Covishield Vaccine: गंभीर संक्रमण को रोकने में बेहद कारगर है दो डोज वैक्‍सीन, कोविशील्ड वैक्सीन के प्रभाव और सुरक्षा पर हुए शोध में खुलासा

कोविशील्ड वैक्सीन के प्रभाव और सुरक्षा का पता लगाने के लिए यह अध्ययन किया गया। दोनों डोज लगवा चुके 599 स्वास्थ्यकर्मियों के आंकड़ों के विश्लेषण में यह पाया गया कि पाजिटिव पाए जाने के बाद इनमें से सिर्फ 1.16 फीसद को गंभीर संक्रमण हुआ।

Ramesh MishraSun, 01 Aug 2021 07:28 PM (IST)
गंभीर संक्रमण को रोकने में बेहद कारगर है दो डोज वैक्‍सीन। फाइल फोटो।

नई दिल्ली, एजेंसी। कोरोना वायरस के गंभीर संक्रमण के खिलाफ दो डोज टीकाकरण को अत्यधिक प्रभावी पाया गया है। दो डोज टीकाकरण से मतलब ऐसे लोगों से है, जिन्होंने वैक्सीन की दोनों डोज लगवा ली है। एक नवीनतम अध्ययन में यह जानकारी सामने आई है। दिल्ली के राजीव गांधी कैंसर इंस्टीट्यूट एंड रिसर्च सेंटर (आरजीसीआइआरसी) में कोविशील्ड वैक्सीन के प्रभाव और सुरक्षा का पता लगाने के लिए यह अध्ययन किया गया था। दोनों डोज लगवा चुके 599 स्वास्थ्यकर्मियों के आंकड़ों के विश्लेषण में यह पाया गया कि पाजिटिव पाए जाने के बाद इनमें से सिर्फ 1.16 फीसद को गंभीर संक्रमण हुआ और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराने की जरूरत पड़ी।

टीकाकरण के बारे में भ्रामक जानकारियों को खत्म करना मुख्‍य मकसद

अस्पताल ने एक बयान में कहा कि इस अध्ययन का मुख्य मकसद वैक्सीन को लेकर हिचक और टीकाकरण के बारे में भ्रामक जानकारियों को खत्म करने के लिए वैक्सीन के महत्व और टीकाकरण के बाद गंभीर संक्रमण की पहचान करना था। अध्ययन के मुताबिक वैक्सीन की दोनों डोज कोरोना संक्रमण के खिलाफ 81.3 फीसद सुरक्षा प्रदान करती है, जबकि एक डोज 76.9 फीसद सुरक्षा देती है। इस अध्ययन ने इस मिथक को भी दूर किया है कि कोरोना वैरिएंट से संक्रमण दर बढ़ सकती है और वैक्सीन के प्रभाव पर प्रतिकूल असर पड़ सकता है। एक्शन एड एसोसिएशन के कार्यकारी निदेशक संदीप चाचरा ने कहा कि इस अध्ययन एक प्रमुख जानकारी यह मिली है कि दूसरी डोज लेने के सात से 14 दिन के बीच संक्रमित होने की दर मात्र दो फीसद थी। एक बार फिर यह साबित हुआ कि वैक्सीन कोरोना संक्रमण खासकर गंभीर संक्रमण को रोकने में बहुत प्रभावी है।

अगस्त में कोरोना टीकाकरण में और तेजी लाएगी सरकार

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने रविवार को कहा कि इस महीने यानी अगस्त में कोरोना टीकाकरण में और तेजी आने वाली है। उन्होंने जानकारी देते हुए कहा कि पिछले महीने यानी जुलाई में कोरोना वैक्सीन की कुल 13 करोड़ डोज दी गई थीं और इस महीने यह आंकड़ा और बढ़ने वाला है। बता दें कि तीसरी लहर के आने की संभावना को देखते हुए केंद्र सरकार काफी सतर्कता बरत रही है और इससे निपटने के लिए हर कदम उठा रही है। इसके साथ ही बार-बार लोगों से भी टीकाकरण करवाने की अपील की जा रही है।

टीके की तीन करोड़ से अधिक खुराक उपलब्ध

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को कहा कि राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों और निजी अस्पतालों के पास कोविड-19 रोधी टीके की तीन करोड़ से अधिक खुराक उपलब्ध है। मंत्रालय ने बताया कि राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों को अभी तक सभी स्रोतों से 49.49 करोड़ से अधिक खुराक उपलब्ध कराई गई हैं। इसके साथ ही 8,04,220 और खुराक मुहैया कराये जाने की प्रक्रिया में हैं। मंत्रालय ने बताया कि राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों और निजी अस्पतालों के पास अभी कोरोना वैक्सीन की 3 करोड़ डोज उपलब्ध हैं। केंद्र की तरफ से राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को अब तक कुल 49.49 करोड़ डोज मुहैया कराई गई हैं और जल्द ही इन्हें 8 लाख डोज उपलब्ध करा दी जाएंगी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.