा। मौसम विभाग ने कहा कि 31 जनवरी तक मौसम शुष्क रहेगा। आने वाले दिनों में रात के तापमान में और गिरावट होने की संभावना है। श्रीनगर में इस समय तापमान माइनस 5 डिग्री से नीचे चल रहा है। घाटी में लगातार बर्फबारी और कड़ाके की ठंड के बीच लोगों को काफी परेशानी हो रही है। प्रदेश में इस समय यातायात भी बाधित है।

 मप्र में घना कोहरा छाया रह सकता है

मध्यप्रदेश में सर्द हवा के कारण ठंड और बढ़ गई हैं। काेहरे से दृश्यता 600 मीटर रह गई। माैसम वैज्ञानिकाें के मुताबिक सुबह कोहरे और ठंड में और इजाफा हो सकता है। बीते दिन के तापमान में 5.3 डिग्री की गिराबट दर्ज की गई। इंदौर में न्यूनतम तापमान 4 डिग्री गिरकर 10 डिग्री पर आ गया। भिंड में पारा 4 डिग्री सेल्सियस पर पहुंचने से लोग गलन भरी सर्दी से कंप गए। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार अरब सागर से आ रही नमी के कारण घना कोहरा छाया रह सकता है।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.